26 नवंबर 2019 – भारत अपना 70वां संविधान दिवस मनाएगा ऐसे बना था भारत का संविधान

0
2056
संविधान दिवस क्यों मनाया जाता है
संविधान दिवस क्यों मनाया जाता है

भारत संविधान दिवस (Constitution day):-

भारत आज 26 नवंबर 2019 को अपना 70वां संविधान दिवस (Constitution day) मना रहा है | आज से 70 साल पहले सरकार ने 26 नवंबर 1949 को भारत के संविधान को अपनाया था | भारत में भारत संविधान दिवस को राष्ट्रीय विधि दिवस (या समिधा दिवस) के रूप में भी मनाया जाता है | बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर को भारत का संविधान निर्माता कहा जाता है | वे संविधान मसौदा समिति के अध्यक्ष थे और उन्हें संविधान का फाइनल ड्राफ्ट तैयार करने में 2 साल 11 महीने और 17 दिन लगे |

इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य संविधान निर्माता बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के अथक प्रयासों को देशभर में प्रसारित करना है | दुनिया भर के तमाम संविधानों को बारीकी से परखने के बाद बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर ने भारतीय संविधान का मसौदा तैयार किया था | इसके पश्चात 26 नवंबर 1949 को इसे भारतीय संविधान सभा के समक्ष लाया गया | इसी दिन भारत की संविधान सभा ने औपचारिक रूप से भारत के संविधान को अपना लिया और यह 26 जनवरी, 1950 को लागू हुआ |

विश्व का सबसे बड़ा संविधान :-

यह दुनिया के सभी संविधानों को परखने के बाद बनाया गया | इसे विश्व का सबसे बड़ा संविधान माना जाता है, जिसमें 448 अनुच्छेद, 12 अनुसूचियां और 94 संशोधन शामिल हैं | यह हस्तलिखित संविधान है जिसमें 48 आर्टिकल हैं | इसे तैयार करने में 2 साल 11 महीने और 17 दिन का वक्त लगा था |

29 अगस्त 1947 को भारत के संविधान का मसौदा तैयार करनेवाली समिति की स्थापना की गई थी और इसके अध्यक्ष के तौर पर डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की नियुक्ति हुई थी | मसौदा लिखने वाली समिति ने संविधान हिंदी, अंग्रेजी में हाथ से लिखकर कैलिग्राफ किया था और इसमें कोई टाइपिंग या प्रिंटिंग शामिल नहीं थी |

भारत संविधान दिवस

भारत संविधान दिवस के सदस्य:-

1934 में, संविधान सभा की मांग की गई थी | इस विचार को सबसे पहले एम.एन. कम्युनिस्ट पार्टी के नेता, रॉय ने रखा था | यह कांग्रेस पार्टी द्वारा लिया गया था और अंत में, 1940 में, ब्रिटिश सरकार द्वारा मांग को स्वीकार कर लिया गया था |

संविधान सभा के सदस्यों का पहला सेशन 9 दिसंबर 1947 को आयोजित हुआ | इसमें संविधान सभा के 207 सदस्य थे |संविधान सभा के सदस्य भारत के राज्यों की सभाओं के निर्वाचित सदस्यों के द्वारा चुने गए थे | जवाहरलाल नेहर, डॉ. भीमराव अंबेडकर, डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, मौलाना अबुल कलाम आजाद आदि इस सभा के प्रमुख सदस्य थे | संविधान सभा के 284 सदस्यों ने 24 जनवरी 1950 को दस्तावेज पर हस्ताक्षप किए |

भारतीय संविधान में शामिल महत्वपूर्ण बातें:-

  • यह लिखित और विस्तृत है |
  • मौलिक अधिकार प्रदान किया गया है |
  • न्यायपालिका की स्वतंत्रता, यात्रा, रहने, भाषण, धर्म, शिक्षा आदि की स्वतंत्रता |
  • एकल राष्ट्रीयता |
  • भारतीय संविधान लचीला और गैर लचीला दोनों है |
  • राष्ट्रीय स्तर पर जाति व्यवस्था का उन्मूलन |
  • समान नागरिक संहिता और आधिकारिक भाषाएं |
  • केंद्र एक बौद्ध ‘गणराज्य’ के समान है |
  • बुद्ध और बौद्ध अनुष्ठान का प्रभाव |
  • भारतीय संविधान अधिनियम में आने के बाद, भारत में महिलाओं को मतदान का अधिकार मिला है |
  • दुनिया भर में विभिन्न देशों ने भारतीय संविधान को अपनाया है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here