Mutual Funds क्या है? आइये इसके बारे में जानें

2
1726
Mutual Funds क्या है

Mutual Funds क्या है :-

Mutual Funds क्या है- विशेष रूप से pool of savings है अर्थात निवेशकों की बचत का एक pool है | जिसमे कई निवेशकों द्वारा योगदान होता है | इसमें common fund को equity, debt, liquid assets आदि जैसे एक या कई परिसंपत्ति वर्गों में निवेश किया जाता है | इसे ‘Mutual Fund‘ इसलिए कहा जाता है क्योंकि इस saving pool से उत्पन्न सभी जोखिम, पुरस्कार, लाभ या हानि सभी निवेशकों द्वारा उनके निवेश के योगदान के अनुपात में साझा किया जाता है |

Mutual Funds क्या है
what is mutual funds in hindi. mutual fund kya hai hindi me

संक्षेप में कहें तो Mutual Funds एक प्रायोजक के साथ एक trust है | सभी Mutual FundsSEBI (Securities Exchange Board of India) से पंजीकृत होते हैं जो फंड प्रबंधन के लिए Asset Management Company (AMC)  को मंजूरी देती हैं | AMC उन न्यासियों के दायरे के अंतर्गत आता है, जो यह सुनिश्चित करते हैं कि यह fund विनियमन का अनुपालन करता है |

Mutual Funds में निवेश करने के लाभ:-

आज के समय में Mutual Fund भारत में एक बहुत ही लोकप्रिय निवेश विकल्प बन गया हैं और बाजार में नियमित रूप से नए Funds और Schemes के आने से यह प्रवृत्ति आने वाले समय में भी निरंतर रहने वाली है | Mutual Funds में निवेश करने के कुछ मुख्य कारण निम्नानुसार हैं:-

  • व्यावसायिक प्रबंधन (Professional Management):

Mutual Funds का प्रबंधन asset management कंपनियों के Fund Managers द्वारा किया जाता है | ये Managers जोखिम को कम करने और निवेशकों को अधिकतम returns दिलवाने के लिए अपने investment expertise का उपयोग करते हैं | अक्सर वित्तीय जानकारी की कमी के कारण आम लोगों को यह तय करने में मुश्किल होती है कि वे अपनी बचत को किस संपत्ति में निवेश करें |

Mutual Funds क्या है
  • जोखिम का विविधीकरण (Diversification of risks):

चूंकि धन कई प्रतिभूतियों में निवेश किया जाता है, इसलिए जोखिम भिन्न -2 होता है | एक ही समय में सभी शेयरों के खराब प्रदर्शन की संभावना कम होती है | कुछ शेयरों पर होने वाले नुकसान की भरपाई दूसरे शेयरों पर हुए लाभ से हो जाती है | इससे जोखिम को कम किया जाता है |

  • सस्ते निवेश विकल्प (Affordable investment option):

जिन लोगों के पास उन Direct equity या अन्य instruments में निवेश करने के लिए पर्याप्त मात्रा में राशि नहीं है, जिनमें शुरुआत में बहुत अधिक निवेश की आवश्यकता होती है, उन्हें Mutual Fund एक सस्ता निवेश विकल्प प्रदान करता है | इसके अलावा, लेन-देन की लागत भी कई निवेशकों द्वारा साझा की जाती है जिससे व्यक्तिगत लागत में भी कमी आती है |

  • केंद्रित निवेश (Focused Investment):

सभी Mutual Fund योजनाओं को स्पष्ट रूप से निर्दिष्ट करते हैं ताकि निवेशकों को आसानी से समझ में आ सके कि किन assets को निवेश के लिए लक्षित किया गया हैं, Mutual Funds निवेशकों को एक संगठित और केंद्रित तरीके से अलग-2 assets वर्गों को बचत निर्देशित करने की इजाजत देता है | Mutual Funds निवेशकों को कुछ assets के लिए access प्रदान करता है और कुछ assets जैसे foreign sectors या foreign securities जिन पर व्यक्तिगत रूप से निवेश नहीं किया जा सकता है उन के लिए access प्रदान नहीं करते है |

  • Assets चुनने का विकल्प:

आम तौर पर निवेशक विस्तृत प्रकार के funds पसंद करते हैं | निवेशकों कि पसंद के मुताबिक़ Mutual Fund में
विभिन्न प्रकार के funds उपलब्ध हैं जैसे equity funds, debt funds, money market funds, hybrid funds, sector funds, regional funds, fund of funds, index funds |

  • आसान खरीद और बेच (Easy purchase and redemption):

Fund Units को आसानी से खरीदा जा सकता है और मौजूदा Unit rate पर बेचा जा सकता है | जब तक Lock-in-period नहीं होता है, तब तक निवेशकों के लिए एक fund को खरीदना और बेचना आसान होता है जिससे उन्हें liquidity उपलब्ध होती है |

  • कर लाभ (Tax Benefits) :

ELSS (Equity Linked Saving Schemes) और ऐसी ही अन्य कई fund/ schemes को Tax-savings instrument के रूप में कार्य करने के लिए design किया गया है | इन योजनाओं में किए गए निवेश Income Tax deductions के लिए योग्य हैं |

  • High Returns:

Medium और Long-term निवेश पर Mutual Funds अच्छा return देने के लिए ही जाने जाते हैं क्योंकि निवेशक समग्र रिटर्न में जोखिम को साझा करते हैं|

  • Regulated investments:

वे सभी fund जो SEBI (Securities Exchange Board of India) के दायरे में आते हैं यह सुनिश्चित करते हैं कि वे नियमों के मुताबिक लेन-देन कर रहे हैं | इससे निवेशकों को उनके द्वारा किए गए निवेशों के लिए एक safety element प्रदान होता है  |

  • Track करना आसान:

आम तौर पर निवेशकों के लिए नियमित रूप से अपने investment portfolios की समीक्षा करना कठिन होता है | Mutual Funds सभी investments के स्पष्ट बयान देते हैं  जिससे निवेशकों को अपने investment portfolios की समीक्षा करना आसान हो जाता है | Hybrid या balanced Funds निवेशकों को equity और debt. funds दोनों में से एक का उपयोग करने का एक अवसर प्रदान करते हैं |

  • SIP Options:

Systematic Investment Plans (SIP) ने लोगों को नियमित आधार पर थोड़ी मात्रा में निवेश कर औसत लागत का लाभ उठाने की अनुमति दी है | यह उन लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प है जो एकमुश्त राशि का निवेश नहीं कर सकते हैं | Mutual Fund में आप शुरुआती निवेश कम से कम 500/- रुपये के रूप में कर सकते हैं |

  • Flexibility:

Mutual Funds क्या है- कई Funds निवेशकों को योजनाओं या fund के बीच switch करने की flexibility प्रदान करते हैं ताकि निवेशकों को बेहतर रिटर्न के लाभ मिल सके |

तो अब आपको समझ में आगया होगा की Mutual Funds क्या है, या Mutual Funds क्या होता है, अगर आपको कोई चीज़ समझ में नहीं आरही हो या आप हमसे कुछ पूछना चाहते हों, तो निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here