MP BOARD: MP बोर्ड ने कठिन सवालों से लेकर एग्जाम की समस्याओं के लिए टोल फ्री नंबर जारी किया|

0
751
MP Board Toll Free Number

एमपी बोर्ड की परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए काम की खबर है। माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 2022 में 9वीं से 12वीं तक की क्लास के स्टूडेंट्स के लिए टोल फ्री नंबर जारी किया है। छात्रों से लेकर पेरेंट्स और टीचर्स इस टोल फ्री नंबर 18002330175 पर परीक्षाओं व मंडल से संबंधित सवाल पूछ सकते हैं। इसके लिए मंडल के 120 से ज्यादा सब्जेक्ट एक्सपर्ट पूछे गए सवालों के जवाब देंगे। हेल्पलाइन से प्रदेश के हाई स्कूल एवं हायर सेकंडरी परीक्षाओं के संबंध में भी जानकारी ली जा सकती है।

MP Board Toll Free Number

एमपी बोर्ड के निदेशक डॉक्टर हेमंत शर्मा ने बताया कि 2022 में होने वाली वार्षिक परीक्षाओं के लिए हेल्पलाइन सेवा शुरू की गई है। इस नंबर पर विद्यार्थियों के अलावा शिक्षक एवं विद्यार्थियों के पेरेंट्स भी बातचीत कर सकते हैं। बोर्ड परीक्षाओं एवं माध्यमिक शिक्षा मंडल से संबंधित सभी प्रकार के प्रश्न किए जा सकते हैं। कोरोना संक्रमण के कारण पढ़ाई व एग्जाम प्रभावित हो रही है। ऐसे में हेल्पलाइन नंबर सभी के लिए उपयोगी साबित होगा।

MP Board 10th, 12th Exam 2022 –10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं को देखते हुए माध्यमिक शिक्षा मंडल ने एक हेल्पलाइन सेवा की शुरुआत की है। यह सेवा सुबह 8 से रात 8 बजे तक चालू रहेगी। हेल्पलाइन नंबर की मदद से बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों के साथ ही पालकों व शिक्षकों को भी सभी प्रकार की जानकारियां मिल सकेंगी। टोल फ्री नंबर 18002330175 पर काल करके छात्रों को पढ़ाई के संबंध में मदद मिल सकेगी।

18 काउंसलर व 120 से अधिक विषय विशेषज्ञ होंगे:

मंडल ने तीन शिफ्ट में 6-6 काउंसलर को रखा है। काउंसिलिंग के लिए 18 काउंसलर, मनोवैज्ञानिक होंगे। साथ ही, 120 से अधिक विषय विशेषज्ञों की सूची तैयार की गई है। स्टूडेंट्स इस पर विषय से संबंधित प्रश्न भी पूछ सकते हैं। छात्रों की शैक्षणिक समस्या, मानसिक तनाव से संबंधित किसी भी तरह के प्रश्न हेल्पलाइन नंबर पर पूछे जा सकते हैं।

वर्ष 2021 में डेढ़ लाख बच्चों ने कॉल किए:

इस साल करीब डेढ़ लाख बच्चों ने फोन किए। सभी की काउंसिलिंग की गई। सबसे ज्यादा प्रश्न दसवीं और 12वीं के बच्चों के प्रोजेक्ट से संबंधित पूछे जा रहे हैं। साथ ही, प्रैक्टिकल की जानकारी भी ली जा रही है। इनमें ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यार्थियों के सबसे ज्यादा कॉल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here