Koo App क्या है? जानिए कैसे करे इसका इस्तेमाल।

0
963
Koo App क्या है
Koo App kya hai in hindi

कई चीनी ऐप्स जैसे TikTok, PUBG Mobile और SheIn को बैन  किया गया है. इसने कई भारतीय ऐप डेवलपर्स को आगे आने और विदेशी ऐप्स के विकल्प बनाने के लिए प्रोत्साहित किया है. इसी कड़ी में आत्मनिर्भर भारत की ओर कदम बढ़ाते हुए अप्रमेय राधाकृष्ण और उनकी टीम Koo ऐप को पेश किया, जिसे ट्विटर के अल्टरनेटिव के तौर पर देखा जा रहा है.

MyGov और Niti Aayog द्वारा होस्ट किए गए Aatmanirbhar App Challenge में भारतीय सोशल मीडिया ऐप कू ने दूसरा पुरस्कार जीता है, इसलिए यह सुर्खियों में आया। दिलचस्प बात यह है कि जब भारत के प्रतिबंधित सोशल मीडिया ऐप TikTok के भारत में आने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था।

तब भारत में बने सोशल मीडिया ऐप ट्रेंड में आने लगे। लेकिन कू अपने अधिकांश प्रतिद्वंद्वियों के लिए एक अलग रुख है।

यह रुख समाचारों और व्यक्तित्वों पर आधारित है, जो सभी राजनेताओं, खेल हस्तियों और अभिनेताओं को स्थानीय भाषाओं में भारतीयों से जुड़ने में मदद करने के लिए स्थानीय भाषाओं का प्रयोग करता हैं।

Koo App क्या है?

Koo App क्या है- Koo एक माइक्रोब्लॉगिंग साइट है जिसमें ट्विटर की तरह सारी खूबियां हैं. सीधे शब्दों में कहें तो Koo एक मेड इन इंडिया ट्विटर है. यह हिंदी, अंग्रेजी समेत आठ भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है. Koo को ऐप और वेबसाइट, दोनों तरीके से इस्तेमाल किया जा सकता है. इसमें शब्दों की सीमा 350 है और इसका इंटरफेस काफी कुछ ट्विटर जैसा ही है. 

कू भारतीय भाषाओं में भारत का सबसे बड़ा माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म है। क्या होगा यदि आपके पास एक ऐप है जहां आप अपनी भाषा में खुद को अभिव्यक्त कर सकते हैं और उसी भाषा में पोस्ट करने वाले अन्य लोगों से जुड़ सकते हैं?

आपको अपने विचारों को अधिक स्वतंत्र रूप से व्यक्त करने देने के अलावा, यह आपको बारीकियों और सांस्कृतिक संदर्भों को बाहर लाने में मदद करेगा जो अक्सर अंग्रेजी की तरह किसी अन्य भाषा में अनुवाद करने पर खो जाते हैं।

Koo App के फाउंडर कौन हैं?

बैंगलोर के उद्यमियों द्वारा बनाए गए एक माइक्रो-ब्लॉगिंग App Koo, के फाउंडर हैं Aprameya Radhakrishna (जो पहले TaxiForSure की सह-स्थापना की थी) और मयंक बिदावतका । देश में अपनी तरह का पहला भाषा-आधारित प्लेटफ़ॉर्म बनाया गया, कू लगभग ट्विटर के भारतीय संस्करण की तरह है। परिभाषित अंतर? आप कन्नड़ में पोस्ट कर सकते हैं!

Koo App कैसे करे इसका इस्तेमाल?

कू पहले से ही Android के Google Play Store और Apple के iOS ऐप स्टोर दोनों पर उपलब्ध है। कू ऐप का समग्र डिजाइन और लेआउट ट्विटर के समान है, हालांकि यह वास्तव में लंबे समय में ऐप के लिए फायदेमंद हो सकता है।

ऐप को डाउनलोड करने के बाद आप अपने मोबाइल नंबर को दर्ज करके यंहा अकाउंट बना सकते हैं। अकाउंट को वेरीफाई लिए आपके दिए गए नंबर पर OTP भेजा जाता है।

बस आपका अकाउंट बन जाता है। अब आपको अपना प्रोफाइल मैनेज करना है।

यंहा सेटिंग्स में आपको “प्रोफाइल एडिट करें” का ऑप्शन मिलेगा। यंहा आपको अपनी प्रोफाइल फोटो, नाम, हैंडल, लोकेशन,ईमेल आदि सभी जानकारी देनी है।

सभी जानकारी को आप लोकल भाषा या इंग्लिश में भी डाल सकते हैं।

Koo App को कैसे प्रयोग करें इसकी पूरी जानकारी इस वीडियो में है।

क्या कर सकते हैं?

Koo ऐप में यूजर्स प्लेटफॉर्म पर पोस्ट, वीडियो और फोटेज शेयर कर सकते हैं. ट्विटर की ही तरह Koo पर भी यूजर्स एक दूसरे से DMs के जरिए चैट कर सकते हैं. साथ ही इस माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट पर यूजर्स पोल्स भी कंडक्ट कर सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here