Happy Vasant Panchami 2022: Wishes, Images, WhatsApp Status, Quotes, and Messages

0
1382
Vasant Panchami 2022
Happy Vasant Panchami 2022 Images

Vasant Panchami 2022:-

हिंदू धर्म में हर एक व्रत और त्योहार का अपना अलग महत्व है | हर एक व्रत में विधि विधान के साथ ईश्वर की पूजा की जाती है और घर के कल्याण के लिए प्रार्थना की जाती है | ऐसे ही व्रत त्योहारों में से एक है बसंत पंचमी का त्योहार | ऐसा माना जाता है कि इस दिन पूरे श्रद्धा भाव से माता सरस्वती की पूजा करने से सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती है | खासतौर पर जो लोग शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े हुए हैं उनकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं |

हर साल माघ के महीने में बसंत पंचमी का त्योहार बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है | यह पर्व माघ महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाया जाता है | बसंत ऋतु को सभी 6 ऋतुओं में ऋतुराज के नाम से जाना जाता है | ऐसी मान्यता है कि बसंत पंचमी में माता सरस्वती का जन्म हुआ था इसलिए इस दिन उन्ही की पूजा का विधान है | आइए जानें इस साल कब मनाया जाएगा बसंत पंचमी का त्योहार और इसका क्या महत्व है |

Vasant Panchami 2022

बसंत पंचमी तिथि और शुभ मुहूर्त:- Vasant Panchami 2022

  • इस साल बसंत पंचमी का त्योहार  05 फरवरी 2022, शनिवार के दिन मनाया जाएगा | 
  • हिंदू पंचांग के अनुसार हर वर्ष बसंत पंचमी माघ माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाई जाती है |
  • ऐसे में पंचमी तिथि आरंभ – 05 फरवरी, शनिवार, प्रातः 03 बजकर 48 मिनट पर |
  • पंचमी तिथि समापन 06 फरवरी, रविवार, प्रातः 03 बजकर 46 मिनट तक |
  • उदया तिथि में पंचमी तिथि 05 फरवरी को पड़ेगी इसलिए इसी दिन बसंत पंचमी मनाई जाएगी | 

Happy Vasant Panchami 2022 Wishes, Quotes, and Messages in Hindi:-

आई बसंत और खुशियाँ लायी
कोयल गाती मधुर गीत प्यार के
चारों और जैसे सुगंध छाई
फूल अनेकों महके बसंत के |

मां सरस्वती का वरदान हो आपको, हर दिन नई मिले ख़ुशी आपको, दुआ हमारी है खुदा से ऐ दोस्त, जिन्दगी में सफलता हमेशा मिले आपको

किताबों का साथ हो पेन पर हाथ हो,

कॉपियां आपके पास हो पढ़ाई दिन रात हो,

जिंदगी के हर इम्तिहान में आप पास हो,

सरस्वती पूजा की हार्दिक शुभकामनाएं!

बसंत के आगमन से सराबोर मन करता है सहर्ष खुशियों का अभिनंदन।

हैप्पी बसंत पंचमी

बलबुद्धि विद्या देहु मोहि! सुनहु सरस्वती मातु! राम सागर अधम को,

आश्रय तू ही देदातु! आप सब को बसंत पंचमी की बधाई!

फूलों की वर्षा, शरद की फुहार, सूरज की किरणे,

खुशियों की बहार, चन्दन की खुशबु, अपनों का प्यार, मुबारक हो आप सबको,

बसंत पंचमी का त्योहार। हैप्पी बसंत पंचमी।

जीवन का यह बसंत खुशियां दें अनंत प्रेम

और उत्साह से भर दें जीवन में रंग हैप्पी बसंत पंचमी

सरस्वती पूजा का यह प्यारा त्यौहार

जीवन में खुशी लाएगा अपार

सरस्वती विराजे आपके द्वार

शुभकामनाएं हमारी करें स्वीकार

बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं।

Peele peele sarson ke phool,

Peeli ude patang,

Rang barse peela aur chhaye sarson si umang.

Aapke jeevan mein rahe sadaa Basant ke rang.

Happy Basant Panchami!

Happy Vasant Panchami Wishes, Quotes, and Messages in English:-

May you be bestowed with knowledge and wisdom… Have a blessed Basant Panchami

Wishing you Happiness, Good fortune, Success, Peace, & Progress on the occasion of Basant Panchami.

May the occasion of Basant Panchami,
Bring the wealth of knowledge to You,
May You be blessed by Goddess Saraswati
& All Your Wishes Come True.

Vasant Panchami 2022 Images

The creative power resides in all of us. May Maa Saraswati keep illuminating this flame and bless you in abundance.

On this auspicious day of Saraswati Puja, may you wear yellow and bloom like mustard fields; Fly kites and soar into the sky like them; Welcome the spring season and shed lethargy; And burn all the evils like Holika’s pyre. Happy Basant Panchami!

May you succeed in eliminating ignorance and darkness from your life with the blessings of Maa Saraswati. Here’s extending my warm greetings and best wishes ahead of Vasant Panchami.

Worship Goddess Sarawati to remove ignorance and attain knowledge, shed darkness, encompass the light, reject mediocrity and embrace spiritedness. Happy Saraswati Puja and Vasant Panchami to you.

May Every Goodness Touch Your Soul
And The Brightest Light Of Knowledge Illuminate Your Life
So Here’s Me Wishing You
A Very Happy Vasant Panchami!!

Vasant Panchami 2022 Images

I pray to Goddess Saraswati for you that, this great occasion of Basant Panchami, May bring a huge wealth of knowledge for you & May you be blessed by Goddess Saraswati. Wish you a joyful Basant Panchami.

Spring is in air, Fresh blossoms everywhere. Sending you my warm greetings on the auspicious occasion of Vasant Panchami!

To go with the mustard flowers’ bloom; Let’s flaunt our dresses in yellow hues; Worship Goddess Saraswati with all divinity, And share yellow sweets with all the swoon! Happy Basant Panchami!

Basant Panchami ka ye pyara tyohar, jeevan mein laaye khushiyan apaar, Saraswati viraaje aapke dwar, Shubh kaamna hamari karein sweekar. Happy Basant Panchami

Maa Saraswati ki kripa aap par sadaiv bani rahe. Aap par gyan ki varsha ho aur vidya ki bauchhar ho. Aapko aur aapke poore pariwar ko Saraswati Puja aur Basant Panchami ki dheron shubh kamnayein.

Wishing you Happiness

Good fortune

Success

Peace & Progress on the occasion of Basant Panchami.

On this day Goddess Saraswati is worshiped in various names and fames – Badal, arts and science, and deep, Supreme knowledge. Happy Basant Panchami.

Saraswati Maa aapko har wo vidya de jo aapke pas nahi hai

Aur jo hai us par chamak de jise apki duniya chamak uthe.

HAPPY BASANT PANCHAMI!

May Goddess Saraswati bless you with the ocean of knowledge which never ends.

Frequently Asked Questions(FAQs):-

बसंत पंचमी 2022 कब है?

05 फरवरी 2022 को

वसंत पंचमी 2022 का शुभ मुहूर्त क्या है?

5 फरवरी तड़के 3 बजकर 48 मिनट से 6 फरवरी तड़के 3 बजकर 46 मिनट तक

बसंत पंचमी में क्यों होती है माता सरस्वती की पूजा ?

बसंत पंचमी के पर्व पर विशेष रूप से मां सरस्वती की पूजा की जाती है | ऐसी मान्यता है कि बसंत पंचमी के दिन ही ज्ञान की देवी मां सरस्वती का जन्म हुआ था, इस कारण से बंसत पंचमी के दिन विधि-विधान से देवी सरस्वती की पूजा व आराधना की जाती है | माता सरस्वती के जन्म की कथा के अनुसार सृष्टि के प्रारंभ में भगवान विष्णु की आज्ञा से ब्रह्मा जी ने मनुष्य की रचना की | लेकिन ब्रह्मा जी अपनी रचना से संतुष्ट नहीं थे और सभी तरफ उदासी से सारा वातावरण मूक था | यह देखकर ब्रह्माजी अपने कमण्डल से जल छिड़का और उन जलकणों के पड़ते ही पेड़ों से एक सुंदर स्त्री के रूप में देवी प्रकट हुईं | उनके एक हाथ में वीणा और दूसरे हाथ में पुस्तक थी | तीसरे में माला और चौथा हाथ वर मुद्रा में था | यह देवी थीं मां सरस्वती | मां सरस्वती ने जब वीणा बजाई तो संसार की हर चीज में स्वर आ गया | इसलिए उनका नाम पड़ा देवी सरस्वती | चूंकि यह दिन था बसंत पंचमी का इसलिए तभी से देव लोक और मृत्युलोक में मां सरस्वती की पूजा होने लगी |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here