स्वर्ण कर्ज माफी योजना : जानें, किन किसानों को मिलेगा सोना कर्ज माफी का लाभ

0
603
स्वर्ण कर्ज माफी योजना
स्वर्ण कर्ज माफी योजना

स्वर्ण कर्ज माफी योजना:-

किसानों को कृषि कार्यों के लिए बीज, खाद, उर्वरक, कृषि यंत्र आदि अनेक कार्यों के लिए कर्ज लेना पड़ता है | ऐसे में वे आवश्यकता के समय स्थानीय और बाहर के साहूकारों से कर्ज ले लेते हैं जिस पर काफी ऊंची दर से ब्याज देना पड़ता है | साहूकारों द्वारा किसानों को कर्ज कुछ चीज गिरवी रखकर दिया जाता है | ऐसे ही महाराष्ट्र के कई किसानों ने सोना गिरवी रखकर साहूकारों से कर्ज लिया हुआ है | इसमें से अधिकांश किसान कर्ज नहीं चुका पा रहे हैं | इसे देखते हुए महाराष्ट्र सरकार की ओर से किसानों को कर्ज माफी का लाभ प्रदान किया जा रहा है |

किन किसानों को मिलेगा कर्ज माफी का लाभ:-

महाराष्ट्र में लाइसेंसधारक साहूकारों ने अपने क्षेत्र के बाहर के किसानों को स्वर्ण पर कर्ज देने से सोना कर्ज माफी होने के बाद अनेक किसानों को कर्ज माफी से वंचित रहना पड़ा था | लेकिन न्यायालय ने ऐसे किसानों पर हो रहे अन्याय को दूर करते हुए कार्यक्षेत्र के बाहर के साहूकारों से स्वर्ण कर्ज लेन वाले किसानों को भी कर्जमाफी देने का निर्णय दिया है | जिस कारण शासन ने भी अपने यह शर्त अब हटा दी है | जिस कारण सोना गिरवी रखकर खेती करने वाले जिले के 2336 किसान कर्ज मुक्त होंगे | बता दें कि स्वर्ण कर्ज माफी योजना में वे ही किसान पात्र होंगे जिन्होंने 30 नवंबर 2014 से पूर्व लाइसेंसधारक साहूकारों से सोना गिरवी रख कर्ज लिया है | उनका कर्ज माफ किया जाएगा |

शासन ने जारी की कर्ज माफी की पहली किस्त:-

महाराष्ट्र सोना गिरवी रखकर साहूकारों से कर्ज लेने वाले किसानों को कर्ज मुक्त करने के लिए इसके लिए जिले को शासन से 6 करोड 5 लाख 84 हजार 910 रुपए की आवश्यकता है | किंतु शासन की ओर से पहली किश्त के रुप में 1 करोड़ 74 लाख 58 हजार 220 रुपए की निधि जिले के लिए उपलब्ध कराई गई है | फिलहाल इस राशि से पातूर व अकोला तहसील के किसानों को स्वर्ण कर्ज मुक्त कराया जाएगा | जबकि अन्य किसानों को प्रतीक्षा करनी होगी |

सबसे पहले इन दो जिलों के किसानों को मिलेगा स्वर्ण कर्ज माफी का लाभ:-

महाराष्ट में साहूकारों से सोना गिरवी रखकर कर्ज लेने वाले किसानों में सबसे पहले पातूर और अकोला तहसील के किसानों को कर्ज माफी का लाभ दिया जाएगा | बता दें इन तहसीलों के 1 हजार 1637 किसानों ने साहूकारों से कर्ज लिया था | जिसकी राशि 4 करोड़ 57 लाख 80 हजार 21 रुपए है | किन्तु प्रत्यक्ष में 1 करोड़ 74 लाख रुपए की निधि मिलने से अकोला व पातूर तहसील के सभी किसान कर्जमुक्त नहीं हो सकेंगे | कम किसान पात्र पाए जाने से अन्य किसानों को फिलहाल इस योजना का लाभ नहीं मिल रहा है | आगे इन अन्य जिलों को भी लाभ दिए जाने की उम्मीद है |

शर्त हटाने के बाद अब 2336 किसानों को मिलेगा स्वर्ण कर्ज माफी का लाभ:-

स्वर्ण कर्ज माफी के लिए कार्यक्षेत्र की शर्त होने से जिले के केवल 49 किसान ही कर्जमुक्ति के लिए पात्र पाए गए थे | किंतु इस शर्त को हटाने की वजह से जिले के 2336 किसानों को इसका लाभ मिलेगा | बता दें कि विदर्भ व मराठवाड़ा के जिन किसानों ने 30 नवंबर 2014 से पूर्व लाइसेंसधारक साहूकारों से सोना गिरवी रख कर्ज लिया है |

स्वर्ण कर्ज माफी योजना में पहले ये शर्त थी कि इस योजना के तहत जिन लाइसेंसधारक साहूकारों ने अपने लाइसेंस में तय किए गए क्षेत्र के बाहर के किसानों को स्वर्ण कर्ज दिया है | ऐसे किसानों की कर्जमाफी नहीं होगी | इस शर्त की वजह से जिले से केवल 49 किसान ही कर्ज माफी के लिए पात्र पाए गए | जिन पर 3 लाख 96 हजार का  स्वर्ण कर्ज था | किंतु इस प्रकरण में न्यायालय की ओर से दिए गए निर्णय की वजह से राज्य सरकार ने साहूकारों द्वारा लाइसेंस में तय किए क्षेत्र के बाहर के किसानों को दिए सोने के कर्ज को भी माफ करने का निर्णय लिया गया है | अब जिले के 2336 किसानों की स्वर्ण कर्ज माफी योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा |

महाराष्ट्र महात्मा ज्योतिराव फुले कर्ज माफी योजना: राज्य में दो लाख रुपए के कर्ज भी किए जा रहे हैं माफ:-

स्वर्ण कर्ज माफी योजना के अलावा महाराष्ट्र में महाराष्ट्र महात्मा ज्योतिराव फुले कर्ज माफी योजना के तहत उन किसानों के कर्ज भी माफ किए जा रहे हैं जिन्होंने बैंकों से क्रेडिट कार्ड के माध्यम लोन लिया है | इसके तहत 2 लाख रुपए तक के ऋण माफ किए जा रहे हैं | इस योजना के तहत उन किसानों के कर्ज माफ किए जाएंगे जिन्होंने 1 अप्रैल 2015 से 31 मार्च 2019 तक लघु अवधि के फसली ऋण और पुनर्गठित फसली ऋण लिया है |

राज्य सरकार द्वारा ऋण राहत राशि का भुगतान सीधे लाभार्थी किसानों के खाते में ट्रांसफर किया जाएगा | बता दें कि किसानों द्वारा राष्ट्रीयकृत बैंक, व्यापारियों, जिला केंद्रीय सहकारी बैंकों, ग्रामीण बैंकों, विभिन्न कामकाजी सहकारी समितियों और पुनर्गठित फसल ऋणों से लिए गए फसली ऋणों को माफ कर किया जाएगा | इस योजना का लाभ राज्य के छोटे और सीमांत किसानों को मिलेगा |

महाराष्ट्र कर्जमाफी योजना / सोना कर्ज माफी योजना महाराष्ट्र के संबंध अधिक जानकारी के लिए अपने क्षेत्र के कृषि विभाग या उद्यान विभाग से संपर्क कर सकते हैं | इसके अलावा इसकी आधिकारिक वेबसाइट https://mjpsky.maharashtra.gov.in/index.html पर विजिट कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here