उत्तर प्रदेश के किसान धान की बिक्री के लिए पंजीकरण कैसे करें?

0
2750

धान बिक्री के लिए किसान पंजीकरण:-

उत्तर प्रदेश सरकार ने किसानों को खरीफ के मौसम में धान बेचने के लिए आधिकारिक वेबसाइट http://fcs.up.gov.in/FoodPortal.aspx पर किसान पंजीकरण ऑनलाइन फॉर्म आमंत्रित किया है | किसान पंजीकरण फॉर्म उत्तर प्रदेश के आधिकारिक खाद्य पोर्टल पर उपलब्ध हैं | मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी किसानों से जल्द से जल्द पंजिकरण करने का अनुरोध किया है ताकि किसानों को उनकी कृषि उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) मिल सके |

उत्तरप्रदेश खाद्य पोर्टल पर किसान पंजीकरण ऑनलाइन फॉर्म भरने के बाद, किसान
government procurement centers पर अपनी कृषि उपज बेच सकेंगे |

पश्चिम उत्तर प्रदेश में, खरीद प्रक्रिया 31 जनवरी 2019 को समाप्त होगी, जबकि पूर्वी उत्तर प्रदेश में, कृषि फसलों की खरीद प्रक्रिया की अंतिम तिथि 28 फरवरी 2019 है |

धान बिक्री के लिए किसान पंजीकरण प्रक्रिया:-

  • सर्वप्रथम आवेदक को उत्तर प्रदेश के खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग के आधिकारिक पोर्टल http://fcs.up.gov.in/FoodPortal.aspx पर जाना होगा |
  • इसके पश्चात आवेदक को Homepage पर “खरीफ विपणन वर्ष 2018-19 में धान खरीद हेतु कृषक पंजीकरण” लिंक पर क्लिक करना होगा |
  • यहां उम्मीदवार अपनी सभी व्यक्तिगत, भूमि, पते और बैंक खाते के विवरण को सही-सही भर सकते हैं | अंत में, आवेदक पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा करने के लिए “पंजीकरण करें” बटन पर क्लिक कर सकते हैं |

सभी आवेदक किसान ऑनलाइन किसान पंजीकरण प्रारूप खोलने के लिए स्टेप 3. पंजीकरण ड्राफ़्ट पर क्लिक कर सकते हैं |

इसके अलावा, सभी आवेदक आवेदन पत्र में भरी गई किसी भी जानकारी के बदलाव के लिए स्टेप 4. पंजीकरण संशोधन पर भी क्लिक कर सकते हैं |

किसान पंजिकरण प्रक्रिया को पूरा करने के लिए, स्टेप 5. पंजीकरण लॉक और स्टेप 6. पंजीकरण अंतिम प्रिंट लिंक पर क्लिक करना होगा |

न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान खरीद हेतु कृषक पंजीकरण प्रारूप के लिए यहाँ क्लिक करें 

धान बिक्री के लिए किसान पंजीकरण से जुड़ी कुछ बातें:-

अब तक, पश्चिमी और पूर्वी उत्तर प्रदेश में क्रमशः 10.90 लाख मीट्रिक टन और 13.27 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद की जा चुकी है | पहले ही राज्य सरकार इन 2 क्षेत्रों में 24.17 लाख मीट्रिक टन कृषि उपज की खरीद कर चुका है, जिससे यूपी के लगभग 3.47 लाख किसान लाभान्वित हुए हैं | इसके अलावा, राज्य सरकार RTGS mode के माध्यम से किसानों के बैंक खाते में पहले ही 4232.779 करोड़ रुपये भेज चुका है |

अगर आपको ये Article अच्छा लगा हो तो आप इसे अपने friends और family के साथ भी जरूर Share करे | अगर आपको  कोई Problem आ रही हो तो आप हमसे निचे दिए गए comment box में पूछ सकते है | EnterHindi Team आपकी जरूर Help करेगी |

इसी तरह से जानकारी रोज पाने के लिए EnterHindi को follow करे Facebook, Twitter पर और Subscribe करे YouTube Channel को |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here