Aadhaar paperless offline e-KYC: जानें ऑफलाइन आधार वेरिफिकेशन के बारे में सब कुछ

0
516

Aadhaar paperless offline e-KYC क्या है:-

आधार पेपरलेस ऑफलाइन ई-केवाईसी (Aadhaar paperless offline e-KYC) एक सुरक्षित और साझा करने योग्य दस्तावेज़ है | जिसका इस्तेमाल आधार कार्ड धारक (Aadhaar Card Holder) अपने ऑफलाइन पहचान के लिए कर सकता है | यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक UIDAI रेसिडेंट पोर्टल का इस्तेमाल कर इस सुविधा का लाभ ले सकते हैं |

विवरण में नाम, पता, फोटो, लिंग, जन्म तिथि, पंजीकृत मोबाइल नंबर का हैश (hash of registered Mobile Number), पंजीकृत ईमेल पते का हैश (hash of registered Email Address) और reference id होगा जिसमें आधार संख्या के अंतिम 4 अंक होंगे और उसके बाद डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित XML (digitally signed XML) में time stamp होगा | यह आधार संख्या एकत्र करने या संग्रहीत करने की आवश्यकता के बिना सेवा प्रदाताओं/ऑफ़लाइन सत्यापन चाहने वाली संस्था (OVSE) को ऑफ़लाइन आधार सत्यापन सुविधा प्रदान करेगा |

इस नए नियम में आधार होल्डर को एक विकल्प मिलता है कि वह आधार ई-केवाईसी वेरिफिकेशन के प्रोसेस के लिए अपने आधार पेपरलेस ऑफलाइन e-KYC को किसी अधिकृत एजेंसी को दे सकता है | इसके बाद वह एजेंसी आधार होल्डर की ओर दिए गए आधार संख्या और नाम, पता आदि को सेंट्रल डेटाबेस के साथ मिलान करता है | अगर मिलान सही पाया जाता है तो वेरिफिकेशन की प्रक्रिया को आगे बढ़ा दी जाती है |

आधार पेपरलेस ऑफलाइन ई-केवाईसी का मतलब उस डिजिटली साइन्ड दस्तावेज से है जो यूआईडीएआई की ओर से जारी किया जाता है | इस दस्तावेज में आधार नंबर के अंतिम 4 अक्षर, नाम, लिंग, पता, जन्मतिथि और फोटो की जानकारी होती है | सरकार की ओर से जारी नया नियम आधार होल्डर को यह अधिकार देता है कि वह वेरिफिकेशन एजेंसी को इस बात के लिए मना कर सकता है कि उसका कोई भी e-kyc data store न किया जाए | जब वेरिफिकेशन करनी हो तभी ई-केवाईसी डेटा का इस्तेमाल होगा, वरना एजेंसी आधार होल्डर की कोई जानकारी अपने पास नहीं रखेगी | यूजर के कहने पर आधार वेरिफिकेशन एजेंसी को सभी डेटा हटाने होंगे और इसके बारे में user को acknowledgement देना होगा |

ऑफलाइन आधार वेरिफिकेशन के प्रकार

नियमों के अनुसार, UIDAI निम्नलिखित प्रकार की ऑफ़लाइन वेरिफिकेशन सेवाएं प्रदान करेगा:

  • QR Code Verification
  • Aadhaar Paperless Offline e-KYC Verification
  • e-Aadhaar Verification
  • Offline Paper Based Verification
  • UIDAI द्वारा समय-समय पर शुरू किए गए Offline Verification का कोई अन्य तरीका

UIDAI QR Code, Aadhaar Paperless Offline e-KYC या e-Aadhaar download करने के लिए मोबाइल एप्लिकेशन, वेबसाइट या अन्य माध्यम मुहैया कराता है |

आधार वेरिफिकेशन के तरीके:-

ऑनलाइन आधार वेरिफिकेशन के लिए कई अन्य मौजूदा सिस्टम हैं | आधार वेरिफिकेशन के विभिन्न तरीके निम्नलिखित हैं जो ऑफ़लाइन विकल्पों के साथ मौजूद हैं:

  • Demographic Authentication
  • One-time PIN-based Authentication
  • Biometric-based Authentication
  • Multi-factor Authentication

सरकार ने Aadhaar Verification e-KYC प्रक्रिया को ऑफ़लाइन या ऑनलाइन मोड के माध्यम से आधार वेरिफिकेशन के काम को अधिक सुविधाजनक बना दिया है | आधार डेटा को verify करने वाली अधिकृत एजेंसियां ​​कोई भी उपयुक्त Authentication mode चुन सकती हैं और सुरक्षा बढ़ाने के लिए मल्टी फैक्टर ऑथेंटिकेशन का विकल्प भी चुन सकती हैं |

Frequently Asked Questions(FAQs):-

Aadhaar paperless offline e-KYC क्या है?

यह एक सुरक्षित साझा करने योग्य दस्तावेज़ है जिसका उपयोग किसी भी आधार संख्या धारक द्वारा पहचान के ऑफ़लाइन सत्यापन के लिए किया जा सकता है | इस सुविधा का उपयोग करने के इच्छुक निवासी को यूआईडीएआई निवासी पोर्टल पर पहुंचकर अपना डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित आधार विवरण तैयार करना होगा | विवरण में नाम, पता, फोटो, लिंग, जन्म तिथि, पंजीकृत मोबाइल नंबर का हैश, पंजीकृत ईमेल पते का हैश और संदर्भ आईडी होगा जिसमें आधार संख्या के अंतिम 4 अंक होंगे और उसके बाद डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित XML में टाइम स्टैंप होगा | यह आधार संख्या एकत्र करने या संग्रहीत करने की आवश्यकता के बिना सेवा प्रदाताओं/ऑफ़लाइन सत्यापन चाहने वाली संस्था (OVSE) को ऑफ़लाइन आधार सत्यापन सुविधा प्रदान करेगा |

Offline Aadhaar कैसे Generate करें?

सबसे पहले https://resident.uidai.gov.in/offlineaadhaar पर जाएं |
स्क्रीन में ‘Aadhaar Number’ या ‘VID’ दर्ज करें और ‘Security Code’ का उल्लेख करें, फिर ‘Send OTP’ या ‘Enter TOTP’ पर क्लिक करें |
OTP दिए गए आधार नंबर या VID ​​के लिए पंजीकृत मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा |
TOTP, UIDAI के m-Aadhaar मोबाइल एप्लिकेशन पर उपलब्ध होगा |
प्राप्त OTP/TOTP दर्ज करें |
एक share code दर्ज करें जो Zip फ़ाइल का पासवर्ड हो और ‘Download’ बटन पर क्लिक करें |
डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित XML वाली Zip file को उस डिवाइस पर डाउनलोड किया जाएगा जिसमें उपर्युक्त चरणों का पालन किया गया है |

इस Aadhaar Paperless Offline e-KYC के उपयोगकर्ता कौन हैं?

कोई भी आधार संख्या धारक जो UIDAI वेबसाइट से डाउनलोड किए गए डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित XML का उपयोग करके किसी भी सेवा प्रदाता (OVSE) को अपनी पहचान स्थापित करना चाहता है, वह इस सेवा का उपयोगकर्ता हो सकता है | सेवा प्रदाता के पास अपनी सुविधा पर यह आधार पेपरलेस ऑफलाइन ई-केवाईसी प्रदान करने का प्रावधान होना चाहिए और ऑफ़लाइन सत्यापन करना चाहिए |

इस Paperless Offline eKYC दस्तावेज़ को सेवा प्रदाता के साथ कैसे साझा करें?

निवासी अपनी पारस्परिक सुविधा के अनुसार सेवा प्रदाता को share code के साथ XML Zip file साझा कर सकते हैं |

यह Aadhaar Paperless Offline e-KYC दस्तावेज़ निवासियों द्वारा ऑफ़लाइन प्रस्तुत किए गए अन्य पहचान दस्तावेजों से कैसे भिन्न है?

Identity verification केवल सेवा प्रदाता को एक पहचान दस्तावेज जैसे पैन कार्ड, पासपोर्ट आदि प्रदान करके पूरा किया जा सकता है | हालाँकि, ये सभी दस्तावेज़, जिनका उपयोग पहचान के लिए किया जा सकता है, अभी भी जाली और नकली हो सकते हैं, जो तुरंत ऑफ़लाइन सत्यापित करना संभव हो भी सकता है और नहीं भी | दस्तावेज़ सत्यापनकर्ता के पास दस्तावेज़ या उसमें मौजूद जानकारी की प्रामाणिकता को सत्यापित करने के लिए कोई तकनीकी साधन नहीं है और दस्तावेज़ निर्माता पर भरोसा करना है | जबकि, Aadhaar Paperless Offline e-KYC का उपयोग करके आधार संख्या धारक द्वारा उत्पन्न XML फाइल UIDAI Digital Signature का उपयोग करके डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित दस्तावेज है | इस प्रकार, सेवा प्रदाता फ़ाइल की जनसांख्यिकीय सामग्री को सत्यापित कर सकता है और ऑफ़लाइन सत्यापन करते समय इसे प्रामाणिक होने के लिए प्रमाणित कर सकता है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here