World Toilet Day 19 नवम्बर 2019 – विश्व शौचालय दिवस

0
1545
World Toilet Day
19 November World Toilet Day

विश्व शौचालय दिवस (World Toilet Day):-

विश्व शौचालय दिवस (World Toilet Day) एक अंतर्राष्ट्रीय पर्यवेक्षण दिवस है जो 19 नवंबर को मनाया जाता है | यह दिन विश्व के लोगों और उनके समुदायों को स्वच्छता से संबंधित मुद्दों पर सहयोग करने के लिए उन्हें जोड़ने और शिक्षित करने का प्रयास करता है | यह दिवस उन लोगों के बारे में जागरूकता लाने के लिए मनाया जा रहा है, जिनके पास शौचालय की सुविधा नहीं है, जबकि यह उनका मूलभूत अधिकार है | इस दिवस का आयोजन बेहतर पोषण और स्वास्थ्य में सुधार के तथ्य पर बल देते हुए शौचालय के महत्व पर पूरी दुनिया का ध्यान आकर्षित करने के लिए किया जाता है |

वर्ष 2015 में आई विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के मुताबिक लगभग 2.4 अरब लोग पर्याप्त स्वच्छता के बिना रह रहे थे और दस में से एक व्यक्ति के पास खुले में शौच करने के अलावा उनके पास कोई और विकल्प नहीं था | वर्ष 2016 में WAS-Hwatch की रिपोर्ट के अनुसार असुरक्षित जल और अस्वच्छता के कारण दस्त की बीमारी प्रत्येक वर्ष 315,000 बच्चों की जान ले लेती है |

Read More:- भारत के महत्वपूर्ण राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय दिनों की सूची

विश्व शौचालय दिवस (World Toilet Day) का इतिहास:-

विश्व शौचालय संगठन के निर्माता जैक सिम और सिंगापुर के रेस्ट्रूम एसोसिएशन को एहसास हुआ कि शौचालय के मुद्दे पर एक अंतरराष्ट्रीय दिन होना चाहिए और इसलिए वे विश्व शौचालय दिवस बनाने के विचार के साथ आगे बढ़े | विश्व शौचालय दिवस की स्थापना विश्व शौचालय संगठन द्वारा वर्ष 2001 में की गयी थी | संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा वर्ष 2013 में इसे आधिकारिक संयुक्त राष्ट्र विश्व शौचालय दिवस घोषित किया गया | इसका प्रस्ताव संयुक्त राष्ट्र जल संघ द्वारा प्रस्तुत किया गया था |

विश्व शौचालय दिवस 2019 की थीम:-

हर साल विश्व शौचालय दिवस को एक अलग थीम के साथ मनाया जाता है | 2019 की थीम “जब प्रकृति पुकारे (मुख्य थीम – Leaving No One Behind)” रखी गई है | यह विभिन्न बीमारियों के प्रसार को रोकने में भी मदद करता है. विश्व शौचालय दिवस वैश्विक स्वच्छता संकट से निपटने हेतु प्रेरित करने वाला एक महत्वपूर्ण दिवस है | विश्व शौचालय दिवस पर पिछले वर्षों की थीम :

World Toilet Day
  • 2018 का थीम था “When Nature Calls”
  • 2017 का थीम था “Wastewater”
  • 2016 का थीम था: “Toilets and jobs”
  • 2015 का थीम था: “Toilets and nutrition”
  • 2014 का थीम था: “Equality and Dignity”
  • 2013 का थीम था: “Tourism and water”
  • 2012 का थीम था: “I give a shit, do you?”

मानव अपशिष्ट का निवारण:-

  • इकट्ठा – मानव कचरे को स्वच्छ शौचालय एवं मुंह बंद गड्ढे या टैंक में संग्रहीत किया जाना चाहिए, जो कि मानव संपर्क से अलग हो |
  • ढुलाई – पाइप्स या शौचालय खाली करने वाली सेवाओं को मानव कचरे को उपचार क्रिया के चरण में ले जाना चाहिए |
  • उपचार क्रिया – मानव अपशिष्ट को उपचार क्रिया से अपशिष्ट जल और अपशिष्ट उत्पादों में संसाधित किया जाना चाहिए, जो कि पर्यावरण में सुरक्षित वापस आ सकता हैं |
  • निपटान या पुन: उपयोग – सुरक्षित रूप से उपचारित किए गए मानव कचरे का उपयोग ऊर्जा उत्पादन या खाद्यान्न उत्पादन में उर्वरक के तौर पर किया जा सकता है |

स्वच्छता का महत्व:-

  • डायरिया/दस्त, पेट के कीड़े, सिस्टोसोमियासिस और ट्रेकोमा सहित कई रोगों को रोकने के लिए स्वच्छता महत्वपूर्ण है |
  • रोगों को कम करने के ले घरों एवं स्कूलों में स्वच्छता आवश्यक है |
  • बच्चों की पोषण संबंधी स्थिति में बढ़ोत्तरी के लिए घरों एवं स्कूलों में स्वच्छता आवश्यक है |
  • बच्चों के स्वास्थ्य/तंदुरुस्ती एवं सुरक्षा को बढ़ाने के लिए घरों एवं स्कूलों में स्वच्छता आवश्यक है |
  • महिलाओं और लड़कियों के लिए शैक्षिक संभावनाएं बढ़ाने के लिए घरों एवं स्कूलों में स्वच्छता आवश्यक है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here