झारखंड फसल राहत योजना क्या है? जानें इसके लाभ और विशेषताएं

0
942
झारखंड किसान कर्ज माफी योजना

झारखंड फसल राहत योजना-

केंद्र सरकार तथा सभी राज्य सरकारों द्वारा किसानों की आय में वृद्धि करने का निरंतर प्रयास किया जाता है | कई बार किसानों को प्राकृतिक आपदाओं के कारण भी नुकसान उठाना पड़ता है | इसी बात को ध्यान में रखते हुए झारखंड सरकार द्वारा झारखंड फसल राहत योजना का आरंभ किया गया है | झारखंड सरकार ने झारखंड फसल राहत योजना प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के स्थान पर आरंभ की है |

इस योजना के अंतर्गत यदि किसानों को किसी भी प्राकृतिक आपदा के कारण फसल का नुकसान होता है तो इस स्थिति में बीमा कंपनी द्वारा पंजीकृत किसान को नुकसान की राशि प्रदान की जाएगी | इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को प्रीमियम की राशि का भुगतान करना होगा | Fasal Rahat Yojana के अंतर्गत सूखा पड़ना, ओले पड़ना आदि जैसी प्राकृतिक आपदाएं शामिल की गई हैं |

यदि प्रदेश के किसान योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो उन्हें इस योजना के अंतर्गत आवेदन करवाना होगा | झारखंड फसल राहत योजना की वजह से अब किसानों को नुकसान नहीं होगा जिससे कि उनकी आय बढ़ेगी और वह आत्मनिर्भर बनेंगे | इस योजना के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए झारखंड सरकार द्वारा 100 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है। ऐसा माना जा रहा है कि यह योजना दिसंबर 2020 के अंत तक आरंभ कर दी जाएगी |

झारखंड फसल राहत योजना का उद्देश्य:-

झारखंड फसल राहत योजना का मुख्य उद्देश्य प्राकृतिक आपदाओं के कारण हुए नुकसान में किसानों की आर्थिक सहायता करना है | इस योजना के माध्यम से किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा तथा वह सशक्त बनेंगे | Fasal Rahat Yojana के माध्यम से किसानों की आय में भी वृद्धि होगी | अब किसान फसल को होने वाले नुकसान की चिंताओं से मुक्त रहेंगे और खेती की तरफ उनका ध्यान लगा पाएगा |

राज्य सरकार ने झारखंड फसल राहत योजना के साथ किसानों का ऋण माफ करने का भी निर्णय लिया है | इस योजना के अंतर्गत किसानों को दिए गए ऋण को माफ किया जाएगा | जिसके लिए सरकार द्वारा 2000 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है | इस योजना को भी दिसंबर 2020 के अंत तक आरंभ कर दिया जाएगा | ऋण माफ करने के लिए सरकार द्वारा एक पोर्टल भी आरंभ किया जाएगा | जिसमें सभी किसानों का डाटा एकत्रित किया जाएगा | प्रशासन द्वारा सभी बैंकों से सभी कर्ज लिए हुए किसानों का आधारइ नेबल करने के लिए कहा जा रहा है | अब तक कुल 12 लाख लोन अकाउंट में से 6 लाख लोन अकाउंट का आधार इनेबल हो चुका है |

झारखंड फसल राहत योजना के लाभ तथा विशेषताएं:-

  • झारखंड फसल राहत योजना के अंतर्गत किसानों को प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल पर नुकसान होने पर आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी |
  • इस योजना को सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के स्थान पर आरंभ किया है |
  • इस योजना के अंतर्गत नुकसान की राशि पंजीकृत किसानों को बीमा कंपनी द्वारा प्रदान की जाएगी |
  • सभी किसान जो झारखंड फसल राहत योजना का लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण करवाना होगा |
  • Jharkhand  Fasal Rahat Yojana के माध्यम से किसानों की आय में वृद्धि होगी तथा वे आत्मनिर्भर बनेंगे |
  • झारखंड फसल राहत योजना के कार्यान्वयन के लिए सरकार द्वारा 100 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया गया है |
  • झारखंड फसल राहत योजना के अंतर्गत पंजीकृत किसानों को प्रीमियम की राशि का भुगतान करना होगा |
  • इस योजना को दिसंबर 2020 के अंत तक आरंभ कर दिया जाएगा |

झारखंड फसल राहत योजना के महत्वपूर्ण दस्तावेज:-

  • किसान झारखंड का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • वह सभी किसान इस योजना के पात्र होंगे जो पहले से किसी बीमा योजना का लाभ नहीं ले रहे हैं।
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • किसान का आईडी कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • निवास प्रमाण पत्र
  • खेत का खाता नंबर/खसरा नंबर के पेपर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • फोन नंबर
  • आय प्रमाण पत्र

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here