जानें क्या है एग्जिट पोल और ओपिनियन पोल

0
1349
Exit Poll and Opinion Poll

Exit Poll and Opinion Poll

हिंदुस्तान में 17वीं लोकसभा के चुनाव चल रहे हैं | इस बार लोकसभा चुनाव 7 चरणों में हो रहे हैं | अब तक 6 चरणों के मतदान हो चुके हैं | आखिरी और 7वें चरण के लिए 8 राज्यों में 19 मई को वोट डाले जाएंगे | इसके बाद 23 मई को वोटों की गिनती होगी और फिर चुनाव के नतीजे जारी किए जाएंगे |

लेकिन वोटिंग खत्म होने के ठीक बाद एग्जिट पोल (Exit Poll) जारी किए जाते हैं, जिनके जरिए ये पूर्वानुमान लगाए जाते हैं कि इस बार किसको कितनी सीट मिलेगी और कौन सरकार बनाएगा | आइये जानते हैं एग्जिट पोल के पीछे की सारी कहानी | क्या होता है एग्जिट पोल | इसकी क्या प्रक्रिया है | Exit Poll and Opinion Poll

एग्जिट पोल (Exit Poll):-

इसका मतलब होता है कि जब मतदाता अपना वोट डालकर निकल रहा हो तब उससे पूछा जाए कि उसने किसे वोट दिया | इस आधार पर किए गए सर्वेक्षण से जो व्यापक नतीजे निकाले जाते हैं उन्हें ही एक्जिट पोल (Exit Poll) कहते हैं | मौजूदा लोकसभा चुनाव सात चरणों में हो रहा है | ऐसे में एग्जिट पोल (Exit Poll) के लिए हर चरण की वोटिंग के बाद डाटा इकट्ठा किया गया |

Exit Poll and Opinion Poll

जैसे मान लीजिए कि 19 मई को 7वें चरण की वोटिंग खत्म हो जाएगी और शाम 7 बजे आप टीवी पर जो चुनावी सर्वे देखेंगे वो एग्जिट पोल ही होगा | इसमें हर चरण की वोटिंग के बाद किए गए सर्वे शामिल होंगे | इसमें यह दिखाया जाता है कि कौन-से दल के प्रत्याशी जीत रहे हैं और किस दल के प्रत्याशी हार रहे हैं |

नीदरलैंड के एक समाजशास्त्री और पूर्व राजनेता मार्सेल वान डैम ने दुनिया को एक्जिट पोल (Exit Poll) से रूबरू कराया | 15 फरवरी, 1967 को पहली बार वहां के चुनावों में इस विधा का इस्तेमाल किया गया था | जबकि भारत में इसकी शुरुआत का श्रेय Indian Institute of Public Opinion के मुखिया एरिक डी कोस्टा को जाता है |

चुनावी सर्वे:-

चुनाव के दौरान निर्वाचकों, वोटर से बातचीत अलग-अलग राजनीतिक दलों, उम्मीदवारों की जीत-हार के पूर्वानुमानों के आकलन की एक पूरी प्रक्रिया होती है, जिसे चुनावी सर्वे कहा जाता है | ये सर्वे अलग-अलग तरह के होते हैं और आधार भी अलग-अलग होता है |

ओपिनियन पोल (Opinion Poll):-

ओपिनियन पोल एग्जिट पोल से अलग होते हैं | इसका इस्तेमाल पत्रकार विभिन्न मसलों पर जनता की नब्ज टटोलने के लिए करते थे | इसकी शुरुआत का श्रेय जॉर्ज गैलप और क्लॉड रोबिंसन को जाता है | इन दोनों ने सबसे पहले अमेरिकी लोगों के बीच एकत्र सैंपल सर्वे को उनकी एक राय के रूप में परिभाषित किया था |

Exit Poll and Opinion Poll

यह विधा इतनी लोकि‍प्रिय हुई कि ग्रेट ब्रिटेन और फ्रांस ने भी इसे अपनाने से परहेज नहीं किया | ब्रिटेन और फ्रांस में जब इन्हें पहली बार क्रमशः 1937 और 1938 में अपनाया गया तो इनके नतीजे बिलकुल सटीक निकले |

ओपिनियन पोल तैयार करने की प्रक्रिया:-

ओपियन पोल तैयार करने में सबसे बड़ा काम फील्ड वर्क का होता है | इसकी सैंपलिंग के लिए चुनावी सर्वे करने वाली एजेंसी के कर्मचारी आम लोगों से मिलते हैं और कुछ सवाल पूछते हैं | कैंडिडेट अच्छा है या बुरा | इस आधार पर भी एक मोटा-मोटी राय जान ली जाती है | वहीं इस प्रक्रिया में जिन लोगों को शामिल किया जाता है उन्हें एक फॉर्म भी भरने को दिया जाता है | फॉर्म को भरवाने की भी एक लंबी प्रक्रिया होती है | मतदाताओं की पहचान गुप्त रहे और वो बेझिझक आपनी राय दे दें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here