मिशन वंदे भारत : 12 देशों में फंसे भारतीयों की स्वदेश वापसी

0
1234
मिशन वंदे भारत 2020

मिशन वंदे भारत 2020:

कोरोना महामारी के कारण दुनिया के कई देशों में फंसे लाखों भारतीयों को स्वदेश वापसी के लिए अब तक का सबसे बड़ा “मिशन वंदे भारत 2020 (Mission Vande Bharat)“, 7 मई गुरुवार से शुरू हो रहा है | एयर इंडिया 12 देशों में फंसे 15 हजार नागरिकों को वापस लाएगा | अमेरिका से भारतीयों के आने का सिलसिला 9 मई से शुरू होगा | इसके लिए अमेरिका के कई शहरों से भारत के कई शहरों के बीच कॉमर्शियल फ्लाइट की सेवा शुरू की जाएगी |

वाशिंगटन में भारतीय दूतावास की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, पहले चरण में एयर इंडिया 9 से 15 मई तक अमेरिका के कई शहरों से भारत के लिए नॉन-शेड्यूल कॉमर्शियल फ्लाइट सेवा शुरू करेगी | आने वाले यात्रियों को पूरा किराया देना होगा | उनका किराया भारत सरकार नहीं देगी | आने के बाद उनका मेडिकल टेस्ट भी होगा |

अपने तरीके के इस सबसे बड़े मिशन के लिए 64 उड़ानों और नौसेना के जंगी जहाजों से हजारों भारतीय स्वदेश लौटेंगे | वंदे भारत मिशन के तहत अमेरिका, ब्रिटेन, बांग्लादेश, मलेशिया, फिलीपिंस, सिंगापुर, यूएई, सऊदी अरब, कतर, बहरीन, कुवैत और ओमान में फंसे भारतीयों को लाया जाएगा | गल्फ देशों से भारतीयों को लाने के लिए नौसेना की भी मदद ली जा सकती है | इसके लिए नौसेना ने पहले से तैयारी कर ली थी | बस उसे आदेश का इंतजार है |

मिशन वंदे भारत 2020 का Flight Schedule:-

सिर्फ खाड़ी देशों में फंसे करीब 3 लाख भारतीयों अब तक वतन वापसी के लिए रजिस्ट्रेशन करा लिया है | इसी तरह बाकी देशों में भी बड़ी तादाद में भारतीय नागरिक भारतीय दूतावासों/उच्चायोगों में रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं ताकि वे लौट सकें | पहले हफ्ते में खाड़ी से 26, साउथ ईस्ट एशिया से 17 और अमेरिका, ब्रिटेन और बांग्लादेश से 7-7 स्पेशल फ्लाइटों के जरिए भारतीयों की घरवापसी होगी |

मिशन वंदे भारत 2020
  • पहले दिन आबू धाबी, दुबई, रियाद, दोहा, लंदन, सैन फ्रैंसिस्को, सिंगापुर, कुआलालंपुर, ढाका और मनीला से 2300 भारतीयों को लाया जाएगा |
  • दूसरे दिन यानी 8 मई को बहरीन और कुवैत से करीब 2000 भारतीयों को लाया जाएगा |
  • तीसरे दिन भी इतनी ही तादाद में भारतीयों को लाया जाएगा |
  • चौथे दिन करीब वॉशिंगटन समेत कई जगहों से 1800 भारतीयों को लाया जाएगा |
  • इसी तरह पांचवें दिन 2 हजार से थोड़े ज्यादा भारतीयों को लाया जाएगा | इसमें सऊदी अरब में रह रहे भारतीय भी शामिल होंगे |
  • छठे दिन 2500 भारतीयों को लाने का प्लान है |
  • सातवें दिन करीब 2 हजार भारतीयों को लाने का प्लान है |

मालदीव से 1000 भारतीयों के लिए ‘सेतु समुद्र’ अभियान:-

द्वीपीय देश मालदीव में फंसे करीब 1 हजार भारतीयों को लाने के लिए इंडियन नेवी का ‘सेतु समुद्र‘ अभियान मंगलवार से शुरू हो चुका है | नेवी अपने युद्धपोतों INS जलश्व और INS मगर को मालदीव भेज रही है | दोनों क्रमशः 8 मई और 10 मई को वहां पहुंचेंगे | इसके अलावा नेवी ने 12 अन्य युद्धपोतों को standby में रखा है ताकि जरूरत पड़ने पर खाड़ी में फंसे भारतीय नागरिकों को बड़े पैमाने पर घर लाया जा सके |

मिशन वंदे भारत फेयर:-

एयर इंडिया फंसे भारतीय के स्वदेश वापसी के लिए कर्मशियल फेयर ले रहा है | अमेरिका से आने वाले लोगों को 1 लाख रुपये जबकि ब्रिटेन से लौटने वाले लोगों को 50 हजार रुपये देने होंगे | दिल्ली से ढाका की फ्लाइट के लिए 12 हजार रुपये देने होंगे | सबसे ज्यादा व्यस्त दुबई-कोच्चि रूट पर 15 हजार प्रति व्यक्ति देना होगा |

मिशन वंदे भारत में लौटने वाले लोगों को यात्रा का पूरा खर्च और स्वदेश वापसी के बाद 14 दिनों के हॉस्पिटल या कहीं अन्य जगह क्वारंटीन सुविधा के लिए पैसे देने होंगे | नौसेना ने इस मिशन को समुद्र सेतु (Samudra Setu) दिया है | नौसेना के जहाजों से लौटने वाले लोगों को भी पैसा देना पड़ सकता है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here