MP: मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना 2022 ऑनलाइन फॉर्म, पात्रता व लाभ

1
886
मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना 2022

मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना का मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल स्थित कूशाभाउ ठाकरे कन्वेंशन सेंटर से शुभारंभ किया। उन्होंने योजना की मार्गदर्शिका का विमोचन भी किया। अलीराजपुर में कार्यक्रम को कलेक्टोरेट स्थित ऑडिटोरियम में वर्चुअली देखा और सुना गया।

जिला स्तरीय कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष अनीता चौहान, कलेक्टर राघवेन्द्र सिंह, विधायक प्रतिनिधि र्खुाीद अली दीवान मौजूद रहे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना के हितग्राहियों को स्वीकृति पत्र प्रदान किए गए।

जिला पंचायत अध्यक्ष चौहान, कलेक्टर सिंह ने युवाओं से योजना का लाभ लेकर अपना रोजगार स्थापित करते हुए अन्य को रोजगार प्रदान करने की सकारात्मक पहल का आह्वान किया। कार्यक्रम में जीएमडीआईसी कवछे, सोलंकी सहित उद्योग एवं व्यापार केन्द्र के अधिकारी-कर्मचारीगण एवं योजना से जुडे युवा उपस्थित थे।

मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा राज्य के नागरिको को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए विभिन प्रकार की योजनाओ का संचालन किया जाता है। ऐसी ही एक योजना से संबंधित जानकारी आपको प्रदान करने जा रहे है। जिसका नाम मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना है।

इस योजना को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा शुरु किया गया है। इस योजना के माध्यम से राज्य के सभी नागरिको ऋण उपलब्ध करवाया जायेगा। आपको हमारे इस आर्टिकल में इस योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होगी।

जैसे – मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना क्या है ?, लाभ , उद्देश्य , विशेषताएं, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि। यदि आप भी इस मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना से संबंधित संपूर्ण जानकारी को प्राप्त करना चाहते हो तो आपसे निवेदन है की आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े।

मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना 2022:

मध्य प्रदे के मुख्यमंत्री ने नागरोदय मिशन के उद्घाटन समारोह के अवसर पर मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना की घोषणा की है। इस योजना के अंतगर्त राज्य सरकार राज्य के नागरिको को रोजगार के अवसर देगी। 

मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना 2022 के अंतगर्त राज्य सरकार द्वारा राज्य के नागरिको और युवतियों को अपना रोजगार शुरू करने के लिए बैंकों द्वारा लोन प्रदान किया जाएगा। इतना ही नहीं सरकार नागरिको को ऋण पर ब्याज दर में सब्सिडी भी देगी| इस योजना के अंतर्गत प्रदान किए गाए ऋण की गारंटी सरकार द्वारा बैंक को प्रदान की जाएगी।

जिसका तात्पर्य यह है कि लाभार्थी को कोई भी गारंटी ऋण प्राप्त करने के लिए बैंक को नहीं देनी होगी। मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना 2022 के माध्यम से मध्य प्रदेश के नागरिक बैंको से सरकार की गयारण्टी में लोन लेकर अपना स्वयं का रोजगार स्थापित कर सकते हैं और साथ ही दुसरो को भी रोजगार के अवसर प्रदान कर सकते हैं |

5 अप्रैल को किया गया मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना का शुभारम्भ :

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय श्री शिवराज सिंह चौहान जी द्वारा 5 अप्रैल को दोपहर 1 बजे मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना का शुभारम्भ कुशाभाऊ ठाकरे इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर में किया गया |

यह योजना सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग द्वारा क्रियान्वित है, जिसके अंतर्गत चालू वित्त वर्ष में राज्य के एक लाख युवाओं को लाभान्वित करने का लक्ष्य रखा गया है। सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री श्री ओमप्रकाश सखलेचा के द्वारा यह जानकारी दी गयी है कि इस योजना का उद्देश्य प्रदेश के शिक्षित युवाओं को बैंकों के माध्यम से स्वयं का उद्यम/स्वरोजगार स्थापित करने हेतु संपार्श्विक मुक्त ऋण प्रदान करना है।

इस योजना के तहत ब्याज अनुदान सहायता के माध्यम से ऋण लागत को कम करके परियोजना की व्यवहार्यता को बढ़ावा दिया जायेगा जिससे राज्य में अधिक से अधिक सूक्ष्म उद्यम स्थापित किए जा सकें।

मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना 2022 हाइलाइट्स :

योजना का नाममध्य प्रदेश मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना
किस ने लांच कीमध्यप्रदेश सरकार
लाभार्थीमध्य प्रदेश के नागरिक
उद्देश्यस्वरोजगार के लिए प्रदेश के नागरिकों को प्रोत्साहित करना
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च की जाएगी
साल2022
योजना आरंभ होने की तिथि13 मार्च 2021
आवेदन का प्रकारऑनलाइन

नवीन उद्यम स्थापित करने वाले उद्यमियों को मिलेगा इस योजना का लाभ :

 मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना के अंतर्गत प्रदेश के विनिर्माण इकाई और उद्यम स्थापित करने वाले युवाओं को 1 लाख रुपये से लेकर 50 लाख रुपये एवं सेवा क्षेत्र हेतु 1 लाख रुपये से 25 लाख रुपये तक की धनराशि का ऋण वित्तीय सहायता के रूप में मुहैया करायी जाएगी। राज्य सरकार की इस योजना का लाभ केवल नए उद्यम स्थापित करने वाले नागरिकों को ही प्रदान किया जाएगा। मध्य प्रदेश राज्य सरकार द्वारा आरम्भ की गयी इस योजना के अंतर्गत केवल ऐसे आवेदक ही पात्र होंगे जो केंद्र एवं राज्य सरकार की किसी अन्य स्वरोजगार योजना का लाभ प्राप्त न कर रहे हो। इसके साथ ही प्रदान की जाने वाली ब्याज अनुदान की प्रतिपूर्ति वार्षिक अवधि के आधार पर की जाएगी। इस योजना का कार्यान्वयन सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विभाग द्वारा किया जाएगा, जिसके अंतर्गत गारंटी फीस प्रचलित दर से अधिकतम 7 वर्षों तक मोरटोरियम अवधि सहित उपलब्ध की जाएगी।

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना का उद्देश्य :

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश के शिक्षित बेरोजगारों को स्वरोजर के लिए प्रोत्साहित करना है। इस योजना के माध्यम से मध्य प्रदेश के नागरिको बिना किसी गारंटी के बेरोज़गार युवाओ को लोन मुहैया करवाया जायेगा। जिसके माध्यम से वह अपना खुद का स्वरोजगार स्थापित कर सके। सरकार के द्वारा इस ऋण पर ब्याज  सब्सिडी प्रदान की जाएगी। इस योजना के माध्यम से प्रदेश की बेरोज़गारी दर में भी गिरावट आएगी इसी के साथ प्रदेश के नागरिक आत्मनिर्भर एवं सशक्त बनेंगे। इस योजना के माध्यम से प्रदेश में रोज़गार के अवसरों में बढ़ोतरी होगी। जिसके माध्यम से बेरोज़गारी दर में भी गिरावट आएगी। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए राज्य के सभी नागरिको को आवेदन करना होगा।

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना के लाभ एवं विशेषताएं :

  1. मध्य प्रदेश के बेरोजगार शिक्षित बेरोजगार  ही केवल इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते है।
  2. मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना के माध्यम से प्रदेश के बेरोज़गार युवाओ को अपना खुद का उद्यम स्थापित करने के लिए ऋण उपलब्ध करवाया जायेगा |
  3. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी के इस योजना को शुरु किया गया है।
  4. 13 मार्च 2021 को नगरोदय मिशन के उद्घाटन समारोह में इस योजना का शुभराम किया गया था।
  5. सरकार के द्वारा प्रदान की जाने वाले इस  ऋण पर किसी गारंटी देने की आवश्यक नहीं है।
  6. मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना के अंतर्गत लाभार्थी को ऋण पर सब्सिडी भी प्रदान की जाएगी।

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना की पात्रता :

(1) 18 से 40 वर्ष तक की उम्र के सभी लोग।
(2) आवेदक का 12वीं पास होना चाहिए।
(3) परिवार (यदि आवेदक अविवाहित है, तो उसके माता-पिता सहित या विवाहित होने पर पति, पत्नी की आय) की सालाना आय 12 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए।
(4) आवेदक का परिवार यदि आयकर दाता है, तो उसे पिछले तीन साल की इनकम टैक्स रिटर्न की जानकारी देनी होगी।
(5) आवेदक किसी बैंक अथवा वित्तीय संस्था से डिफॉल्टर ना हो।
(6) वर्तमान में राज्य या केंद्र सरकार की किसी अन्य स्वरोजगार योजना का लाभ नहीं ले रहा है।

मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना के महत्वपूर्ण दस्तावेज:

  • आधार कार्ड
  • बैंक पासबुक की प्रति
  • निवास प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • पहचान पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया:

  • आवेदक को सर्वप्रथम मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना 2022
  • अब आपके सामने एक होम पेज खुल जायेगा।
  • इस होम पेज पर आपको आवेदन करे के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना
  • आपके समने फिर एक नया पेज खुल जायेगा।
  • आपको इस पेज पर अपना यूजर नाम जन्मतिथि, लिंग, संबंध, संबंधित का नाम, वर्ग, मोबाइल नंबर, ईमेल एवं कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको प्रोफाइल बनाये के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अपना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर तथा डेट ऑफ बर्थ दर्ज करके लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • आप अब मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना के विकल्प पर क्लिक करेंगे।
  • आपकी स्क्रीन पर आवेदन फॉर्म खुल जायेगा।
  • आपको इसमें आपसे पूछी गई जानकारी को दर्ज करना होगा।
  • आपको अब अपने आवश्यक दस्तावेज को आत्ताच करना होगा।
  • आप अब सबमिट के बटन पर क्लिक करेंगे।
  • इस प्रकार से आप मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकेंगे।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न :

1. इस योजना को क्यों शुरू किया गया?

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना एवं मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना को समाप्त कर युवाओं को खुद के उद्योग, सेवा या व्यवसाय स्थापित करने के लिए प्रेरित करने हेतु मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना शुरू की गई। यह योजना सिर्फ नए उद्यमों की स्थापना के लिए लागू की गई।

2. योजना का संचालन कौन सा विभाग कर रहा है?

मप्र सरकार का सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विभाग।

3. इस योजना से कितने रुपए तक का लोन मिल सकता है?

(1) इंडस्ट्री यूनिट शुरू करने के लिए 1 लाख से 50 लाख तक का लोन मिल सकेगा।
(2) सर्विस यूनिट और रिटेल बिजनेस के लिए 1 लाख से 25 लाख तक लोन मिल सकेगा।

4. आवेदन करने की शर्तें क्या-क्या हैं?

1) 18 से 40 वर्ष तक की उम्र के सभी लोग।
(2) आवेदक का 12वीं पास होना चाहिए।
(3) परिवार (यदि आवेदक अविवाहित है, तो उसके माता-पिता सहित या विवाहित होने पर पति, पत्नी की आय) की सालाना आय 12 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए।
(4) आवेदक का परिवार यदि आयकर दाता है, तो उसे पिछले तीन साल की इनकम टैक्स रिटर्न की जानकारी देनी होगी।
(5) आवेदक किसी बैंक अथवा वित्तीय संस्था से डिफॉल्टर ना हो।
(6) वर्तमान में राज्य या केंद्र सरकार की किसी अन्य स्वरोजगार योजना का लाभ नहीं ले रहा है।

5. क्या इसमें ट्रेनिंग भी दी जाएगी?

योजना के तहत ट्रेनिंग के इच्छुक हितग्राहियों को 12 दिनों की एंटरप्रेन्योरशिप डेवपलमेंट ट्रेनिंग ऑनलाइन माध्यम से दी जाएगी।

6. किन प्रोजेक्ट के लिए आवेदन कर सकते हैं?

मैन्युफैक्चरिंग यूनिट, सर्विस व व्यवसाय क्षेत्र के सभी प्रोजेक्ट जो क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट फॉर माइक्रो एंड स्मॉल इंटरप्राइजेस (CGTMSE) के अंतर्गत लोन गारंटी के लिए पात्र हैं।

7. किन बैंकों से मिल सकेगा लोन?

पब्लिक, प्राइवेट सेक्टर बैंक अथवा क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक जो CGTMSE में रजिस्टर्ड मेंबर लीडिंग इंस्टीट्यूशनल हैं।

8. लोन लेने वाले युवाओं को सरकार से वित्तीय सहायता मिलेगी?

ऋण लेने वाले युवाओं को 3 प्रतिशत ब्याज की सब्सिडी दी जाएगी। ब्याज अनुदान 7 वर्षों तक मिलेगा। ब्याज अनुदान की राशि रिएम्बर्समेंट के रूप में सालाना आधार पर दी जाएगी। योजना में युवाओं को बैंक गारंटी नहीं देनी होगी। सरकार युवाओं की ओर से गारंटी लेगी। इसके लिए 140 करोड़ रुपए की राशि राज्य सरकार बैंकों में जमा करेगी। बैंक द्वारा कोलेटरल सिक्योरिटी की मांग आवेदक से नहीं की जाएगी।

9. आवेदन कैसे करना होगा?

आवेदन ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से सहपत्रों सहित प्राप्त आवेदन, पात्रता आदि का परीक्षण करने के बाद सक्षम विभागीय अधिकारी द्वारा संबंधित बैंक शाखा को भेजा जाएगा। RBI की गाइडलाइन के अनुसार 6 सप्ताह में आवेदन पर निर्णय लिया जाएगा। आवेदन कंप्लीट नहीं है, तो आवेदक को कारण सहित जानकारी दी जाएगी। इसे सुधारकर दोबारा बैंक, जिला व्यापार एवं उद्योग केंद्र को भेजना होगा।

10. यदि कोई बैंक आवेदन को रिजेक्ट कर दे तो क्या करें?

एक बैंक द्वारा आवेदन रिजेक्ट कर दिया जाए, तो आवेदक अन्य किसी बैंक में आवेदन कर सकता है।

11. आवेदन के साथ क्या प्रोजेक्ट रिपोर्ट भी देनी होगी?

जी हां, आवेदक द्वारा प्रस्तावित 10 लाख रुपए से कम के प्रोजेक्ट के लिए सिंपल प्रोजेक्ट रिपोर्ट और 10 लाख रुपए से अधिक के प्रोजेक्ट के लिए डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट आवेदन के साथ देनी होगी। आवेदन एक वित्तीय वर्ष के लिए मान्य होगा। आगामी वित्तीय वर्ष के लिए आवेदक को नया आवेदन करना होगा।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here