Swachh Survekshan 2019 | स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 के बारे में जानें

0
6273

स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 (Swachh Survekshan 2019):-

केंद्र सरकार का Ministry of Housing and Urban Affairs, पूरे देश में स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए “स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 (Swachh Survekshan 2019)” शुरू करने जा रहा है | केंद्र सरकार द्वारा शुरू किए गए स्वच्छ भारत अभियान (Clean India Mission) पर लोगों का ध्यान केंद्रित करने और अभियान में नागरिकों की भागीदारी को प्रोत्साहित करने के लिए केंद्र सरकार इस कार्यक्रम को स्वच्छ भारत अभियान (Clean India Mission) के तहत शुरू करेगा |

अगले वर्ष होने वाले सर्वेक्षण के बाद अभियान का Logo, Ranking, शहरों की सूची, अंतिम परिणाम और पूर्ण विवरण उपलब्ध होंगे | यह शहरों के कचरा मुक्त और खुले शौचालय मुक्त बनाने की ओर प्रगति सुनिश्चित करेगा | यह शहरी भारत का वार्षिक स्वच्छता सर्वेक्षण का चौथा संस्करण है | Living Index में सुधार शहरों को शहरी नियोजन और प्रबंधन के परिणाम-आधारित दृष्टिकोण की ओर बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करेगी |

सरकार SBM ODF+ और  SBM ODF++ प्रोटोकॉल भी शुरू करेगा | Ministry of Housing and Urban Affairs ने web आधारित नागरिक स्वच्छ मंच http://www.swachhmanch.in/ की भी शुरुआत की है

स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 की मुख्य बातें:-

  • Management Information System (MIS) के माध्यम से पूर्ण Digitized सर्वेक्षण |
  • स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 में सर्वे संकेतक / प्रश्नावली कुल 5000 अंकों का होगा जबकि स्वच्छ सर्वेक्षण 2018 में सर्वे संकेतक / प्रश्नावली 4000 अंकों का था |
  • स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 में शहरों को रैंकिंग नीचे दिए गए मानकों के आधार पर शहर द्वारा बनाए गए कुल अंकों के आधार पर दी जाएगी |
  • Data Collection, 4 व्यापक स्रोतों Service Level Progress, Direct Observation, Citizens Feedback, Certification से किया जाएगा | Data Collection के पश्चात, स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 के तहत शहरों की सूची तैयार की जाएगी |
  • Service Level Progress” के तहत घटकों को संशोधित कर एक नया घटक “By-Laws” को जोड़ा गया है |
  • Certification:- इसमें 2 घटक शामिल होंगे- Star Rating of Garbage Free Cities और Open Defecation Free Protocols
    • Star Rating of Garbage Free Cities:  Ministry of Housing and Urban Affairs द्वारा स्टार रेटिंग प्रोटोकॉल जारी किया गया है | स्टार रेटिंग प्रोटोकॉल 12 पैरामीटर पर आधारित होगा | यह एक SMART (Single Metric, Measurable, Achievable, Rigorous verification mechanism and Targeted towards outcomes) Framework का पालन करेगा | इसमें नालियों और जल निकायों की सफाई, प्लास्टिक और अपशिष्ट पदार्थों का प्रबंधन, निर्माण और विध्वंस कचरे का प्रबंधन जैसे घटक शामिल होंगे | स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 में कुल अंकों का 20% वेटेज Star Rating Certificate को आवंटित किया गया है |
    • Open Defecation Free Protocols: स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 में कुल अंकों का 5% वेटेज Open Defecation Free Protocols को आवंटित किया गया है |
  • इसमें सर्वेक्षण एजेंसी द्वारा प्रत्यक्ष निरीक्षण में On-field independent observation और डेटा संग्रह शामिल है |
  • नागरिक प्रतिक्रिया एक आवश्यक घटक है | लोग आउटबाउंड कॉल के माध्यम से face-to-face या 1969, स्वच्छता App, स्वच्छ मंच और स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 पोर्टल से के माध्यम से प्रश्न पूछ सकेंगे |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here