केंद्र सरकार की City Liveability Index Programme 2020 के बारे में जाने

0
1573
City Liveability Index Programme

City Liveability Index Programme:-

शहर में रहने वाले लोगों के जीवन स्तर में सुधार लाने के लिए “आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय / Ministry of Housing and Urban Affairs (MoHUA)” ने “Liveability Index Programme” नामक एक नया कार्यक्रम शुरू किया है | “Liveability Index Programme” जल्द ही पूरे देश के 99 स्मार्ट शहरों सहित 116 शहरों में शुरू किया जाएगा |

शहरी लोगों की आजीविका को अधिक कुशल बनाने के लिए केंद्र मंत्रालय द्वारा मानकों और अन्य तत्वों का निर्णय लिया जाएगा | केंद्र सरकार ने 99 शहरों को Smart city के रूप में मंजूरी दी है | इन शहरों को भी इस कार्यक्रम में शामिल किया जाएगा |

City Liveability Index Programme का उद्देश्य:-

City Liveability Index Programme का प्राथमिक उद्देश्य शहरों की मौजूदा स्थिति का आकलन करना है | साथ ही यह शहरों की विकास दर को मापने और विकास की स्थिति की जाँच करने में उपयोगी साबित होगा | इसके साथ ही Ministry of Housing and Urban Affairs (MoHUA) ने विभिन्न योग्यता मानकों को पेश किया है, जो कि Liveability Index और शहरों की रेटिंग के लिए आवश्यक हैं |

लंदन स्थित Economic Intelligence Unit (EIU), IPSOS Research Private Ltd. और Athena Infonomics India Pvt. Ltd. के साथ गठबंधन कर 116 शहरों का Liveability Index का मूल्यांकन करेगा |

City Liveability Index Programme के लिए आवश्यक मापदंड:-

Liveability Index की गणना के लिए Ministry of Housing and Urban Affairs (MoHUA) ने कई मापदंडों को स्थापित किया है | MoHUA द्वारा कुल 79 मापदंड स्थापित किए गए हैं जिनमें से 52 मापदंड Core indicators हैं और शेष 22 supporting indicators हैं | इस योजना के लिए तैयार की गई रूपरेखा में 24 स्मार्ट सिटी विशेषताओं को शामिल किया गया हैं जो स्मार्ट सिटी प्रस्तावों में भी मौजूद थीं |

City Liveability Index Programme का कार्यान्वयन:-

इन सभी 79 मापदंडों को विभिन्न खंडों के अंतर्गत वर्गीकृत किया जाएगा | कार्यान्वयन प्राधिकरण ने इन मापदंडों को 15 श्रेणियों में वर्गीकृत करेगी | ये श्रेणियां विशेष रूप से सामाजिक-आर्थिक और भौतिक पहलुओं की जांच करने के लिए design की गई हैं | इन श्रेणियों में सड़कों की गुणवत्ता, शिक्षा, स्वास्थ्य सुविधाएं, रोजगार के अवसर, प्रदूषण स्तर आदि को शामिल किया गया हैं | इन सभी 116 शहरों में Liveability Index Programme के तहत जीवन मानक को मापने के लिए ये श्रेणियां उपयोगी साबित होगी |

City Liveability Index Programme के लाभ:-

  • इस कार्यक्रम के तहत, Ministry of Housing and Urban Affairs (MoHUA) लगभग 30 capacity building workshops की स्थापना करेगा, जो “Urban Data” को समझने में मदद करेगा | इससे शहरों को Data Evaluation के लिए उचित और आवश्यक उपकरण मिलेगा |
  • शहरों की सभी जानकारियों को प्राप्त करने के लिए कार्यान्वयन एजेंसियां ​​इन 116 शहरों की निरंतर visit करेंगी और इस तरह City Assessment Reports तैयार की जाएगी |
  • MoHUA एक लाख से अधिक नागरिकों और अन्य उपयोगकर्ताओं के सर्वेक्षणों की खबरों को ध्यान में रखेगा |
  • इसके अलावा आधिकारिक आंकड़ों की mapping के लिए, सरकार एक “Economist Portal” शुरू करेगा | जिसके परिणामस्वरूप केंद्र सरकार को आम आदमी के लाभ के लिए विभिन्न नीतियों और योजना को तैयार करने में मदद मिलेगी |
  • इसके अलावा, सरकार अगले चरण में शहरों की जीडीपी पर नज़र रखने के लिए एक रूपरेखा भी शुरू करेगा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here