Bharat Bill Payment System(BBPS): जानें क्या है यह पेमेंट सिस्टम? और कैसे करता है काम |

0
919

Bharat Bill Payment System(BBPS):-

मेरी तरह आप भी बिजली बिल जमा करने में होने वाली झंझट से गुजर चुके होंगे | बिजली विभाग के ऑफिस जाओ, लाइन में लगो, कैश जमा करो, उस पर भी छुट्टे की दिक्कत या फिर चेक दो। इसके लिए कई बार तो पूरे दिन की छुट्टी तक लेनी पड़ती थी | इसी तरह पानी का बिल, क्रेडिट कार्ड बिल, Muncipal Tax, Insurance, स्कूल की फीस और लोन की किस्त न जाने ऐसे कितने काम हैं जिनके लिए लोगों को पैसे के साथ ढेर सारा समय भी खर्च करना पड़ता है |

भारत बिल भुगतान प्रणाली/ Bharat Bill Payment System (BBPS) पिछले तीन सालों में इन तमाम झंझटों का एक समाधान बनकर उभरा है | Bharat Bill Pay की मदद से आप अपने बिल का तुरंत और सुरक्षित भुगतान कर सकते हैं | UPI और RuPay की तरह इसे भी रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) और नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने बनाया है | इसके जरिए एक ही प्लेटफॉर्म पर सारे बिल का भुगतान एक साथ किया जा सकता है | बिल का भुगतान आप ऑनलाइन या 10 लाख Retail Outlet के जरिए कर सकते हैं | इससे आपका समय बचेगा और बिल का भुगतान होने पर आपको Instant Notification से इसकी जानकारी मिल जाएगी |

Bharat Bill Pay एक Interface है, जो Bhim, Paytm, Mobiwik जैसे App पर मौजूद है | इसके अलावा बैंक की वेबसाइट, बैंक की ब्रांच या रिटेल आउटलेट पर भी Bharat Bill Pay के जरिए पेमेंट हो सकता है | भुगतान के लिए UPI, Net banking, Wallet, Cash, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, Prepaid Card, IMPS, NEFT या Aadhaar Based Payment का इस्तेमाल किया जा सकता है |

इन बिलों का कर सकते हैं भुगतान:-

Bharat Bill Pay के जरिए वर्तमान में आप अपना बिजली, डिश टीवी, अदाणी गैस, IGL, Airtel DTH, Tata Sky, BSNL, Jio Postpaid, Vodafone Postpaid, Bajaj Finance, Loan EMI, Insurance और NETC Fastag के बिल की राशि दिल्ली जल बोर्ड और कई बड़ी कंपनियों या संस्‍थानों के बिल का भुगतान किया जा सकता है | बिल का भुगतान हो जाने पर आपको रसीद या एसएमएस के जरिये तुरंत कन्फर्म कर दिया जाएगा | इस पर बिल के भुगतान से जुड़ी शिकायतों के समाधान के लिए भी व्यवस्था तैयार की गई है |

BBPS काम कैसे करता है:-

भारत बिल भुगतान प्रणाली/ Bharat Bill Payment System (BBPS) के काम के दो हिस्से हैं | पहला होता है बिल चुकाने जा रहे ग्राहक को आसान, तेज तकनीक उपलब्‍ध कराना, दूसरा होता है बिल लेने वाली कंपनियों के खाते में आसानी पैसे पहुंच जाए, ये सुनिश्चित करना | इसके लिए BBPS ने दो यूनिट बनाई है | भारत बिल पेमेंट सेंट्रल यूनिट/Bharat Bill Payment Central Unit (BBPCU) और भारत बिल पेमेंट ऑपरेटिंग यूनिट/Bharat Bill Payment Operating Unit (BBPOU) | इन्हीं जरिए ग्राहक को कंपनी से जोड़ा जाता है | नीचे एक इंफोग्राफिक में पूरी प्रकिया बताई गई है |

दरअसल, बिलर ऑपरेटिंग यूनिट/ Biller Operating Unit (BOU) बैंक कंपनियों के बिजनेस अकाउंट संभालते हैं | कंज्यूमर ऑपरेटिंग यूनिट/ Consumer Operating Unit (COU) ग्राहक को PhonePe, Paytm या Google Pay जैसे मोबाइल ऐप से पेमेंट करने की सुविधा का खयाल रखती है |

अगर कोई रिटेल दुकान वाला चाहता है कि उसकी पेमेंट भारत बिल के जरिए आए तो ये भी संभव है उसे रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) से ऑपरेटिंग यूनिट (OU) बनने की अनुमति लेनी होगी | ये अनुमति अब बड़ी आसानी से मिल जाती है |

BBPS ने अपने सिस्टम को बेहतर ढंग से चलाने के लिए तीन एप्लिकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस / Application Programming Interface (API) रखा है | अगर Bhim App पर Bharat Bill Pay की सर्विस चलानी है तो सिर्फ एक एप्लिकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस यानी API लगाना होगा जो उन्हें भारत बिल-पे के सिस्टम के साथ जोड़ देगा | इससे हर तीन मिनट में बिल के अपलोड होने, कंपनी के सर्वर के चलने और बैंक के ट्रांजैक्‍शन होने की स्थिति जायजा लिया जाता है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here