मध्य प्रदेश में 1 जुलाई से शुरू होगा ‘किल कोरोना अभियान’ |

0
2105
मध्य प्रदेश किल कोरोना अभियान
Madhya Pradesh Kill Corona Campaign

मध्य प्रदेश किल कोरोना अभियान (Kill Corona Campaign):-

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में एक जुलाई से ‘मध्य प्रदेश किल कोरोना अभियान (Kill Corona Campaign)‘ चलाया जाएगा | भोपाल से अभियान की शुरुआत की जाएगी | प्रदेश के सभी जिलों में वायरस नियंत्रण और स्वास्थ्य जागरूकता के इस अभियान में सरकार और समाज साथ-साथ कार्य करेंगे | किल कोरोना अभियान (Kill Corona Campaign) प्रत्येक परिवार को कवर करेगा | इसके लिए दल गठित किए जा रहे हैं | कोविड मित्र भी बनाए जाएंगे, जो स्वैच्छिक रूप से इस अभियान के लिये कार्य करेंगे |

पूरे राज्य में स्वास्थ्य विभाग की 10,000 टीमें हर दिन 10,00,000 परिवारों का सर्वे करेंगी | मुख्यमंत्री ने आज कमिश्नर-कलेक्टर की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में निर्देश दिए कि वे इस अभियान के लिए आवश्यक तैयारियां शुरू कर दें | मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि जिलों और संभागों में IG और Commissioners भी कोरोना नियंत्रण पर निगाह रखें |

उन्होंने कहा कि प्रदेश के करीब 14,000 महिला और पुरुष स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं पर सर्वे कार्य की अहम जिम्मेदारी रहेगी | कॉन्फ्रेंस में स्वास्थ्य और गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मोहम्मद सुलेमान, प्रमुख सचिव फैज अहमद किदवई और अन्य अधिकारी उपस्थित थे |

डोर-टू-डोर सर्वे:- मध्य प्रदेश किल कोरोना अभियान

मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश को कोरोना के नियंत्रण में अन्य राज्यों की तुलना में सफलता भी मिली है | लेकिन, सजगता का स्तर बना रहे और सभी आवश्यक उपायों को अपनाते रहें, यह बहुत आवश्यक है | उन्होंने कहा कि जिलों में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्यों के साथ ही सभी का सहयोग लेते हुए अभियान को गति दी जाए | मध्यप्रदेश में growth rate और active cases की संख्या कम है | मध्यप्रदेश 76.1 प्रतिशत रिकवरी रेट के साथ देश में दूसरे क्रम पर है |

मध्य प्रदेश किल कोरोना अभियान

आमजन भी बने सहयोगी:-

मुख्यमंत्री ने आमजन से भी अपील की है कि ‘मध्य प्रदेश किल कोरोना अभियान (Kill Corona Campaign)‘ में अपना सहयोग प्रदान करें | घर-घर पहुंच रहे सर्वे दल को आवश्यक जानकारी देकर सहयोग करें | इस सर्वे में महिला और पुरुष स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता शामिल रहेंगे | सर्दी-खांसी जुकाम के साथ ही डेंगू, मलेरिया, डायरिया आदि के लक्षण पाये जाने पर भी जरूरी परामर्श और उपचार नागरिकों को मिल सकेगा | Sarthak App का उपयोग कर इन जानकारियों की प्रविष्टि की जाएगी | कुल 10000 दल कार्य करेंगे। सर्वे दल अनुमानित दस लाख घरों में रोज जाएंगे | एक दल करीब 100 घरों तक पहुंचेगा |

समुदाय आधारित प्रयासों पर होगा अमल:-

कॉन्फ्रेंस में स्वास्थ्य मिशन की प्रबंध संचालक छवि भारद्वाज ने प्रजेंटेंशन में बताया कि Sarthak App की उपयोगिता बढ़ रही है | प्रदेश के नागरिकों के स्वास्थ्य सर्वे में यह एप महत्वपूर्ण सिद्ध होगा | कोविड मित्र की महत्वपूर्ण भूमिका होगी | समुदाय आधारित प्रयासों से सर्विलेंस आसान होगा | जिला प्रशासन ऐसे स्वैच्छिक कार्यकर्ताओं को शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड मित्र का दायित्व दे सकता है, जो 45 वर्ष की आयु से कम हों | इस कार्य में स्वैच्छिक संगठन भी जुड़ेंगे |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here