World Braille Day 2022: Wishes, quotes, Whatsapp Status, Messages, SMS, and greetings

0
990
World Braille Day 2022
World Braille Day 2022

World Braille Day 2022: World Braille Day Quotes:-

दुनियाभर में 4 जनवरी का दिन ‘विश्व ब्रेल दिवस (World Braille Day)’ के तौर पर मनाया जाता है | इस दिन लुई ब्रेल का जन्मदिन भी होता है | बता दें लुई ब्रेल वहीं शख्स हैं जिन्होंने महज 15 साल की उम्र में ब्रेल लिपि (Braille) का आविष्कार किया था |

ब्रेल भाषा के आविष्कारक लुई ब्रेल का जन्म फ्रांस में 4 जनवरी 1809 को हुआ था | उन्हें और उनके योगदान के लिए याद करने के लिए, लुई की जयंती हर साल 4 जनवरी को विश्व ब्रेल दिवस के रूप में मनाई जाती है | इस दिन को संयुक्त राष्ट्र द्वारा 2019 से चिह्नित किया गया है |

दुनिया में लाखों अंधे लोगों को पढ़ने-लिखने में सक्षम बनाने वाले महान वैज्ञनिक लुई ब्रेल का आज जन्मदिन है | इस मौके पर पूरी दुनिया में ब्रेल दिवस के तौर पर मनाया जाता है | फ्रांस के लुई ब्रेल खुद एक दृष्टिहीन थे | जिससे वो पढ़ने लिखने में अक्षम थे |

लेकिन अपनी तकदीर को उन्होंने अपनी मजबूरी नहीं बनने दी | और कर दिया एक ऐसे लिपि का अविष्कार जिसने दुनियाभर के दृष्टिहीनों की जिंदगी बदल दी | उन्होंने दृष्टिहीनों लिखने-पढ़ने के लिए अलग लिपि विकसित की और जिसे ब्रेल लिपि नाम मिला |आपको यह जानकर हैरानी होगी कि लुई ने जब यह लिपि बनायी तब वे मात्र 15 वर्ष के थे |

ब्रेल एक ऐसी भाषा है जिसका आविष्कार विशेष रूप से नेत्रहीन लोगों के लिए किया गया है और जिनकी दृष्टि आंशिक रूप से क्षीण है | जबकि सही दृष्टि वाले लोगों के लिए दुनिया भर में अपनी आंखों से देखना आसान है, दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों के लिए बिगड़ा दृष्टि वाले लोगों के लिए यह थोड़ा मुश्किल हो जाता है |

इन लोगों को पढ़ने और सीखने में मदद करने के लिए, लुई ने ब्रेल भाषा का आविष्कार किया, जो विश्व स्तर पर बिगड़ा दृष्टि वाले लोगों के लिए सार्वभौमिक भाषा के रूप में स्वीकार किया गया |

World Braille Day 2022 Quotes:-

Being blind isn’t the end of the world. Let’s encourage visually impaired people to identify & achieve their ambitions. World Braille Day.


World Braille Day is celebrated on Braille inventor Louis Braille’s birthday to pay tribute for helping the blind and visually impaired to read and write.

Braille is not a language but a code that can be translated into many languages. Happy World Braille Day.


Louis Braille was only 15 when he created the Braille code. Hats off to him. Happy World Braille Day.


We commemorate Louis Braille’s birthday for the invention of Braille Script to provide equal access to learning to the visually impaired. World Braille Day.


Today is World Braille Day! Braille opens so many opportunities, promotes literacy and communication, and helps people bonding.


Today is World Braille Day which celebrates the inventions of Louis Braille, who invented the Braille code for blinds.

We strive to raise awareness and funds for our philanthropy, Service for Sight! That’s the way we celebrate world Braille day.

World Braille Day Wishes:-

Happy birthday to Louis Braille. The Braille code is immortal!

It impacted the lives of blinds. World Braille Day.


Don’t be depressed because of blindness or visual, physical, or reading disabilities. There is Braille! Happy World Braille Day.

Blind workers at Britain’s Royal National Institute had transcribed the Bible into Braille while a sighted helper reads aloud in 1926! World Braille Day.

Happy World Braille Day! On this day we celebrate Louis Braille’s birthday.  He invented the Braille code to help blind and partially sighted people read and write.

Louis Braille’s unchallenged invention of a reading & writing system for the blind has changed the world of the blind forever. – Happy World Braille Day!

Frequently Asked Questions(FAQs):-

विश्व ब्रेल दिवस कब मनाया जाता है?

4 जनवरी को

विश्व ब्रेल दिवस क्यों मनाया जाता है?

ब्रेल भाषा के आविष्कारक लुई ब्रेल का जन्म फ्रांस में 4 जनवरी 1809 को हुआ था | उन्हें और उनके योगदान को याद करने के लिए, लुई की जयंती हर साल 4 जनवरी को विश्व ब्रेल दिवस के रूप में मनाई जाती है |

ब्रेल भाषा के आविष्कारक कौन हैं?

लुई ब्रेल

लुई ब्रेल का जन्म कब हुआ था?

4 जनवरी 1809 को

ब्रेल लिपि क्या है ?

ब्रेल एक लेखन पद्धति है | यह नेत्रहीन व्यक्तियों के लिए सृजित की गई थी | ब्रेल एक स्पर्शनीय लेखन प्रणाली है | इसे एक विशेष प्रकार के उभरे कागज़ पर लिखा जाता है | इसकी संरचना फ्रांसीसी नेत्रहीन शिक्षक और आविष्कारक लुइस ब्रेल ने की थी | इन्हीं के नाम पर इस पद्धति का नाम ब्रेल लिपि रखा गया है | ब्रेल में उभरे हुए बिंदु होते हैं | इन्हें ‘सेल’ के नाम से जाना जाता है | कुछ बिन्दुओं पर छोटे उभार होते हैं | इन्हीं दोनों की व्यवस्था और संख्या से भिन्न चरित्रों की विशिष्टता तय की जाती है | ब्रेल की मैपिंग प्रत्येक भाषा में अलग हो सकती है |

पहला अंतरराष्ट्रीय ब्रेल दिवस कब मनाया गया था ?

04 जनवरी 2019 को

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने विश्व ब्रेल दिवस के लिए प्रस्ताव कब पारित किया था

06 नवम्बर 2018 को

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here