चुनाव आयोग ने लॉन्च की Voter Turnout ऐप, जानें कैसे करें इस्तेमाल

0
900
Voter turnout

Voter Turnout ऐप कैसे करें इस्तेमाल

चुनाव आयोग (इलेक्शन कमीशन ऑफ़ इंडिया ) ने लोकसभा चुनावों के दौरान मतदाताओं के लिए एक नई ऐप “Voter Turnout” लॉन्च किआ है। यह ऐप देशभर में मतदाता उपस्थिति का रियलटाइम उपलब्ध कराएगी। इस ऐप के जरिए लोकसभा चुनाव के दौरान राज्यवार और संसदीय क्षेत्रवार तरीके से मतदाता उपस्थिति को देखा जा सकता है।

चुनाव के दिन विभिन्न दौरों के लिए चरण वार मतदान के प्रतिशत को प्रदर्शित करने के लिए ECI (Election Comission of India) ने एक एप्लिकेशन यानि वोटर टर्नआउट ऐप विकसित करके एक नई पहल की शुरुआत की है। इस एप्लिकेशन को ECI द्वारा प्रकाशित प्रामाणिक आंकड़ों को देखने के लिए सार्वजनिक किया गया है, और ये “Google play Store” में भी मौजूद है, जिसे आप डाउनलोड भी कर सकते है।

इस ऐप के जरिए यूजर्स हर राज्य के लिए अनुमानित मतदाता दिखाने के अलावा किसी भी राज्य के विभिन्न संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों में मतदाता की जानकारी भी उपलब्ध कराएगी। इसके अलावा यह ऐप विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के स्तर पर मतदान को भी दर्शाता है।

Voter Turnout का इस्तेमाल कैसे करे?

सबसे पहले आप Google Play Store पर जाकर इसे डाउनलोड करें। ऐप इंस्टॉल होने के बाद ऐप को ओपन करें। इसमें सबसे पहला पेज जो ओपन होगा उसमें आपको एस्टीमेंटेड वोटर टर्नआउट (Estimated Voter Turnout) दिखाई देगी। इसमें स्टेट के आधार पर रिपोर्ट दी गई होगी। नीचे दायीं तरफ दिए गए तीन लाइन्स पर टैप कर आप प्रति राज्य की पूरी स्थिति की जानकारी भी ले सकते हैं। इसमें आपको सबसे पहले राज्य सेलेक्ट करना होगा। इसके बाद PC और AC को सेलेक्ट करना होगा। OK पर क्लिक करते ही आपको जानकारी स्क्रीन पर दिखाई देगी।

Voter Turnout ऐप के डाटा को लगातार अपडेट किया जाएगा ताकि यह एप्प रियलटाइम में जानकारी यूजर्स को मुहेया करवा सके। इसके अलावा एप्प में पुरुष और महिला मतदाताओं की संख्या अलग-अलग दिखाई जाएगी।चुनाव आयुक्त संदीप सक्सेना का कहना है कि यह ऐप जनता को मतदाता उपस्थिति को लेकर पारदर्शिता उपलब्ध कराएगा। संदीप सक्सेना ने कहा कि संसदीय क्षेत्र स्तर पर डेटा को एक अन्य ऐप के जरिए लगातार अपडेट किया जाएगा, ताकि यह ऐप रियलटाइम में जानकारी दे सके।

शिकायत के लिए करें cVIGIL ऐप का इस्तेमाल

चुनाव आयोग की इस ऐप के जरिए वोटर्स आचार संहिता के उल्लंघन होने पर इस उसकी जानकारी फोटो व वीडियो के मध्यम से चुनाव अधिकारियों को भेज सकते हैं। ऐप के बारे में कहा गया था कि शिकायत सही पाई जाने पर 100 मिनट के अंदर इसका समाधान किया जाएगा, cVIGIL ऐप के बारे में विस्तार से जाने के लिए यहाँ क्लिक करे

आपको भी वोटर टर्नआउट ऐप का इस्तेमाल करना चाइये, और आपको भी चुनाव से संबिधत सभी जानकारी लेनी चाइये, और आप इस पोस्ट को अपने फ्रेंड्स और फैमिली के साथ भी जरूर शेयर करे और उन्हें भी इसकी जानकारी दें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here