कौन हैं दुष्यंत चौटाला? जानिए किंगमेकर दुष्यंत चौटाला के बारे में

0
2210

Dushyant Chautala Biography in Hindi

दुष्यंत चौटाला हरियाणा के एक राजनीतिज्ञ हैं। उनका जन्म 3 अप्रैल 1988 (उम्र 30) हिसार, हरियाणा, भारत में हुआ था। वह संसद के मौजूदा सदस्य (16 वें लोक सभा) हैं और भारतीय संसद के इतिहास में सबसे कम उम्र के सदस्य हैं।

दुष्यंत चौटाला, ओम प्रकाश चौटाला के पोते और डिप्टी पीएम चौधरी देवी लाल के पोते हैं। उनके पिता का नाम अजय चौटाला और माता का नाम नैना सिंह चौटाला है। उनका एक छोटा भाई दिग्विजय चौटाला है।

उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा सेंट मैरी स्कूल, हिसार और द लॉरेंस स्कूल, सनावर, हिमाचल प्रदेश से की। उन्होंने अपनी कॉलेज की पढ़ाई B.Sc., (Business Administration) (मैनेजमेंट), California State University, Bakersfield, California, USA से की।

Dushyant Chautala

Dushyant Chautala– उनकी खेलों में गहरी रुचि है. स्कूली दिनों में उन्होंने मुक्केबाजी में स्वर्ण पदक जीता. वे स्कूल बास्केटबॉल टीम के कप्तान और स्कूल हॉकी टीम के गोलकीपर भी रहे.

2014 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने कुलदीप बिश्नोई को 31,847 वोटों से हराया। 9 दिसंबर 2018 को, उन्हें इनेलो से निष्कासित कर दिया गया और अपनी पार्टी जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) शुरू की। दुष्यंत चौटाला ने 18 अप्रैल 2017 को मेघना चौटाला से शादी की।

Dushyant Chautala से जुडी कुछ खास बातें

  • उनका जन्म 3 अप्रैल 1988 (उम्र 30) हिसार, हरियाणा, भारत में हुआ था।
  • उनके पिता का नाम अजय चौटाला और माता का नाम नैना सिंह चौटाला है।
  • दुष्यंत चौटाला भारतीय संसद के इतिहास में सबसे कम उम्र के सदस्य हैं।
  • 2014 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने कुलदीप बिश्नोई को 31,847 वोटों से हराया।
  • दुष्यंत के एक छोटे भाई हैं दिग्विजय चौटाला, जो इस समय इनेलो का यूथ विंग संभाल रहे हैं।
Dushyant Chautala

हरियाणा में दुष्यंत और उनके भाई दिग्विजय चौटाला अपने पिता अजय सिंह चौटाला की राजनीति को आगे बढ़ा रहे हैं। नवंबर 2018 में दुष्यंत और दिग्विजय को आईएनएलडी से निकाल दिया गया था। दरअसल, अजय चौटाला चाहते थे कि उनके बेटे और हिसार से सांसद दुष्यंत को सीएम उम्मीदवार के तौर पर प्रोजेक्ट किया जाए, जबकि अभय चौटाला इस पर बिल्कुल तैयार नहीं थे। इसलिए दुष्यंत को किनारे कर दिया गया था। इस अपमान से आहत होकर उन्होंने अलग पार्टी बनाने का ऐलान किया।

दुष्यंत चौटाला के व्यक्तित्व के निर्माण में अनेक कारकों ने अपनी भूमिका निभाई है। जिनमें सबसे महत्त्वपूर्ण है चौ. देवीलाल का आदर्श जीवन और उनकी कार्य-पद्धति। ज़मीन से जुड़ी राजनीति और आधुनिक तकनीक से सम्पन्न शिक्षा ने दुष्यंत के व्यक्तित्व में आधुनिकता और परंपरा दोनों को जीवित रखे हुए है। इन दोनों का व्यावाहरिक पहलू उनके संसद में उठाए जाने वाले सवालों, बहसों और अपने संसदीय क्षेत्र में निरंतर जन-समस्याओं की सुनवाई व उन्हें दूर करने के प्रयासों में साफ झलकता है।

दुष्यंत चौटाला के पिता डॉ. अजय सिंह चौटाला जब 2009 में भिवानी-महेन्द्रगढ़ लोकसभा का चुनाव लड़ रहे थे तो उस समय दुष्यंत ने पूरे महेन्द्रगढ़ जिला की बतौर प्रभारी कमान संभाली तथा अपने कुशल नेतृत्व का परिचय देते हुए श्रुति चौधरी के मुकाबले डॉ. अजय चौटाला को 50 हजार से अधिक मतों की लीड महेन्द्रगढ़ जिला से दिलवाई थी। 2009 के विधानसभा चुनावों में भी दुष्यंत चौटाला ने उचाना तथा डबवाली हलके की कमान संभाली। राजनीति की पाठशाला में सिद्धांतों के साथ-साथ जमीनी स्तर पर काम करने और नेतृत्व की कमान संभालने का हुनर उनका बचपन में दिखने लग गया था।

दुष्यंत चौटाला Social Profile

Official Website- dushyantchautala.com

Facebook- https://www.facebook.com/dchautala/

Instagram- https://www.instagram.com/dchautala/

Twitter- https://twitter.com/Dchautala

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here