आधार परिचयकर्ता कौन है ? जानें आधार परिचयकर्ता बनने की योग्यता और इसकी जिम्मेदारियां |

0
2064
आधार परिचयकर्ता कौन है ? (Aadhaar Introducer)
आधार परिचयकर्ता कौन है ? Aadhaar Introducer kya hai

आधार परिचयकर्ता कौन है ? (Aadhaar Introducer):-

आधार परिचयकर्ता कौन है ? (Aadhaar Introducer) एक ऐसा व्यक्ति है जिसे रजिस्ट्रार या UIDAI के क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा तैनात करते हुए उसके माध्यम से सूचना भेजी जाती है | परिचयकर्ता की जानकारी जिसमें उसका मूल विवरण, आवासीय पता और आधार डेटा शामिल हैं, UIDAI के CIDR (केंद्रीय पहचान डेटा रिपॉजिटरी) में रजिस्टर्ड हैं |

परिचयकर्ता का प्राथमिक कार्य आधार नामांकन के समय किसी ऐसे व्यक्ति को UIDAI से वाकिफ़ करवाना है, जिसके पास पहचान का कोई प्रमाण (POI) या पते का प्रमाण (POA) नहीं है | एक परिचयकर्ता एक रजिस्ट्रार के अधीन काम करता है जिसने उसे नियुक्त किया है | एक आधार परिचयकर्ता (Aadhaar Introducer) की भूमिका केवल उस क्षेत्र तक ही सीमित है, जिसके लिए उसे रजिस्ट्रार द्वारा नियुक्त किया गया है | अगर अन्य रजिस्ट्रार उसी परिचयकर्ता को सूचित करते हैं, तो वह अन्य स्वीकृत क्षेत्रों में भी व्यक्तियों को UIDAI से वाकिफ़ करा सकता है |

आधार परिचयकर्ता बनने के लिए आवश्यक योग्यता:-

एक व्यक्ति UIDAI के लिए एक परिचयकर्ता बन सकता है, यदि वह निम्नलिखित आवश्यकताओं को पूरा करता है:

  • उसकी आयु कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए |
  • इसके साथ ही उसका कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं होना चाहिए |
  • उसे अपना आधार नंबर और विवरण UIDAI के रजिस्ट्रार को देना होगा |
  • वह रजिस्ट्रार का कर्मचारी, स्थानीय संस्था का सदस्य, स्थानीय संस्था का निर्वाचित प्रतिनिधि, पोस्टमैन, शिक्षक, डॉक्टर, आशा कार्यकर्ता आदि हो सकता है |
  • भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण का प्रस्तावक बनने के लिए एक स्थानीय NGO का प्रतिनिधि भी आवेदन कर सकता है |
आधार परिचयकर्ता कौन है ?
aadhaar kya hai

आधार परिचयकर्ता की जिम्मेदारियां:-

आधार परिचयकर्ता की मुख्य जिम्मेदारियां यह है कि वो बिना दस्तावेजों के आधार कार्ड आवेदन के लिए आये व्यक्तियों की मदद करनी होगी। इसके साथ ही UIDAI परिचयकर्ता की जिम्मेदारियां निम्न प्रकार से है:

  • परिचयकर्ता को यह जानना चाहिए कि आवेदक के नामांकन फॉर्म में दी गई जानकारी सही है या नहीं |
  • वह हर समय लोगों के लिए उपलब्ध होना चाहिए |
  • उसे फॉर्म में दी गयी जानकारी को भी खुद अपने स्तर पर जाँच लेना चाहिए |
  • अगर परिचयकर्ता फॉर्म में लिखी गई जानकारी सही पाता है, तो उसे एनरोलमेंट आवेदन मंजूर कर देना चाहिए |
  • उसे केवल उन निवासियों की मदद करनी चाहिए, जिनके पास निवास या पहचान का कोई प्रमाण नहीं है |
  • वह आधार नामांकन केंद्र ले जाने के लिए लोगों से शुल्क नहीं ले सकता है |
  • रजिस्ट्रार इस काम के लिए उसे एक रकम तय कर सकता है |

Note: आधार परिचयकर्ता कौन है ? (Introducer) को किसी ऐसे व्यक्ति का एनरोलमेंट नहीं करना चाहिए, जो किसी (मृत या जीवित) व्यक्ति की जगह फर्जी आधार बनवाने आया हो | इसके साथ ही उसे किसी और की पहचान जानबूझकर लेने में किसी की मदद नहीं करनी चाहिए | साथ ही आवेदक के झूठे बायोमेट्रिक डेटा देने की योजना नहीं बनानी चाहिए | अगर वो ऐसा कोई काम करते पाया गया, तो परिचयकर्ता के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here