उत्तराखंड मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना 2020 की घोषणा की गई

0
545

उत्तराखंड मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना (Uttarakhand Mukhyamantri Anchal Amrit Yojana):-

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने 13 मार्च 2020 को देहरादून में मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना (Mukhyamantri Anchal Amrit Yojana) की शुरुआत की है | इस योजना के तहत, सरकार मिड डे मील योजना के तहत पहली से आठवीं कक्षा में पढ़ने वाले बच्चों को सप्ताह में एक बार पौष्टिक दूध दिया जाएगा | आंगनवाड़ी स्कूलों में पढ़ने वाले लगभग 1,72,000 बच्चों को एक सप्ताह में 4 बार दूध दिया जा रहा है | अब 17,045 स्कूलों के 6,90,000 बच्चों को भी सप्ताह में एक बार दूध दिया जाएगा |

इस पहल के माध्यम से बच्चों को उचित पोषण मिलेगा जिससे कुपोषण के खतरे को रोकने में मदद मिलेगी | उत्तराखंड राज्य में लगभग 20,000 आंगनवाड़ी केंद्र हैं और इन केंद्रों पर बच्चों को सुगंधित, मीठा और स्किम्ड मिल्क पाउडर दिया जाता है | उत्तराखंड में 3 से 6 वर्ष की आयु के बच्चों को मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना (Mukhyamantri Anchal Amrit Yojana) के तहत मुफ्त दूध दिया जा रहा है |

अब कक्षा 1 से 8 के छात्रों को भी यह पौष्टिक दूध मिलेगा | इस सहकारिता अभियान से, आने वाले वर्षों में आंगनवाड़ी केंद्रों में पढ़ रहे कुपोषित बच्चों को उचित पोषण प्रदान किया जाएगा |

उत्तराखंड मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना की मुख्य विशेषताएं:-

  • उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने 13 मार्च 2020 को देहरादून में मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना (Mukhyamantri Anchal Amrit Yojana) की शुरुआत की |
  • आंगनवाड़ी केंद्रों पर एक सप्ताह में 4 बार बच्चों को मुफ्त दूध दिया जाता है | अब 1 से 8 वीं कक्षा के छात्रों को भी मिड डे मील योजना के तहत पौष्टिक दूध मिलेगा |
  • राज्य भर में लगभग 20,000 आंगनवाड़ी केंद्रों पर लगभग 1.72 लाख बच्चों को 100 मिलीलीटर मुफ्त दूध दिया जा रहा है | अब 17,045 स्कूलों के 6.9 बच्चों को भी सप्ताह में एक बार पौष्टिक दूध मिलेगा |
  • मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना (Mukhyamantri Anchal Amrit Yojana) के तहत बच्चों के लिए सुगंधित, मीठा, स्किम्ड मिल्क पाउडर उपलब्ध कराया जाएगा |
  • इस योजना का प्राथमिक फोकस यह सुनिश्चित करना है कि राज्य में स्वस्थ बच्चे हैं जो देश के भविष्य को स्वस्थ और सुरक्षित बनाने के लिए आवश्यक हैं |

महिला सशक्तीकरण और बाल विकास मंत्रालय ने इस योजना को राज्य में कुपोषण से लड़ने के लिए एक बड़ा कदम करार दिया है | राज्य में 18,000 बच्चे हैं जो कुपोषण से पीड़ित हैं, इसलिए मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना (Mukhyamantri Anchal Amrit Yojana) शुरू करने की आवश्यकता महसूस की गई है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here