Bhavantar Bhugtan Yojana Wheat 2018-19 के लिए Farmer Registration कैसे करें ?

8
3473
Bhavantar Bhugtan Yojana Wheat 2018-19

Bhavantar Bhugtan Yojana Wheat 2018-19:-

मध्य प्रदेश सरकार ने “मुख्यमंत्री भावान्तर भुगतान योजना” के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए गेहूं के किसानों  के पंजीकरण के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं | सभी गेहूं के किसान वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए अपनी Price deficit पाने के लिए पंजीकरण फॉर्म भर सकते हैं | इच्छुक किसान “भावान्तर भुगतान योजना” की आधिकारिक वेबसाइट http://mpeuparjan.nic.in/mpeuparjan/Home.aspx पर पंजीकरण कर सकते हैं |

Related: वर्ष 2020-21 के लिए किसान पंजीयन (गेहूं) आवेदन कैसे करें

“भावान्तर भुगतान योजना” के अंतर्गत यदि गेहूं की कीमत केंद्र सरकार द्वारा तय की गई MSP से नीचे गिरती है तो राज्य सरकार गेहूं के किसानों को मुआवजा प्रदान करेगी | भावान्तर का अर्थ है भाव + अंतर (मूल्य घाटा), भावान्तर छोटे और सीमांत किसानों को लाभान्वित करने की योजना है |

इसके अलावा, पोर्टल पर Online Registration करने के लिए कोई शुल्क नहीं है | इच्छुक गेहूं के किसान भावान्तर योजना का लाभ उठाने के लिए पंजीकरण कर सकते हैं |

पंजीकरण प्रक्रिया:-

  • सर्वप्रथम आवेदक को आधिकारिक वेबसाइट http://mpeuparjan.nic.in/mpeuparjan/Home.aspx पर जाना होगा |
  • इसके बाद Homepage पर, ‘WHEAT (गेहू)’ section के तहत “गेहू 2018-19” लिंक पर क्लिक करना होगा |
  • उपरोक्त लिंक पर क्लिक करने पर एक नया page open होगा यहाँ “गेहूं 2018-19 किसान पंजीयन आवेदन करें” लिंक पर क्लिक करना होगा |
  • उपरोक्त लिंक पर क्लिक करने पर आपके सामने Wheat Procurement Monitoring System (2018-19) portal खुलेगा |
  • यहां आप 9 अंकों का “समग्र सदस्य आईडी” और “Captcha” दर्ज करें और फिर “पंजीयन करें” बटन पर क्लिक करें |
  • इसके बाद, “मुख्यमंत्री भावान्तर भुगतान योजना गेहूँ 2018-19 किसान पंजीकरण फॉर्म” नीचे दिखाए अनुसार दिखाई देंगे
  • यहां किसानों को व्यक्तिगत विवरण, बैंक खाता विवरण, भूमि विवरण आदि सभी विवरणों को सही ढंग से भरना होगा |
  • अंत में उम्मीदवार पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा करने के लिए “सुरक्षित करें (Secure)” बटन पर क्लिक करें |
  • इसके अलावा, किसान पूरे आवेदन फॉर्म का एक printout ले सकते हैं, जिसे उन्हें खरीद के समय उन्हें दिखाना पड़ेगा |

ई-उपार्जन प्रक्रिया (E-Uparjan Process):-

ई-उपार्जन प्रक्रिया 6 सरल चरणों में होती है, जिसमें खरीद, बिक्री और सामानों का परिवहन भी शामिल हैं | तदनुसार, यह प्रक्रिया सही योजना बनाने और पारदर्शिता सुनिश्चित करने की प्रक्रिया को आसान बनाएगी |

इस e-procurement process द्वारा सरकार किसानों को अनाज की खरीद में मदद करेगी | अनाज की प्राप्ति के बाद, 7 दिनों के भीतर सरकार किसानों को प्रत्यक्ष रूप से अनाज की एक रसीद और स्थानांतरण राशि किसानों के बैंक खाते में प्रदान करेगी |

8 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here