राजस्थान इंदिरा रसोई योजना – गरीबों को मिलेगा दो वक्त का खाना और नाश्ता

1
1838
राजस्थान इंदिरा रसोई योजना

राजस्थान इंदिरा रसोई योजना:-

राजस्थान सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए इंदिरा रसोई योजना (Indira Rasoi Yojana) शुरू करने जा रही है कि राज्य में कोई भी व्यक्ति भूखा न सोए (no person sleeps hungry) | मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 22 जून 2020 को घोषणा की कि दिन में दो बार भोजन गरीब लोगों को कम दरों पर उपलब्ध कराया जाएगा | राजस्थान राज्य सरकार इस इंदिरा रसोई योजना (Indira Rasoi Yojana) के लिए प्रति वर्ष 100 करोड़ रुपये खर्च करेगी | इसके अलावा, सरकार इस योजना की प्रभावी निगरानी के लिए सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग करेगा |

यह राजस्थान में पहले से चल रही अन्नपूर्णा रसोई योजना (Annapurna Rasoi Yojana) का उन्नत संस्करण है | इस योजना में, राज्य सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि सभी जरूरतमंद और भूखे लोगों को स्वच्छ और पौष्टिक भोजन मिलेगा | इस योजना में, राजस्थान राज्य सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि सभी जरूरतमंद और भूखे लोगों को स्वच्छ और पौष्टिक भोजन मिले |

मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (video conferencing) के माध्यम से इस इंदिरा रसोई योजना की शुरुआत की, जो कॉरोनोवायरस अन-लॉकिंग अवधि के साथ-साथ COVID ​​-19 अवधि के दौरान भी लाभदायक होगी |

गरीबों को कम दरों पर 2 बार भोजन:-

दिसंबर 2016 में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने अन्नपूर्णा रसोई योजना शुरू की थी | यह तमिलनाडु के अम्मा कैंटीन की तर्ज पर लागू एक रियायती भोजन योजना थी जिसमें 5 रुपये में नाश्ता और 8 रुपये में दोपहर का भोजन दिया जाता था | इस योजना का उद्देश्य मजदूरों, रिक्शा चालकों, ऑटो-रिक्शा चालकों, छात्रों, कामकाजी महिलाओं, वरिष्ठ नागरिकों और अन्य लोगों को लाभान्वित करना था | अब राजस्थान राज्य सरकार अन्नपूर्णा रसोई योजना के अद्यतन संस्करण के रूप में इंदिरा रसोई योजना को शुरू करने जा रही है |

राजस्थान इंदिरा रसोई योजना:-

नई राजस्थान इंदिरा रसोई योजना में, शहरी स्थानीय निकायों (ULB) के अधिकार क्षेत्र में रहने वाले जरूरतमंद लोगों को रियायती दरों पर दिन में दो बार पौष्टिक भोजन मिलेगा | भोजन की दर को अंतिम रूप दिया जाना बाकी है | नई योजना हर नगरपालिका की आवश्यकताओं और स्वाद को ध्यान में रखते हुए कार्य करेगी |

कार्यान्वयन उद्देश्य के लिए, IT का उपयोग इंदिरा रसोई योजना के सुचारू संचालन और निगरानी को सुनिश्चित करने के लिए किया जाएगा | जिला कलेक्टर की अध्यक्षता वाली एक समिति इस योजना की निगरानी करेगी और सरकार इस योजना पर प्रत्येक वर्ष लगभग 100 करोड़ रुपये खर्च करेगी | योजना के समुचित कार्य के लिए स्थानीय गैर सरकारी संगठनों की भागीदारी भी सुनिश्चित की जाएगी |

राजस्थान इंदिरा रसोई योजना का उद्देश्य

राजस्थान इंदिरा रसोई योजना का मुख्य उद्देश्य जरूरतमंद लोगों को दो समय का शुद्ध पौष्टिक भोजन रियायती दर से उपलब्ध कराया जाना है | योजना के संचालन में स्थानीय गैर सरकारी संगठनों (NGO) की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी एवं सूचना प्रौद्योगिकी की सहायता से प्रभावी तरीके से निगरानी होगी | इस योजना के तहत जरूरतमंद लोगों को शुद्ध और पौष्टिक नाश्ता और खाना रियायती दरो पर उपल्बध करवाया जाएगा |

मुख्यमंत्री गहलोत ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से राज्य स्तरीय कोविड-19 (COVID-19) जागरूकता अभियान की शुरूआत को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना महामारी अभी खत्म नहीं हुई है, इसलिए सभी को आत्म अनुशासन और संयम बरतते हुए आपस में दो गज की दूरी, मास्क पहनने, नियमित अंतराल पर हाथ धोने और सार्वजनिक स्थानों पर नहीं थूकने के मूल मंत्र का लगातार पालन करना होगा |

1 COMMENT

  1. jay ho jan nayak

    aap hi 1 inshan ho jiski Tulna Bagwan sy ki ja sakti h

    aap ka aasirwad sab par h

    or ham sab aap manglkamna k liy Dil sy Duway daty h

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here