लाडली लक्ष्मी योजना 2.0: बेटियों को कॉलेज में एडमिशन पर मिलेंगे 25 हजार रुपए

0
646
लाडली लक्ष्मी योजना 2.0 

ladli laxmi yojana 2.0: बालिका जन्म के प्रति जनता में सकारात्मक सोच, लिंग अनुपात में सुधार, बालिकाओं की शैक्षणिक स्तर तथा स्वास्थ्य की स्थिति में सुधार तथा उनके अच्छे भविष्य की आधारशिला रखने के उद्देश्य से मध्यप्रदेश में दिनाॅक 01.04.2007 से लाड़ली लक्ष्मी योजना लागू की गई ।

जानें, क्या है लाडली लक्ष्मी योजना और इससे कैसे मिलेगा लाभ:

सरकार की ओर से बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कई प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही है। इसी क्रम में पिछले दिनों मध्यप्रदेश सरकार की ओर से लाडली लक्ष्मी योजना 2.0 की शुरुआत की गई है।

इसके तहत राज्य की बेटियों को कॉलेज शिक्षा के लिए 25 हजार रुपए की सहायता प्रदान की जाएगी। इसी के साथ पढ़ाई का पूरा खर्च राज्य सरकार उठाएगी। आज हम ट्रैक्टर जंक्शन के माध्यम से मध्यप्रदेश सरकार की लाडली लक्ष्मी योजना 2.0 की जानकारी दे रहे हैं ताकि प्रदेश की बालिकाएं इस योजना से लाभान्वित हो सकें। 

लाडली लक्ष्मी योजना 2.0  क्या है?

कन्या शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने राज्य में लाल परेड ग्राउंड में राज्य स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम के दौरान सरकार लाडली लक्ष्मी योजना 2.0 को लॉन्च किया गया है। इस योजना के तहत राज्य की बेटियों को शिक्षा के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

लाडली लक्ष्मी योजना 2.0 में कितनी दी जाएगी धनराशि :

योजनान्तर्गत बालिका के नाम से, पंजीकरण के समय से लगातार पांच वर्षों तक रूपये 6-6 हजार मध्यप्रदेष लाड़ली लक्ष्मी योजना निधि में जमा किये जाऐगें अर्थात कुल राशि रूपये 30000 बालिका के नाम से जमा किये जाऐगें।

बालिका के कक्षा 6 में प्रवेश लेने पर रू.2000, कक्षा 9 वीं में प्रवेश लेने पर रू.4000, कक्षा 11 वीं में प्रवेश लेने पर रू.6000 तथा 12वीं कक्षा में प्रवेश लेने पर रू.6000 ई-पेमेंट के माध्यम से किया जावेगा।

अंतिम भुगतान रूपये 1 लाख बालिका की आयु 21 वर्ष होने पर तथा कक्षा 12 वीं परीक्षा में सम्मिलित होने पर भुगतान की जावेगी, किन्तु शर्त यह होगी कि बालिका का विवाह 18 वर्ष की आयु के पूर्व न हुआ हो।

मेडिकल कॉलेज में एडमिशन लेने वाली छात्राओं की फीस भरेगी सरकार :

प्रदेश में मेडिकल कॉलेज में पढ़ाई करने वाली छात्राओं के लिए खास ऐलान करते हुए राज्य सरकार ने कहा कि राज्य की वे छात्राएं जो मेडिकल कॉलेज में प्रवेश लेती हैं तो उनकी फीस राज्य सरकार की ओर से भरी जाएगी। इस मौके पर सरकार ने लाडली लक्ष्मी बुक का विमोचन किया और लाडली ई-संवाद एप लांन्च किया।

लाडली लक्ष्मी योजना से बेटियों को होने वाले लाभ :

लाडली लक्ष्मी योजना के तहत राज्य के बेटियों को कई लाभ दिए जाएंगे। इनमें से कुछ लाभ इस प्रकार से हैं- 

  • लाडली लक्ष्मी योजना के तहत बेटियों के नाम से, पंजीकरण के समय से लगातार पांच वर्षों तक 6-6 हजार रुपए की राशि दी जाएगी।
  • इस योजना के तहत बेटियों को कक्षा 6 में प्रवेश लेने पर करीब 2000 रुपए की राशि दी जाती है।
  • जब बेटी कक्षा 9वीं में प्रवेश लेती है तो सरकार की ओर से 4000 रुपए की राशि दी जाती है।
  • कक्षा 11वीं में प्रवेश लेने पर बेटियों को 6000 रुपए की राशि प्रदान की जाती है। 
  • वहीं कक्षा 12वीं में प्रवेश लेने पर 6000 रुपए की राशि सरकार की ओर से दी जाती है। 
  • इसके अलावा योजना के तहत अंतिम भुगतान 1 लाख रुपए बालिका की आयु 21 वर्ष होने पर तथा कक्षा 12 वीं परीक्षा में सम्मिलित होने पर भुगतान की जाएगी लेकिन शर्त यह होगी कि बालिका की शादी 18 वर्ष की आयु के पहले नहीं हुई हो।

लाडली योजना के लिए पात्रता और शर्तें :

लाडली योजना के लिए भी कुछ पात्रता और शर्तें निर्धारित की गई हैं, जो इस प्रकार से हैं- 

  • लाडली लक्ष्मी योजना का लाभ उन्हीं बेटियों को मिलेगा जिनके माता-पिता मध्य प्रदेश के मूल निवासी हैं। 
  • इस योजना का लाभ उन परिवार की बेटियों को मिलेगा जिनके माता-पिता इनकम टैक्स के दायरे में नहीं आते हो यानि आयकर दाता नहीं हो। 
  • इस योजना के तहत एक ही परिवार की कम से कम दो बेटियां को इस योजना का लाभ दिया जाएगा। 
  • द्वितीय बालिका के प्रकरण में आवेदन करने से पूर्व माता या पिता ने परिवार नियोजन अपना लिया हो तभी दूसरी बालिका को योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • यदि आपके परिवार ने किसी अनाथ बालिका को गोद लिया हो, तो भी आप उसे प्रथम बालिका मानते हुए योजना का लाभ ले सकते है पर आपके पास उस बालिका को गोद लेने का कोई प्रमाण होना चाहिए। 

लाडली लक्ष्मी योजना का उद्देश्य:

बालिका जन्म के प्रति जनता में सकारात्मक सोच, लिंग अनुपात में सुधार, बालिकाओं की शैक्षणिक स्तर तथा स्वास्थ्य की स्थिति में सुधार तथा उनके अच्छे भविष्य की आधारशिला रखने के उद्देश्य से मध्यप्रदेश में यह योजना एक अप्रैल 2007 से लाडली लक्ष्मी योजना लागू की गई थी। इस योजना का उद्देश्य बेटा और बेटी के बीच के भेदभाव को मिटाना है। 

लाडली लक्ष्मी योजना में कैसे करें आवेदन:

आवश्यक दस्तावेजों के साथ सीधे अथवा आंगनवाडी कार्यकर्ता के माध्यम से परियोजना कार्यालय/लोक सेवा केन्द्र अथवा किसी भी इंटरनेट कैफे से आवेदन/रजिस्ट्रेषन कर सकेगा। (प्रकरण स्वीकृति हेतु समस्त दस्तावेजों का परीक्षण परियोजना कार्यालय से कराया जाना होगा।

तत्पष्चात् प्रकरण स्वीकृत अथवा अस्वीकृत किया जा सकेगा।) प्रकरण स्वीकृति उपरांत बालिका के नाम से शासन की ओर से रूपये 1,18,000/- का प्रमाण पत्र जारी किया जायेगा।

लाड़ली लक्ष्मी योजना में आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज:

लाडली लक्ष्मी योजना में आवेदन के लिए आपको कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों की आवश्यकता होगी जो इस प्रकार से हैं- 

  • माता-पिता का आधार कार्ड
  • बालिका का जन्म प्रमाण-पत्र
  • माता-पिता का पहचान-पत्र
  • बैंक खाता विवरण हेतु बैंक पासबुक की कॉपी
  • माता-पिता का मूल निवास प्रमाण-पत्र
  • राशन कार्ड जिसमें माता-पिता या बालिका का नाम हो
  • माता-पिता का आय प्रमाण-पत्र 
  • माता-पिता या अभिभावक का आधार से लिंक मोबाइल नंबर
  • बालिका का पासपोर्ट साइज फोटो

लाडली लक्ष्मी योजना की अधिक जानकारी के लिए कहां करें संपर्क:

मध्यप्रदेश सरकार की बेटियों के लिए चलाई जा रही लाडली लक्ष्मी योजना की अधिक जानकारी के लिए आप इसकी आधिकारिक वेबसाइट https://ladlilaxmi.mp.gov.in/ पर जाकर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं अथावा अपने गांव के आंगनबाड़ी केंद्र पर जाकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से इसकी जानकारी ले सकते हैं।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here