Stand Up India Yojana क्या है और कैसे करे अप्लाई ऑनलाइन

0
1203
stand up india yojana

Stand Up India Yojana:-

भारत में बहोत सारी सरकारी योजनाएँ, जोकि केंद्र सरकार और राज्य सरकार के सहयोग से चलाई जाती हैं, ये सरकारी योजनाएँ देश के विकास से लेकर देश की जनता के लिए भी बनाई जाती हैं, ताकि इनका फायदा सभी को मिल सके और सबका विकास हो सके. एसी ही एक योजना Stand Up India है, जिसको की भारत सरकार ने चालू किआ था, आईये जानते हैं, इसके बारे में की क्या है ये योजना और कैसे इसका लाभ आप ले सकते हैं.

क्या है Stand Up India Yojana?

Stand Up India (उत्तिष्ठ भारत) योजना भारत सरकार की की एक पहल जिसमे इस योजना का उद्देश्य प्रत्येक बैंक शाखा द्वारा कम से कम एक अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति के उधारकर्ता और एक महिला उधारकर्ता को नई (ग्रीनफ़ील्ड) परियोजना की स्थापना के लिए रु.10 लाख से रु.1 करोड़ के बीच बैंक ऋण प्रदान करना है।

ये उद्यम विनिर्माण, सेवा या व्यापार क्षेत्र से संबंधित हो सकते हैं। गैर-व्यक्ति उद्यम के मामले में, 51% शेयरधारिता व नियंत्रक हिस्सेदारी अनुसूचित जाति /अनुसूचित जनजाति या महिला उद्यमी के पास होनी चाहिए।

इसके अंतर्गत नये उद्यमियों को स्थापित करने में मदद की जायेगी, जिससे देश भर में रोजगार बढ़ेगा। ये योजना 5 अप्रैल, 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई थी। ये योजना मूल रूप से देश के निचले वर्गों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए एक लोन योजना है। स्टैंड अप इंडिया योजना का मकसद अनुसूचित जाति-जनजाति और महिलाओं के बीच उद्यमशीलता और रोजगार को बढ़ावा देता है।

स्‍टैण्‍ड-अप इंडिया योजना के लिए क्या पात्रता है?

  • ये उनके लिए है, जो अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति और/या महिला उद्यमी हैं, और जिनकी आयु 18 वर्ष से अधिक है।
  • इस योजना के अंतर्गत सहायता केवल नई ग्रीनफ़ील्ड (Green field) परियोजनाओं के लिए उपलब्ध है। इस संदर्भ में, नई (ग्रीनफ़ील्ड) परियोजना का अर्थ है – लाभार्थी का विनिर्माण या सेवाक्षेत्र या व्यापार क्षेत्र में पहली बार उद्यम लगाना।
  • गैर-व्यक्ति उद्यम के मामले में, 51% शेयरधारिता या नियंत्रक हिस्सेदारी अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति और/या महिला उद्यमी के पास होनी चाहिए।
  • उधारकर्ता किसी बैंक /वित्तीय संस्था के प्रति चूककर्ता न हो, मतलब किसी बैंक का पैसा अगर नहीं दिया हो तो उन्हें इसका लाभ नहीं मिलेगा।

योजना के ऋण का आकार क्या होगा?

स्‍टैण्‍ड-अप इंडिया योजना के तहत ऋण का आकार सावधि ऋण और कार्यशील पूंजी सहित परियोजना लागत का 75 प्रतिशत संमिश्र ऋण होता है। यदि किसी अन्‍य योजना से संमिलन सहायता के साथ उधारकर्ता का अंशदान परियोजना लागत से 25 प्रतिशत अधिक हो तो, परियोजना लागत का 75 प्रतिशत कवर करने में अपेक्षित ऋण संबंधी शर्त लागू नहीं होगी।

स्‍टैण्‍ड-अप इंडिया योजना से जुडी कुछ खास बातें

सहायता का स्वरूप (राशि)

10 लाख रुपये से 100 लाख (1 करोड़ )तक के बीच सम्मिश्र ऋण (सावधि ऋण और कार्यशील पूँजी सहित)।

लोन क्यू दिया जा रहा है?

अनुसूचित जाति /अनुसूचित जनजाति /महिला उद्यमी द्वारा विनिर्माण, व्यापार या सेवाक्षेत्र में नए उद्यम की स्थापना करने के लिए।

इंट्रेस्ट कितना लगेगा?

ब्याज दर संबंधित निर्धारित श्रेणी (रेटिंग श्रेणी) के लिए बैंक द्वारा प्रयोज्य न्यूनतम ब्याज दर होगा, जो (आधार दर (एमसीएलआर) + 3% + आशय प्रीमियम) से अधिक नहीं होगा।

प्रतिभूति

बैंकों के निर्णय के अनुसार, प्राथमिक प्रतिभूति के अतिरिक्त, ऋण संपार्श्विक प्रतिभूति द्वारा या स्टैंड-अप इंडिया ऋण हेतु ऋण गारंटी निधि योजना की गारंटी से प्रत्याभूत किया जाएगा।

आवेदन कैसे करें ?

Stand Up India (उत्तिष्ठ भारत) योजना के लिए आप ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं, इसके लिए आपको Stand Up India yojana की आधिरिक वेबसाइट www.standupmitra.in इन पर जाना होगा, वेबसाइट में जाने के बात जहाँ पर लिखा है यहाँ आवेदन करें, वहां पर क्लिक करें और अपनी पूरी जानकारी भरे, और फिर रेजिस्टशन कम्पलीट करें.

इस तरह से आपका रेजिस्टशन होजयेगा, और अब आप वेबसाइट में लॉगिन करके अपने रेजिस्टशन का स्टेटस जान सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here