उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण कौन करवा सकता है ? जानें इसके लाभ|

0
1203
UP श्रमिक पंजीकरण कौन करवा सकता है?

UP श्रमिक पंजीकरण कौन करवा सकता है?- उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण 2020:-

UP श्रमिक पंजीकरण कौन करवा सकता है?- उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण योजना के अंतर्गत राज्य सरकार राज्य के सभी मजदूर वर्ग को पंजीकृत होने का अवसर प्रदान करती है तथा श्रमिक पंजीकरण के अंतर्गत पंजीकृत हुए मजदूरों को राज्य सरकार सभी सरकारी योजनाओं के लाभ प्रदान करती है इस योजना का शुभारम्भ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा किया गया है | राज्य के जो मजदूर किसी निर्माण क्षेत्र में काम कर रहे है या दिहाड़ी मजदूर है वह लोग श्रम विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर अपना पंजीकरण करवा सकते है |

उत्तर प्रदेश के मजदूरों के लिए शुरू की गयी सभी सरकारी योजनाओ के तहत प्रदान की जाने वाली आर्थिक सहायता सीधे मजदूरों के बैंक खाते में आसानी से पंहुचा दी जाएगी | उत्तर प्रदेश वर्तमान समय में मजदूरों के लिए चलायी जा रही सरकारी योजना के तहत 12 हज़ार रूपये से लेकर 1 लाख रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है इन सभी योजनाओ का लाभ उठाने के लिए श्रमिकों को सबसे पहले अपना पंजीकरण करवाना होगा और अपना श्रमिक कार्ड बनवाना होगा | (UP श्रमिक पंजीकरण कौन करवा सकता है?)

उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड 2020:-

उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड 2020 केवल मजदूर वर्ग के परिवारों के लिए बनाया जा रहा है | श्रमिक कार्ड बनवाने के लिए आपको सबसे पहले श्रमिक विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन पंजीकरण करवाना होगा | उसके बाद ही आप अपना श्रमिक कार्ड बनवा सकते है | उत्तर प्रदेश के जो इच्छुक लाभार्थी श्रमिक पंजीकरण करवाना चाहते है या उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड बनवाना चाहते है वह ऑनलाइन आवेदन करवा सकते है और कई प्रकार के लाभ उठा सकते है | इस श्रमिक कार्ड के ज़रिये मजदूर परिवार के छात्र छात्राओ को भी लाभ मिलेगा |

UP श्रमिक पंजीकरण कौन करवा सकता है?

UP श्रमिक पंजीकरण कौन करवा सकता है?:-

  • बिल्डिंग का कार्य करने वाले
  • कुआ खोदने वाले
  • छप्पर छानेवाले
  • कारपेंटर का कार्य करने वाले
  • राजमिस्त्री
  • लोहार
  • प्लम्बर
  • सड़क निर्माण करने वाले
  • इलेक्ट्रिक वाले
  • पुताई करने वाले
  • हतोड़ा चलानेवाले
  • मोजेक पोलिश
  • चट्टान तोड़ने वाले
  • निर्माण स्थल पर चौकीदारी करने वाले
  • पत्थर तोड़ने वाले
  • लेखाकार का काम करने वाले
  • बांध प्रबंधक ,भवन निर्माण के अधीन कार्य करने वाले
  • खिड़की ग्रिल एवं दरवाज़ों की गढ़ाई और स्थापना करने वाले
  • इट भट्टों पर इट का निर्माण करने वाले
  • सीमेंट ,पत्तर ढोने का काम करने वाले
  • चुना बनाने का काम करने वाले |

उत्तर प्रदेश श्रमिक मजदूर वर्ग किन सरकारी योजनाओ का लाभ उठा सकते है:-

  • मेधावी छात्र पुरुस्कार योजना
  • शिशु हितलाभ योजना
  • निर्माण कामगार बालिका मदद योजना
  • निर्माण श्रमिक भोजन सहायता योजना
  • मातृत्व हितलाभ योजना
  • संत रविदास शिक्षा सहायता योजना
  • कौशल विकास तकनीकी योजना
  • आवासीय विद्यालय योजना
  • सोर ऊर्जा सहायता योजना
  • चिकित्सा सुविधा योजना
  • कन्या विवाह योजना
  • आवास सहायता योजना
  • गंभीर बीमारी सहायता योजना
  • अक्षमता पेंशन योजना
  • पेंशन सहायता योजना
  • निर्माण कामगार मृत्यु एवं विकलांगता सहायता योजना
  • निर्माण कामगार अन्ते यष्टि योजना |

उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीकरण के लाभ:-

  • कन्या विवाह योजना के तहत दो बेटियों की शादी पर 55 -55 हज़ार रूपये की आर्थिक सहायता सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी |
  • मेधावी छात्र योजना के अंतर्गत कक्षा 5 से 7 तक 4 हज़ार रूपये ,कक्षा 8 में 5 हज़ार रूपये ,कक्षा 9 व दस में 5 हज़ार रूपये ,कक्षा 11 व 12 में 8 हज़ार रूपये ,स्नातक ,से ऊपर इंजीनियरिंग या डिग्री की पढाई करने पर 11 हज़ार रूपये से 22 हज़ार रूपये तक दिए जायेगे | B.A. के स्टूडेंट्स  को 13 से 15 हज़ार रूपये और M.A. के स्टूडेंट्स को 15 से 17 हज़ार रूपये |
  • मातृत्व हितलाभ योजना के अंतर्गत पंजीकरण महिलाओ को 12 हज़ार रूपये और शिशु लाभ हेतु लड़का होने पर 10 हज़ार रूपये और लड़की होने पर 12 हज़ार रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी |
  • आवास योजना के अंतर्गत मकान बनाने के लिए 1 लाख रूपये तथा भवन मरम्मत के लिए 15 हज़ार रूपये दिए जायेगे |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here