PM Modi Poshan Abhiyaan 2020 के बारे में जानें

0
3228
Poshan Abhiyaan September 2020
Poshan Abhiyaan September 2020

Poshan Abhiyaan September 2020:-

Poshan Abhiyaan September 2020:– 2022 तक भारत को कुपोषण मुक्त बनाने के उद्देश्य से प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने समग्र पोषण योजना (Poshan Abhiyaan) शुरू की है | केंद्रीय सरकार के प्रमुख PM मोदी पोषण अभियान के तहत सभी राज्यों, जिलों और कस्बों को कवर किया जाएगा। लोग अब PM Modi Poshan Abhiyaan की गतिविधियों और विषयों की सूची ऑनलाइन http://poshanabhiyaan.gov.in/#/ पर देख सकते हैं |

इस PM पोषण अभियान की टैगलाइन सही पोशन देश रोशन (Sahi Poshan Desh Roshan) है | इस कार्यक्रम का उद्देश्य शिशुओं, गर्भवती महिला और स्तनपान कराने वाली माताओं को पर्याप्त पोषण प्रदान करना है |

सभी जिलों में SAM बच्चों की पहचान करने और उन्हें लक्षित तरीके से देखभाल और पोषण प्रदान करने के लिए पोशन माह की शुरूआत की गई है | पोषण अभियान भारत का प्रमुख कार्यक्रम है, जिसमें बच्चों, किशोरों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए पोषण संबंधी परिणामों में सुधार किया जाता है | यह लीवरेजिंग तकनीक, एक लक्षित दृष्टिकोण और अभिसरण द्वारा किया जाता है |

केंद्र सरकार इसे जन अभियान (जन आंदोलन) में बदलने के लिए पोषण अभियान के साथ बड़ी संख्या में लोगों को जोड़ना चाहती है | पोषण अभियान योजना 8 मार्च 2018 को 3 वर्षों के लिए 9046 करोड़ रुपये के समग्र बजट के साथ शुरू की गई थी | 31 मार्च, 2021 तक विस्तारित योजना से 10 करोड़ से अधिक लोग लाभान्वित होंगे |

Poshan Abhiyaan September 2020

पोषण अभियान क्या है:- Poshan Abhiyaan September 2020

पोषण अभियान (राष्ट्रीय पोषण मिशन) महिला और बाल विकास मंत्रालय का एक प्रमुख कार्यक्रम है | मिशन का उद्देश्य 2017-18 से शुरू होने वाले अगले तीन वर्षों के दौरान 0-6 वर्ष, किशोरियों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं से बच्चों की पोषण स्थिति में सुधार करना है |

इस अभियान का उद्देश्य विभिन्न कार्यक्रमों यानि आंगनवाड़ी सेवाओं, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, किशोरियों के लिए योजना, जननी सुरक्षा योजना, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, स्वच्छ भारत मिशन, सार्वजनिक वितरण प्रणाली, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के साथ अभिसरण प्राप्त करना है |

वर्तमान नीतियां प्रमुख रूप से गर्भवती माताओं और स्तनपान कराने वाले बच्चों पर केंद्रित हैं, लेकिन सरकार को यह भी सोचने की जरूरत है कि बढ़ते बच्चों को पोषण कैसे प्रदान किया जाए | उन्होंने कहा कि यूनिसेफ स्वच्छ भारत, मिशन इन्द्रधनुष, टीकाकरण नीतियों और पोशन अभियान जैसी पहल पर सरकार के साथ काम करना जारी रखेगा |

मोदी पोषण अभियान गतिविधियों की सूची:-

  • पोषण रैली
  • एनीमिया शिविर
  • क्षेत्र स्तरीय महासंघ (एएलएफ) बैठकें
  • CBE – समुदाय आधारित घटनाएँ (ICDS)
  • सामुदाियक रेडियो गतिविधियां
  • सहकारी / संघ
  • साइकिल रैली
  • दिन-एनआरएलएम एसएचजी मीट
  • डेफाइट डायरिया अभियान (D2)
  • किसान क्लब की बैठक
  • हाट बाजार गतिविधियां
  • किसानों का त्यौहार
  • घर का दौरा
  • स्थानीय नेता बैठक
  • नुक्कड़ नाटक /लोक कार्यक्रम
  • पंचायत की बैठक
  • पोषण मेला
  • प्रभात फेरी
  • शौचालयों को पानी उपलब्ध कराना
  • आंगनबाड़ी केंद्रों में सुरक्षित पेयजल
  • स्कूलों में सुरक्षित पेयजल
  • स्वयं सहायता समूह की बैठकें
  • युवा समूह की बैठक
  • पोषण वॉक (कार्यशाला) |

पोषण अभियान 2020 की विषय वस्तु:-

  • स्तनपान
  • किशोर Ed, आहार, विवाह की आयु
  • रक्ताल्पता
  • एंटेनाटल चेकअप
  • ईसीसीई
  • सूक्ष्म पोषक तत्व
  • विकास की निगरानी
  • स्वच्छता, जल, प्रतिरक्षा
  • पोषण (कुल मिलाकर पोषण आहार) |

पोषण माह:-

पोषण माह का प्राथमिक उद्देश्य पोषण के महत्व के बारे में जागरूकता फैलाना और परिवारों द्वारा आसानी से अपने बच्चों और गर्भवती या स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए पोषण के पूरक के लिए सरकारी सेवाओं तक पहुँचने में सहायता करना है |

देश से कुपोषण को मिटाने के लिए राष्ट्रीय पोषण माह का आयोजन किया जा रहा है, आइये हम सब मिलकर इस अभियान को आगे बढ़ाते हुए इसे सफल बनाएं | पोषण माह की शुरुआत 7 सितंबर 2020 से हो रही है | पीएम ने लोगों से भारत के कोने कोने तक पहुंचने के प्रयासों को शुरू करने और कुपोषण के उन्मूलन के लिए जागरूकता फैलाने का अनुरोध किया |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here