किसान कर्ज माफी योजना: इन किसानों को नहीं मिलेगा कर्ज माफी योजना का लाभ

0
270
किसान कर्ज माफी योजना
किसान कर्ज माफी योजना

किसान कर्ज माफी योजना- किसानों का पुराना कर्जा माफ करने के लिए कई राज्यों में ऋण माफी योजना चलाई जा रही है | इस योजना का उद्देश्य किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करना है |

ऋण माफी योजना के माध्यम से सरकार चाहती है कि किसानों के पुराने कर्ज माफ किए जाएं ताकि किसानों को बैंकों से कृषि संबंधी कार्यों के लिए नया ऋण मिल सकें | राजस्थान, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, पंजाब, झारखंड आदि राज्यों में ऋण माफी का लाभ किसानों को प्रदान किया जा रहा है |

बता दें कि सरकार की इस ऋण माफी योजना का लाभ छोटे और सीमांत किसानों को मिलेगा | इस योजना के लिए कुछ नियम, शर्तें और पात्रता निर्धारित की गईं हैं | उन्हीं के आधार पर किसानों के कर्ज माफ किए जाते हैं |

हालांकि अलग-अलग राज्यों में पात्रता और शर्तों या नियमों में थोड़ा बहुत अंतर हो सकता है लेकिन सामान्यत: पात्रता और शर्तें संबंधी नियम लगभग सभी राज्यों के किसानों के लिए एक जैसे ही हैं |

ऋण माफी योजना क्या है :- किसान कर्ज माफी योजना

अलग-अलग राज्य सरकारें अपने राज्य के किसानों के लिए बैंक से मिलकर ऋण माफी की घोषणा करती हैं | इसके तहत छोटे और सीमांत किसानों के 50 हजार से लेकर दो लाख तक के कर्ज माफ किए जाते हैं |

लेकिन जानकारी के अभाव में सभी किसान जो ऋण माफी के पात्र नहीं हैं वे भी इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदन कर देते हैं | परिणामस्वरूप उन्हें ऋण माफी का लाभ नहीं मिल पाता है |

क्योंकि ऋण माफी से पहले बैंक की ओर से आपके आवेदन पत्र का सत्यापन किया जाता है | आपके द्वारा दी गई जानकारी की जांच की जाती है | इसके बाद आपको ऋण माफी योजना का लाभ प्रदान किया जाता है | ऐसे में आपको इसके नियम, शर्तें और पात्रता के बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी है |

ऋण माफी योजना के लिए पात्रता/शर्तें:- किसान कर्ज माफी योजना

  • ऋण माफी योजना का लाभ लेने के लिए किसान संबंधित राज्य का मूल निवासी होना चाहिए | 
  • किसान की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए |
  • किसान के पास वैध आधार नंबर होना जरूरी है |
  • एक परिवार से एक ही फसल ऋण धारक सदस्य योजना का पात्र होगा |
  • किसान के पास मान्य राशन कार्ड होना चाहिए |
  • किसान के पास किसान क्रेडिट कार्ड होना चाहिए |
  • आवेदक किसान अल्पवधि फसल ऋण धारक होने चाहिए |
  • आवेदक के पास मानक फसल ऋण खाता होना चाहिए |
  • फसल ऋण राज्य में स्थित अर्हत्ताधारी बैंक प्राप्त बैंक से निर्गत होना चाहिए |
  • आवेदक के पास मानक फसल ऋण खाता होना चाहिए |
  • दिवंगत ऋण धारक के परिवार को भी इस योजना का लाभ दिया जाएगा |
  • यह योजना सभी फसल ऋण धारक के लिए स्वैच्छिक होगी |
  • अगर किसी किसान ने एक से अधिक बैंक से ऋण लिया है तो सिर्फ इस योजना के अंतर्गत सहकारी बैंक से लिया गया ऋण को माफ किया जाएगा |

कर्ज माफी योजना का लाभ इन्हें नहीं मिलेगा :- किसान कर्ज माफी योजना

ऋण माफी योजना का लाभ छोटे और सीमांत किसानों को दिया जाना है | नीचे दिए गए पद पर कार्य करने वाले लोग ऋण माफी योजना के पात्र नहीं होंगे चाहे वे किसान ही क्यूं न हो| ये इस प्रकार से हैं-

  • राज्य सभा/लोक सभा/विधान सभा के पूर्व एवं वर्तमान सदस्य / राज्य सरकार के पूर्व या वर्तमान मंत्री/नगर निकायों के वर्तमान अध्यक्ष/जिला परिषद के वर्तमान अध्यक्ष या मंत्री/नगर निकायों के वर्तमान अध्यक्ष/जिला परिषद के वर्तमान अध्यक्ष इस योजना के पात्र नहीं मानें जाएंगे | 
  • केंद्र या राज्य, विभाग एवं इनके क्षेत्रीय इकाई/राज्य सरकारके मंत्रालय/पीएसई एवं संबद्ध कार्यालय, सरकार के अधीन स्वायत्त संस्थाओं के सभी कार्यरत या सेवानिवृत्त पदाधिकारी एवं कर्मी तथा स्थानीय निकायों के नियमित कर्मी (मल्टीटाकिंग स्टाफ/ग्रुप फोर्थ ग्रुप डी के कर्मी को छोडक़र) पात्र नहीं होंगे |
  • सभी सुपर न्यूटिटेड / सेवानिवृत्त पेंशनधारी जिनकी मासिक पेंशन 10 हजार रुपए या इससे अधिक है (मल्टीटाकिंग स्टाफ/ग्रुप फोर्थ/ग्रुप डी के कर्मी को छोडक़र) वे पात्र नहीं मानें जाएंगे |
  • गत निर्धारण वर्ष 2020-21 में आयकर देने वाले सभी व्यक्ति इस योजना का लाभ नहीं ले सकेंगे |
  • इसके अलावा सभी संबंधित डॉक्टर, इंजीनियर, वकील, चार्टर्ड अकाउंटेंट एवं आर्किटेक्ट, जो प्रैक्टिस कर रहे हैं |

ऋण माफी योजना के लिए आवेदन की प्रक्रिया:-

ऋण माफी योजना के लिए राज्य के किसान वाणिज्यिक बैंक, अनुसूचित सहकारी बैंक एवं ग्रामीण बैंक में किसान आवेदन कर सकते हैं | इस योजना के तहत कॉमन सर्विस सेंटर तथा बैंक के द्वारा आवेदन प्राप्त करने की प्रक्रिया है जिससे आवेदकों को उनके अपने निकटतम बैंक शाखा से संपर्क कर वहां से फॉर्म लेना होगा | इसके बाद फॉर्म में पूछी गई सभी सूचनाओं को सही से भरना होगा | इसके बाद मांगे गए दस्तावेजों को संलग्न करना होगा और इसे बैंक में जमा कराना होगा | केवाईसी होने के बाद पात्र किसानों के ऋण माफ किए जाएंगे |

ऋण माफी योजना में आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज:-

  • आवेदन करने वाले किसान का आधार कार्ड
  • आवेदन करने वाले किसान के जमीन के दस्तावेज
  • राज्य का मूल निवास प्रमाण पत्र 
  • पहचान पत्र
  • किसान का बैंक अकाउंट पासबुक (बैंक पासबुक के प्रथम पृष्ठ की छाया प्रति)
  • आधार से लिंक मोबाइल नंबर
  • किसान का पासपोर्ट साइज फोटो |

Frequently Asked Questions (FAQs):-

ऋण माफी योजना क्या है?

अलग-अलग राज्य सरकारें अपने राज्य के किसानों के लिए बैंक से मिलकर ऋण माफी की घोषणा करती हैं | इसके तहत छोटे और सीमांत किसानों के 50 हजार से लेकर दो लाख तक के कर्ज माफ किए जाते हैं | लेकिन जानकारी के अभाव में सभी किसान जो ऋण माफी के पात्र नहीं हैं वे भी इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदन कर देते हैं | परिणामस्वरूप उन्हें ऋण माफी का लाभ नहीं मिल पाता है | क्योंकि ऋण माफी से पहले बैंक की ओर से आपके आवेदन पत्र का सत्यापन किया जाता है | आपके द्वारा दी गई जानकारी की जांच की जाती है | इसके बाद आपको ऋण माफी योजना का लाभ प्रदान किया जाता है | ऐसे में आपको इसके नियम, शर्तें और पात्रता के बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी है |

ऋण माफी योजना में आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या है?

आवेदन करने वाले किसान का आधार कार्ड
आवेदन करने वाले किसान के जमीन के दस्तावेज
राज्य का मूल निवास प्रमाण पत्र 
पहचान पत्र
किसान का बैंक अकाउंट पासबुक (बैंक पासबुक के प्रथम पृष्ठ की छाया प्रति)
आधार से लिंक मोबाइल नंबर
किसान का पासपोर्ट साइज फोटो |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here