पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे: अब दिल्ली से गाजीपुर तक का सफर 10 घंटे में, जानिए क्या है इसकी खासियत |

0
792
purvanchal expressway route in hindi
purvanchal expressway route in hindi

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे:-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार दोपहर सुल्तानपुर के कूरेभार पहुंचकर उत्तर प्रदेश के 9 जिलों को जोड़ने वाले पूर्वांचल एक्सप्रेस का लोकार्पण किया | जनता को समर्पित होते ही यूपी वासियों में इसे लेकर खुशी की लहर दौड़ पड़ी है |

कार्यक्रम के लिए पीएम मोदी एक्सप्रेसवे पर बनाई गई हवाई पट्टी पर भारतीय वायुसेना के मालवाहक विमान सी-130जे हरक्युलिस से पहुंचे थे | राज्यपाल आनंदीबेन पटेल व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनकी अगवानी की, जिसके बाद कार्यक्रम की शुरूआत की गई |

पीएम मोदी का स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का शिलान्यास तीन साल पहले किया गया था और आज सिर्फ 36 महीने में 341 किलोमीटर का एक्सप्रेसवे जनता को समर्पित होने जा रहा है | यह एक्सप्रेसवे पूर्वांचल के विकास को नई ऊंचाइयां देने वाला साबित होगा |

इसके लोकार्पण के साथ ही अपेक्षाकृत पिछड़े इलाके पूर्वांचल को विकास के पंख लग जाएंगे | एक्सप्रेस-वे के नजदीकी क्षेत्रों में उद्योगों के विकास के साथ शैक्षणिक व स्वास्थ्य संस्थान, वाणिज्यिक केंद्र खुलने से विकास के साथ रोजगार की नई राह भी खुलेगी |

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे : एक नजर में

  • लंबाई : 340.824 किमी
  • सड़क : 120 मीटर चौड़ी
  • गति : 100 किमी/घंटा, 120 किमी/घंटा की रफ्तार के लिए डिजाइन किया गया है |
  • हवाई पट्टी : सुल्तानपुर में 3.20 किमी लंबा व 34 मीटर चौड़ा एयर स्ट्रिप लड़ाकू विमानों के लिए |
  • 8 स्थानों पर फ्यूल पंप और 4 स्थानों पर सीएनजी स्टेशन |
  • 8 प्रसाधन ब्लॉक और 8 जनसुविधा परिसर |
  • हर 500 मीटर पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग पिट का प्रावधान |
  • 4.5 लाख पौधों का रोपण |

लागत का 90.71 प्रतिशत खर्च

  • परियोजना की कुल लागत (भूमि समेत) : 22497 करोड़
  • अब तक खर्च : 20408 करोड़ (90.71 प्रतिशत)

दिल्ली से गाजीपुर तक का सफर:-

जगहकहां तकदूरीएक्सप्रेस-वे
दिल्ली (निजामुद्दीन)नोएडा25 किमीदिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे
नोएडाआगरा165 किमीयमुना एक्सप्रेस-वे
आगरा लखनऊ302 किमी आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे
लखनऊगाजीपुर341 किमी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की अहम बातें:-

यह एक्सप्रेसवे 22,494 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हुआ है | यह एक्‍सप्रेस वे पूर्वांचल के विकास में नई इबारत लिखने जा रहा है | पूर्वांचल एक्सप्रेस से यूपी में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे | एक तरफ पूर्वांचल एक्‍सप्रेस वे प्रदेश में आवागमन को आसान बनाएगा, वहीं दूसरी तरफ उपेक्षित स्‍थानों की प्रगति का मार्ग भी प्रशस्‍त करेगा | हालांकि, भाजपा और सपा के बीच इस एक्सप्रेसवे का श्रेय लेने की होड़ मची है | जानिए इस एक्सप्रेसवे की खास बातें-

  • एक्सप्रेसवे के उद्घाटन के समय 3.2 किलोमीटर हवाई पट्टी पर सुखोई-30 एमकेआई, जगुआर और मिराज-200 लड़ाकू विमान अपने पराक्रम एवं शौर्य का प्रदर्शन करेंगे | 
  • करीब 341 किलोमीटर लंबा यह एक्‍सप्रेस वे गाजीपुर के बाद मऊ, आजमगढ़, अंबेडकर नगर, अयोध्‍या, सुल्‍तानपुर, अमेठी, बाराबंकी से होकर गुजरेगा | दिल्ली से गाजीपुर जाने में अब 10 घंटे का समय लगेगा |
  • इस एक्सप्रेसवे से पूर्वांचल में विकास को रफ्तार मिलेगी | यूपी की सत्ता में आने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ से आजमगढ़ होते हुए गाजीपुर तक छह लेन के पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्माण शुरू करवाया था | इस एक्सप्रेसवे की लम्बाई 340.824 किमी है | इसे भविष्य में आठ लेन करने की योजना है | 
  • इस एक्सप्रेस-वे के अंतर्गत कुल 18 फ्लाईओवर, 07 आरओबी, 07 दीर्घ सेतु, 118 लघु सेतु, 13 इण्टरचेंज, 271 अंडरपास तथा 503 पुलियों का निर्माण किया गया है | 
  • एक्‍सप्रेस-वे के आसपास के क्षेत्र को औद्योगिक विकास के नजरिए से विकसित किया जाएगा और इसके दोनों तरफ औद्योगिक गलियारा बनाया जाएगा | इन गलियारों में खाद्य प्रसंस्‍करण, एमएसएमई इकाइयां, वेयरहाउस और लॉजिस्टिक पार्क बनाने की योजना पर काम हो रहा है | 
  • आपातकालीन स्थिति में इस एक्सप्रेसवे पर भारतीय वायुसेना के फाइटर प्‍लेन उतारे जा सकेंगे | इस एक्‍सप्रेस वे पर अयोध्‍या जनपद में 3.20 किलोमीटर लंबी हवाई पट्टी पर लड़ाकू विमान के टेक ऑफ और लैंडिंग कर पाएंगे | 
  • गाजीपुर के हैदरिया गांव से शुरू होने वाला यह एक्‍सप्रेस लखनऊ में चांद सराय गांव पर जाकर खत्‍म होगा | 340 किलोमीटर लंबा यह एक्‍सप्रेस वे छह लेन का होगा, जिस पर दूरी लगभग तीन घंटे में पूरी की जा सकेगी |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here