मध्यप्रदेश श्रम सिद्धि योजना: प्रवासी मजदूरों के लिए शुरू की गई श्रम सिद्धि योजना

1
1559
मध्यप्रदेश श्रम सिद्धि योजना

मध्यप्रदेश श्रम सिद्धि योजना:

लॉकडाउन के चलते मजदूर वर्ग को सवसे ज्यादा नुकसान पहुंचा है | जो मजदूर शहरों में काम करते हैं, उनका काम कोरोना वायरस की वजह से ठ्प्प हो गया है, जिसकी वजह से उनकी आर्थिक दशा काफी कमजोर हो गई है, और उनके लिए जीवन आपन के लिए गुजारा करना भी मुश्किल हो रहा है | ऐसे में दूसरे राज्यों के मजदूर अपनी जान वचाने के लिए अपने –अपने घर लोट रहे हैं | उनकी इस दशा को देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार दवारा राज्य में श्रम सिद्धि योजना को शुरु किया गया है |

इस योजना के तहत राज्य में मनरेगा (MGNREGA) के जरिए मजदूरों को रोजगार मिलेगा | इस योजना को शुरु करते हुए शिवराज सिंह ने जानकारी दी है कि करीब 23 हजार से ज्यादा पंचायतों में लगभग 21 लाख मजदूरों को मनरेगा (MGNREGA) के तहत रोजगार मिला है | लाभार्थीयों को ये रोजगार जॉब कार्ड के जरिए ही मिला है | इसी वात का ध्यान रखते हुए श्रम सिद्धि अभियान के तहत अब नए मजदूरों के भी जॉब कार्ड बनाए जाएंगे, ताकि संकट के समय में उन्हें भी रोजगार उपलव्ध हो सके |

जॉब कार्ड बनाने के लिए Door-to-Door सर्वे किया जाएगा | जिसमें ग्रामीण क्षेत्र में हर व्यक्ति को कार्य दिया जाएगा | जो मजदूर अकुशल होंगे उन्हें मनरेगा (MGNREGA) में कार्य दिलाया जाएगा तथा कुशल मजदूरों को उनकी योग्‍यता के अनुसार काम दिलाया जाएगा | इसके अलावा प्रवासी मजदूरों को संबल योजना में भी शामिल किया जाएगा | जिसमें हितग्राहियों के बच्चों की पढ़ाई, बेटी की शादी, बिजली, रोजगार और अंतिम संस्कार तक का सारा खर्च सरकार दवारा उठाया जाएगा | श्रम सिद्धि योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थीयों को पंजीयन करवाना होगा, तभी वो इस योजना से जुडी सुविधाओं को प्राप्त कर सकता है |

मध्यप्रदेश श्रम सिद्धि योजना का उद्देश्य:-

श्रम सिद्धि योजना का मुख्य उद्देश्य मजदूरों को उनकी योग्यता के अनुसार राज्य सरकार दवारा काम दिलवाना है | जिससे उनकी आर्थिक दशा में सुधार हो जो कोरोना वायरस की वजह से कमजोर हो गई है, और उनके लिए जीवन यापन के लिए गुजारा करना भी आसान हो सके |

मध्यप्रदेश श्रम सिद्धि योजना

मध्यप्रदेश श्रम सिद्धि योजना के लिए पात्रता मानदंड:-

  • आवेदक को मध्य प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए
  • आवेदक को मजदूर वर्ग से सम्बंधित होना चाहिए
  • आवेदक बेरोजगार या काम की तलाश में होना चाहिए |

मध्यप्रदेश श्रम सिद्धि योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज:-

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • मनरेगा जॉब कार्ड
  • बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नम्वर |

मध्यप्रदेश श्रम सिद्धि योजना के लाभ:-

  • श्रम सिद्धि योजना का लाभ मध्य प्रदेश के मजदूर वर्ग को मिलेगा |
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थीयों के पास जॉब कार्ड होना अनिवार्य है |
  • इस योजना को मनरेगा से जोडा गया है, ताकि ज्यादा से ज्यादा लाभार्थी इस योजना का लाभ ले सकें |
  • इसके अलावा मजदूरों को संवल योजना में शामिल कर उन्हें कई प्रकार की सुविधाएं मिलेगी |
  • जिनके जॉब कार्ड नहीं वने हैं राज्य सरकार दवारा ये कार्ड वनाए जाएगें |
  • इस योजना को कोरोना संकट के समय में शुरु किया गया है, ताकि राज्य में कोई भी मजदूर वेरोजगार न हो |
  • लाभार्थीयों को उनकी योग्यता के अनुसार जॉब मिलेगी |
  • इस योजना से मजदूरों को गांव में ही रोजगार मिलेगा |
  • ये योजना लाभार्थीयों के आर्थिक पक्ष को मजबूत करती है |
  • इस योजना से राज्य में हर मजदूर के पास काम-काज होगा |
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थीयों को ग्राम पंचायत लेवल पर पंजीयन करना होगा |

मध्यप्रदेश श्रम सिद्धि योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया:-

  • श्रम सिद्धि योजना का लाभ लाभार्थी को अपने नजदीकी ग्रांम पंचायत में मिलेगा |
  • सवसे पहले लाभार्थी को इस योजना के लिए रजिस्ट्रेशन करना होगा |
  • उसके लिए लाभार्थी से रजिस्ट्रेशन फार्म भरवाया जाएगा |
  • जिसके लिए रजिस्ट्रेशन ग्राम पंचायत लेवल पर होगा |
  • जिन लोगों का पंजीयन होगा, उसके लिए तीन कैटेगरी बनाई गई है कुशल, अर्धकुशल एवं अकुशल |
  • रोजगार लाभार्थीयों के कार्य करने की प्रतिभा पर निर्भर करेगा, मतलब लाभार्थीयों को उनकी योग्यता के अनुसार जॉब मिलेगी |

1 COMMENT

  1. Mene farm bharvaya he Lekin na to koi rasid mili he or na meri qualification ke bare me pucha gaya he to Pata kese chalega ki mera ragistrasion kis category me hua he.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here