प्रश्नोत्तरी 10 में 10 |स्थानीय मान की समझ । मिशन अंकुर कोर्स श्रंखला । CM राइज़ TPD, MP

0
1685

STHANEEY MAAN KI SAMJH PRASHN UTTAR

STHANEEY MAAN KI SAMJH PRASHN UTTAR: यह कोर्स किस विषय पर है और इसे कौन करे – स्थानीय मान (place value) प्राथमिक कक्षाओं के गणित में आने वाला एक अहम अवधारणा है| इसकी समझ पर गिनती, जमा और घटा सम्बन्धी आदि कई अवधारणायें आधारित है| बच्चों को सथानीय मान समझने में अक्सर दिक्कतें आती है| यह कोर्स यह समझने की तरफ एक कोशिश है कि स्थानीय मान की समझ में कौन कौन सी समझ शामिल है, साथ ही स्थानीय मान की समझ के अभाव में बच्चे किस तरह की गलतियाँ कर सकते हैं और स्थानीय मान पढ़ाने के लिए किन बातों को ध्यान में रखने की आवश्यकता हो सकती है| 

STHANEEY MAAN KI SAMJH PRASHN UTTAR

प्रश्न 1: बच्चे को जब 406 को पढ़ने को कहा गया तो उसने उसे चार शुन्य छह (FOUR ZERO SIX ) पढ़। संख्या को इस तरह से अंकों में (DIGITISE) पढ़ने से क्या नुकसान है?

  1. संख्या की मात्रा का अंदाजा लगाना आसान हो जाता है।
  2. स्थनीय मान की समझ दिखती ही नहीं है।
  3. अंकों का आपस में रिश्ता नहीं चलता है।
  4. मौजूदा संख्या से बड़ी या छोटी संख्याओं को पहचाना जा सकता है।

प्रश्न 2:स्थानीय मान की पूर्ण समझ में …..संख्यांक की पहचान और मौखिक नामों को सुनकर संख्यां पहचान पाना शामिल है।

  1. 10 के आधार की समझ – इकाईयों में गिनना, समूहों में गिनना, दही और इकाईयों में गिनना
  2. 10 के समूह बना पाने की समझ
  3. बड़ी छोटी सख्या को समझना
  4. अंकों की अपनी मात्रा की समझ

प्रश्न 3:हमारी संख्या पद्धति स्थानीय मान पध्दति है | निम्न में से एक गलत कथन चुने। :

  1. बहुत बड़ी संख्याओं को भी हजार, सौ, दहाई, और इकाई के स्तेमाल से आसानी से छोटे में लिख पाते हैं।
  2. स्थानीय मान की समझ से सब लोग संख्याओं को एक तरह से ही समझ पाते हैं।
  3. स्थनीय मान पढ़ती में शामिल 10 की पावर की समझ से जमा , घटा, गुना और भाग करना आसान होता है।

प्रश्न 4: कक्षा दूसरी में पढ़ रही भाविका गणित माला पर सरलता से 100 तक की संख्याओं को दिखा पाती है और 10 के समूह में भी आराम से गिनती कर लेती है अब उसकी इकाईयों को दहाई में बदलने की समझ को मजबूत करने के लिए शिक्षिका कौन से संसाधन का उपयोग करती है ?

  1. रंगीन टोकन
  2. राजमा के डेन
  3. छोटे कंकड़
  4. डीज ब्लॉक्स

प्रश्न 5: कक्षा में दूसरी के बच्चे को 16 को स्थानीय मान पद्धति में समझने के लिए नीचे दी गयी कौन सी चीज़ों की समझ होना जरुरी है ? आप एक से अधिक विकल्प चुन सकते हैं ?

  1. 1 और 6 के स्थान को आपस में बदला नहीं जा सकता
  2. 16 में 10 और 6 शामिल है
  3. उपरोक्त सभी
  4. 1 सही के स्थान पर है इसलिए वो 1 नहीं बल्कि 10 वस्तुओं को दर्शा रहा है

प्रश्न 6: कक्षा एक के बच्चों को स्थानीय मान सीखने की शुरुआत करने के लिए एक शिक्षिका ने abacus का स्तेमाल किया। शुरुआत में abacus के स्तेमाल से स्थनीय मान सीखने में कोण सी मुख्या मुश्किल आ सकती है ?

  1. बच्चे संख्या में शामिल खुली चीज़ों और समूहों को नहीं देख पायेगा |
  2. बच्चे एक एक कर को गईं नहीं पाएंगे।
  3. बच्चे को संख्या में कौन सा स्थान पहले आता है और कौन सा बाद में पता नहीं चलेगा |
  4. बच्चे को संख्या में कितने सौ, दही और इकाई है पता नहीं चलेगा |

प्रश्न 7: कक्षा दूसरी के बच्चे को 16 ब्लॉक के लिए संख्या लिखने को कहा गया। बच्चे ने 16 लिखा बच्चे ने उन्ही में से 6 ब्लॉक दिखकर खा की यह 16 में 6 को दर्शाते है। जब 16 में 1 को दर्शाने के लिए ब्लॉक निकल कर देने को खा तो बच्चे ने 1 ही ब्लॉक उठाया ? सही विकल्प चुने ?

  1. बच्चे स्थानीय मान को समझने में ऐसी गलती करते ही है। थोड़े समय में अपने आप गलती ठीक हो जाएगी।
  2. बच्चे ने बिलकुल ठीक जबाब दिया है |
  3. बच्चा 16 में 1 और 6 को अलग अलग दर्शा रहा है जो की सही है
  4. बच्चा 1 को 1 दहाई या 10 की तरह नहीं देख रहा है इसलिए 16 में 1 को दर्शाने के लिए 10 नहीं चुन रहा है।

प्रश्न 8: 6 साल की रमा संख्या 64 में 6 दहाई और 4 इकाई बताती है और 46 को 64 को बराबर बोलती है | वो 64 के लिए अलग अलग मात्रा में चीज़ों को दिखाती है और संख्या 64 से बड़ी या छोटी संख्या बताने में भी उसे मुश्किल होती है आपके अनुसार नीचे दिए गए कारकों में से कोण से करक इसके लिए जिम्मेदार हो सकते हैं ?

  1. रमा को संख्या को लिखने के अवसर कम मिले होने के कारन वह बड़ी संख्याओं की मात्रा का अंदाजा नहीं लगा पाती।
  2. 6 – 7 साल के बच्चों के लिए संख्याओं की तुलना करना मुश्किल है इसलिए रमा से यह प्रश्न हल नहीं हो रहा है।
  3. रमा की संख्याओं की समझ, स्तम्भ मान/स्थानीय मान यानि इकाई दहाई पहचानने पर टिकी है लेकिन मात्रा मूल्य यानि संख्याओं की मात्रा पर नहीं।
  4. रमा ने गिनती कई बार बोलने का अभ्यास नहीं किया है , जिसकी वजह से वह छोटी बड़ी संख्या में फर्क नहीं कर प् रही है।

प्रश्न 9: जब एक बच्चे को 406 -132 हल करने को कहा तो उसने कुछ ऐसे हल लिखा आपके अनुसार ऐसा हल होने का सबसे मुख्य कारणक्या है ?

  1. उसे घटा करना नहीं आता ?
  2. उसने संख्याओं को घटा की जगह जमा कर दिया है
  3. बच्चे ने उम्र के हिसाब से सही किया है।
  4. वो 0 को 0 दहाई की जगह कुछ नहीं की तरह देख रहा है।

प्रश्न 10: कक्षा एक की गणित शिक्षिका ने अपनी कक्षा में बड़ी संख्याएं सिखाने के कुछ तरीके सोचे हैं। आपके अनुसार इन तरीकों को किस क्रम में कक्षा में स्तेमाल करना चाहिए।

  1. बच्चे 78 को कॉपी में चिंत्रों की मदद से और अंकों में तोड़कर एक साथ लिखके दिखा पायेगा।
  2. बचे 78 को खोलकर 7 TENS + 8 ONES और 70 + 8 कॉपी में लिखेंगे।
  3. बच्चे अपनी कॉपी में 78 को 10 के सात समूह और 8 खुली चीज़ों का चित्र बनाकर दिखाएंगे।
  4. बच्चे राजमा के दानों को 10 के समूहों में और अकेले रखकर 78 बनाकर देखेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here