नए लोकसभा स्पीकर ओम बिरला का जीवन परिचय

0
1994
ओम बिरला

ओम बिरला लोकसभा स्पीकर:-

कोटा निर्वाचन क्षेत्र से ओम बिरला 17 वीं लोकसभा स्पीकर (Loksabha Speaker) होंगे | पहले लोकसभा स्पीकर (Loksabha Speaker), गणेश वासुदेव मावलंकर थे | अब तक 16 लोगों ने लोकसभा स्पीकर के रूप में कार्य किया है | लोकसभा स्पीकर (Loksabha Speaker) लोकसभा का प्रमुख होता है |

लोकसभा स्पीकर संसद के निचले सदन का प्रमुख होता है | सीधे शब्दों में यह कहा जा सकता है कि लोकसभा का स्पीकर लोकसभा का Boss होता है | लोकसभा स्पीकर का चयन लोकसभा द्वारा संसद के नवनिर्वाचित सदस्यों की पहली बैठक में उसके निर्वाचित सदस्यों में से किया जाता है | आइये जानते हैं नव निर्वाचित लोकसभा स्पीकर ओम बिरला के जीवन से जुडी मुख्य बातें |

बिरला का प्रारंभिक जीवन:-

Om Birla का जन्म 4 दिसंबर 1962 को हुआ था | इनके पिता का नाम श्रीकृष्ण बिड़ला और माता का नाम शकुंतला देवी है | उन्होंने Govt. Commerce college, कोटा और महर्षि दयानन्द सरस्वती विश्वविद्यालय, कोटा से Commerce में Masters पूरा किया |

उनका विवाह डॉ. अमिता बिरला से हुआ | ओम बिरला और डॉ. अमिता बिरला की 4 संतानें हैं 2 पुत्र और 2 पुत्रियां | ओम बिड़ला छात्र राजनीति में बहुत सक्रिय थे | उन्हें वर्ष 1979 में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय गुमानपुरा, कोटा में छात्र संघ के अध्यक्ष के रूप में चुना गया था | बाद में वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में एक प्रमुख सदस्य के रूप में शामिल हुए |

Also Read:- Amit Shah BJP की जीत के पीछे का बाहुबली

बिरला का राजनीतिक जीवन:-

  • वर्ष 1987 में वह भारतीय जनता युवा मोर्चा में शामिल हो गए और जल्द ही जिला अध्यक्ष बन गए | अगले 4 वर्षों में वे युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष बन गए | उन्होंने 6 वर्षों तक इस पद पर कार्य किया | इस अवधि के दौरान उन्होंने राष्ट्रीय सहकारी उपभोक्ता संघ लिमिटेड, नई दिल्ली में उपाध्यक्ष के रूप में कार्य किया और फिर जून 1992 से जून 1995 तक राजस्थान राज्य सहकारी उपभोक्ता संघ लिमिटेड, जयपुर के अध्यक्ष रहे |
  • वर्ष 1997 में उन्हें अखिल भारतीय भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था। उन्होंने 6 साल तक इस पद पर कार्य किया |
  • वर्ष 2003 में उन्होंने राजस्थान विधानसभा के सदस्य के रूप में कार्य किया |
  • वर्ष 2004 में बिड़ला को राजस्थान सरकार के संसदीय सचिव (MOS) के रूप में नियुक्त किया गया था | राजस्थान सरकार के संसदीय सचिव के रूप में उन्होंने कार्यकाल के दौरान गरीब, असहाय, गंभीर रोगियों को राज्य सरकार के माध्यम से 50 लाख रुपये तक की आर्थिक सहायता प्रदान की |
  • वे 2003, 2008 2013 में 12वी, 13वी एवं 14वीं राजस्थान विधानसभा के सदस्य रह चुके है |
  • वर्ष 2014 में ओम बिड़ला कोटा से 16 वीं लोकसभा के लिए चुने गए थे | उन्होंने इज्यराज सिंह को 4,44,040 मतों से हराया था | बाद में 14 अगस्त 2014 को उन्हें समिति, सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया |
  • वर्ष 2014 में उन्हें याचिका समिति, ऊर्जा संबंधी स्थायी समिति और सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय की सलाहकार समिति के सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया था
  • वर्ष 2015 में उन्हें उप समिति- III के सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया था |

ओम बिरला के द्वारा संभाले गए पूर्व दायित्व:-

  • 16वीं लोकसभा (वर्ष 2014) में कोटा-बून्दी लोकसभा क्षेत्र से सांसद |
  • दिसम्बर, 2003 से 2013 तक लगातार तीन बार राजस्थान विधानसभा सदस्य |
  • 31 मई 2004 को राजस्थान सरकार के संसदीय सचिव (राज्यमंत्री ) |
  • राष्ट्रीय उपाध्यक्ष -अखिल भारतीय जनता युवा मोर्चा ( लगातार 6 वर्ष तक )
  • प्रदेशाध्यक्ष –भारतीय जनता युवा मोर्चा राजस्थान प्रदेश ( लगातार 6 वर्ष तक )
  • जिलाध्यक्ष –भारतीय जनता युवा मोर्चा, कोटा ( 4 वर्ष )
  • उपाध्यक्ष- राष्ट्रीय सहकारी उपभोक्ता संघ लिमिटेड, नई दिल्ली |
  • अध्यक्ष – राजस्थान राज्य सहकारी उपभोक्ता संघ लिमिटेड, जयपुर |
  • निदेशक- नेशनल कोल इंडिया लिमिटेड, नई दिल्ली |
  • निदेशक- नेहरू युवा केन्द्र नई दिल्ली |
  • संयुक्त सचिव –राज. वाणिज्य महाविद्यालय, कोटा  |
  • छात्रसंघ अध्यक्ष – राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय गुमानपुरा, कोटा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here