इस बार वर्चुअल होगा अयोध्या का दीपोत्सव, घर बैठे वर्चुअल दीपोत्सव में ले सकेंगे हिस्सा l

0
1087
Ayodhya Virtual Deepotsav

Ayodhya Virtual Deepotsav:-

Ayodhya Virtual Deepotsav- उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा उत्तरप्रदेश अयोध्या वर्चुअल दीपोत्सव ऑनलाइन पोर्टल (UP Ayodhya Virtual Deepotsav Online Portal) लॉन्च किया गया है | यह नई वर्चुअल दीपोत्सव वेबसाइट लोगों को ऑनलाइन मोड के माध्यम से दिवाली महोत्सव समारोह में भाग लेने में सक्षम बनाएगी | अयोध्या में इस बार की दिवाली खास होने जा रही है |

राम मंदिर की नींव डलने के बाद पहली बार अयोध्या में भव्य रूप से दिवाली मनाई जाएगी | कोरोना संकट के बीच ये त्योहार मन रहा है, ऐसे में काफी कुछ डिजिटल हो गया है | इस बार ‘अयोध्या दीपोत्सव’ में करोड़ों राम भक्त श्रीरामलला दरबार में वर्चुअल हाजिरी लगाएंगे |

योगी सरकार की प्राथमिकताओं में शुमार अयोध्या के दीपोत्सव का आयोजन पूरी तरह से वर्चुअल होगा | इसको लेकर जिला प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं | 13 नंवबर को होने वाले दीपोत्सव कार्यक्रम स्थल पर कोविड प्रोटोकाल के चलते आम लोगों को जाने की अनुमति नहीं होगी | साथ ही, स्वयंसेवकों को प्रवेश पत्र दिखाने पर ही प्रवेश मिलेगा |

यह प्रस्तावित है कि अयोध्या वासी दीपावली की पूर्व संध्या पर 5,51,000 मिट्टी के दीपक जलाकर मंदिर नगरी को रोशन करेंगे | यह लाइटनिंग फेस्टिवल उत्सव दुनिया का सबसे बड़ा लाइट इवेंट होगा और इस तरह इसे गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बुक में दर्ज किया जाएगा | ‘Ram Ki Pairi’, सभी मठों, मंदिरों के साथ घरों में दीयों को जलाया जाएगा ताकि पूरे मंदिर शहर को रोशन किया जाए |

कैसे कर पाएंगे वर्चुअल दर्शन:- Ayodhya Virtual Deepotsav

इन भौतिक दीपक प्रकाश के अलावा, उत्तरप्रदेश सरकार अयोध्या वर्चुअल दीपोत्सव ऑनलाइन पोर्टल भी शुरू करेगा | यह यूपी अयोध्या वर्चुअल दीपोत्सव वेबसाइट उन लोगों के लिए होगी जो ज्योति दीपोत्सव में शारीरिक रूप से मौजूद नहीं रह सकते हैं | ऐसे लोग अब अपने स्वयं के दीया जला सकते हैं और अपने घर से दीवाली प्रकाश उत्सव में भाग ले सकते हैं |

प्रदेश सरकार द्वारा तैयार कराया जा रहा यह अनूठा वर्चुअल दीपोत्सव प्लेटफार्म बिल्कुल रियल जैसा अनुभव देगा | पोर्टल पर श्रीरामलला विराजमान की तस्वीर होगी | जिसके समक्ष दीप वर्चुअल दीप प्रज्ज्वलन होगा | वेब पोर्टल में श्रद्धालु अपने भावानुसार मिट्टी, तांबे, स्टील अथवा किसी अन्य धातु के दीप-स्टैंड का चयन कर सकेंगे | घी, सरसों अथवा तिल के तेल का विकल्प भी उपलब्ध होगा | यही नहीं श्रद्धालु अगर पुरुष है तो पुरुष अथवा महिला होने पर महिला के वर्चुअल हाथ दीप प्रज्ज्वलित करेंगे | 

इसके बाद दीप जलाने पर श्रद्धालु की जानकारी के आधार पर रामलला की तस्वीर के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से धन्यवाद-पत्र भी जारी होगा | 13 नवंबर को ये पोर्टल आम लोगों के लिए खुलेगा | बता दें कि इस बार खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्चुअली तरीके से कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे |

इस बार बनेगा नया विश्व रेकॉर्ड:-

अयोध्या दीपोत्सव एक गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड धारक है जो 2017 में सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा शुरू किया गया था | दीपावली समारोह को चिह्नित करने के लिए पवित्र सरयू और पूरे अयोध्या शहर के घाटों को रोशन करने के लिए लाखों दीए जलाए जाते हैं | दीवाली 14 साल के वनवास के बाद सीता और भाई लक्ष्मण के साथ भगवान राम का घर वापसी समारोह है |

अयोध्या दीपोत्सव योगी सरकार का चौथा दीपोत्सव कार्यक्रम है, लेकिन इस बार का समारोह कुछ अलग ही होने वाला है, क्योंकि इस बार अयोध्या में भव्य राममंदिर निर्माण का काम भी शुरू हो चुका है | इसके कारण राम की पैड़ी के अलावा रामजन्मभूमि परिसर के अंदर भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दीपक जलाएंगे |

वर्ष 2020 में, लोगों को इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए वस्तुतः, उत्तर प्रदेश राज्य सरकार 13 नवंबर को दीपावली की पूर्व संध्या पर वेबसाइट लॉन्च करेगी |

कोरोना गाइडलाइन का पालन अयोध्या में जरूरी:-

कोरोना काल में पहली बार भव्य आयोजन किया जा रहा है | मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या दीपोत्सव को भव्य-दिव्य बनाने के निर्देश दिए हैं, लेकिन स्पष्ट कहा है कि कहीं भी कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन नहीं होना चाहिए | इस दौरान हर रोज अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए गए हैं, जितने भी कार्यक्रम होंगे सभी में कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा |

बता दें कि इस बार अयोध्या में करीब साढ़े पांच लाख दीप जलाने की तैयारी है | मुख्यमंत्री योगी रामायण के प्रसंगों पर आधारित झांकियों का अवलोकन करेंगे | साथ ही, श्रीराम, सीता और लक्ष्मण के स्वरूप, की आरती कर श्री राम का राज्याभिषेक करेंगे | मुख्यमंत्री जन्मभूमि परिसर में रामलला की आरती भी उतारेंगे, अयोध्या दीपोत्सव की तैयारियों पर मुख्यमंत्री की सीधी नजर है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here