उत्तराखंड दुग्ध मूल्य प्रोत्साहन योजना 2021 का शुभारंभ

0
979
उत्तराखंड दुग्ध मूल्य प्रोत्साहन योजना
उत्तराखंड दुग्ध मूल्य प्रोत्साहन योजना

उत्तराखंड दुग्ध मूल्य प्रोत्साहन योजना 2021:-

उत्तराखंड सरकार ने 8 दिसंबर 2021 को दूध मूल्य प्रोत्साहन योजना शुरू की है | इस योजना में, राज्य सरकार दूध के उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए दूध की कीमत पर प्रोत्साहन प्रदान करेगी | उत्तराखंड दूध मूल्य प्रोत्साहन योजना 2021 से राज्य भर में लगभग 53,000 लोगों को लाभ होने वाला है |

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सर्वे चौक स्थित आईआरडीटी ऑडिटोरियम में दुग्ध विकास विभाग (milk development department) के अंतर्गत संचालित दुग्ध मूल्य प्रोत्साहन योजना (Milk Price Incentive Scheme) का शुभारंभ किया | इस योजना के तहत दुग्ध उत्पादकों को डीबीटी के माध्यम से दुग्ध मूल्य प्रोत्साहन राशि का भुगतान किया गया |

मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने मैदानी क्षेत्रों के दुग्ध समितियों के सचिव के लिए 50 पैसा प्रति लीटर दूध में प्रोत्साहन राशि और पर्वतीय क्षेत्रों में दुग्ध समितियों के सचिवों के लिए ₹1 प्रति लीटर दूग्ध मूल्य प्रोत्साहन राशि बढ़ाए जाने की घोषणा की | दुग्ध मूल्य प्रोत्साहन राशि को ₹4 प्रति लीटर से बढ़ाकर ₹5 प्रति लीटर किए जाने की घोषणा की | साथ ही हल्द्वानी में दुग्ध विकास विभाग के निदेशालय के लिए जल्द से जल्द धनराशि जारी करने की घोषणा की |

कार्यक्रम में सीएम धामी ने कहा दूध उत्पाद काश्तकारों से जुड़ी हर समस्या का समाधान सभी विभागों के साथ समन्वय बनाकर किया जा रहा है | आज इस दूध मूल्य प्रोत्साहन योजना से करीब 53 हजार लोगों को सीधे-सीधे लाभ होगा | यह राशि डीबीटी के माध्यम से सीधे लाभार्थियों के खातों में जाएगी | इस तरह की योजना आने वाले समय में मील का पत्थर साबित होगी |

उत्तराखंड दुग्ध मूल्य प्रोत्साहन योजना क्या है:-

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को “दूध मूल्य प्रोत्साहन योजना” शुरू की, जिससे राज्य के लगभग 53,000 लोगों को लाभ होगा | देहरादून में सभा को संबोधित करते हुए, सीएम धामी ने कहा, “मैं वादा करता हूं कि उत्तराखंड अपना 25 वां वर्ष मनाने तक भारत में दूध उत्पादन में नंबर एक राज्य होगा | दूध मूल्य प्रोत्साहन योजना से लगभग 53,000 लोगों को लाभ होने जा रहा है | आगे मुख्यमंत्री ने कहा कि यह राशि डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर (डीबीटी) के माध्यम से सीधे लाभार्थियों के खातों में जाएगी |

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास के मंत्र के साथ हमारी सरकार हर क्षेत्र में लगातार आगे बढ़ रही है | धामी ने यह भी बताया कि राज्य सरकार उत्तराखंड में 500 दूध बिक्री केंद्र खोलने के लिए 444.62 करोड़ रुपये खर्च करेगी |

उत्तराखंड दुग्ध मूल्य प्रोत्साहन योजना का उद्देश्य:-

  • ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष रूप से छोटे/सीमांत किसानों, खेतिहर मजदूरों/भूमिहीनों, महिलाओं और समाज के अन्य कमजोर वर्ग के लिए डेयरी गतिविधि को लाभदायक बनाना |
  • ग्रामीण युवाओं को डेयरी गतिविधि करने के लिए प्रेरित करना और उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार करना और आजीविका की तलाश में युवाओं के शहरी क्षेत्रों में पलायन से बचना |
  • ग्रामीण क्षेत्रों में दुग्ध उत्पादक डेयरी किसानों की आर्थिक और सामाजिक स्थिति में सुधार करना |
  • खाद्य सुरक्षा प्रदान करने में मदद करने के लिए दुग्ध उत्पादन में वृद्धि करना, और
  • ग्रामीण क्षेत्रों में सहकारी क्षेत्र में डेयरी गतिविधियों को समर्थन और प्रोत्साहित करना |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here