SBI DigiGOV पोर्टल से भुगतान स्टेटमेंट कैसे निकालें

0
3098

SBI DigiGOV portal Payment Reciept Download Process

SBI DigiGOV portal Payment Reciept Download Process आर्टिकल प्रारम्भ करने से पहले SBI DigiGov से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी जो आपको जानने चाहिए पिछले सत्र में मध्य प्रदेश सरकार के अंतर्गत संचालित सरकारी विद्यालयों फण्ड मैनेजमेंट के समाधान हेतु एक पोर्टल जारी किया गया था जिसका नाम है SBI DigiGov विद्यालयों को वर्षभर संचालित करने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा अनुदान प्रदान किया जाता रहा है पहले सीधे विद्यालय के बैंक खाते में राशि ट्रांसफर की जाती थी जबकि अब SBI के SBI DigiGov पोर्टल के माध्यम से। तो चलिए इस लेख में जानते हैं पोर्टल में लॉगिन करने के बारे में एवं अन्य जानकारियों के बारे में।

SBI DigiGOV portal Payment Reciept Download Process पोर्टल पर राशि के प्रबंधन के लिए खासतौर पर तीन प्रबंधक बनाये गए है
मेकर : मेकर का काम बिल जनरेट करना होता है
अप्रूवर : मेकर द्वारा जनरेट बिल की वेरीफाई करना अप्रूवर का काम होता है
वेरिफायर : अप्रूवर द्वारा वेरीफाई बिल को वेरीफाई करते हुए राशि को संबधित वेंडर को OTP के माध्यम से अप्रूव करना।

हालाँकि प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों के लिए केवल दो ही प्रबंधक मेकर एवं अप्रूवर से बिलों का भुगतान संभव है लेकिन हाई स्कूल एवं हायर सेकेंडरी के लिए तीनों प्रबंधकों का होना आवश्यक है | ये प्रबंधक आपके ही साथ आपके विद्यालय में पढ़ाने वाले या कार्य करने वाले कोई भी कर्मचारियों को बनाया जाता है विद्यालय जो एक शिक्षकीय शाला हैं उनमें आसपास के विद्यालय में कार्यरत शिक्षक को बनाया जा सकता है इसके लिए आप अपने जनशिक्षक से जानकारी ले सकते हैं|SBI DigiGov पोर्टल में वेरिफायर शाला प्रभारी होते हैं|

SBI DigiGOV portal Payment Reciept Download Process तीनों प्रबंधकों को पोर्टल पर लॉगिन करने के उद्देश्य से एक आईडी पासवर्ड प्रदान किया गया है जो इस प्रकार का होता है मान लीजिये आपका यूनिक कोड AV1234 है तो सामान्यतः आपकी लॉगिन आईडी (यूजर नेम) RSKMP_AV1234 होगा | आपका यूनिक कोड BU4565 है तो आपकी लॉगिन आईडी (यूजर नेम) RSKMP_4565 होगा एवं अलग से एक पासवर्ड दिया जायेगा जिसकी सहायता से आप लॉगिन कर सकते हैं|

मेकर द्वारा बिल फीड करने के बाद वेरिफायर द्वारा otp के माध्यम से प्रमाणित किया जाता है प्रमाणित करने के कुछ दिनों के अंदर सामान्यतः 2-5 दिनों के अंदर सम्बंधित वेंडर के खाते में धनराशि ट्रांसफर हो जाती है लेकिन आपको कभी कभी पेमेंट रसीद की आवश्यकता होती है ताकि आपके पास यह प्रमाण हो की सम्बंधित खाते में धनराशि ट्रांसफर हुई है अथवा नहीं जिसकी जानकारी इस प्रक्रिया के माध्यम से ली जा सकती है।

STEP 1: SBI DigiGOV पोर्टल में किसी भी प्रकार के काम के लिए आपको आपकी आईडी एवं पासवर्ड के माध्यम से लॉगिन करना होता है |सक्सेसफुल वाली रसीद PP स्लिप निकालने के लिए आप मेकर वेरिफायर या अप्रूवर किसी भी आईडी से लॉगिन कर सकते हैं लॉगिन सम्बंधित जानकारी एवं पासवर्ड से सम्बंधित जानकारी इस लेख के माध्यम से ले सकते हैं यहाँ हमने विस्तार से बताया है | SBI DigiGov में लॉगिन कैसे करें? | SBI DigiGOV पोर्टल में मेकर, अप्रूवर, वेरिफायर पासवर्ड रिसेट कैसे करें | SNA ACCOUNT MAPPING:DigiGov पोर्टल में विद्यालय अकाउंट कैसे लिंक करें

STEP 2: लॉगिन करने के पश्चात डैशबोर्ड के राइट साइड कार्नर में जाकर इस फ्लो लिंक में क्लिक करते जाएँ हो यूजर इंटरफ़ेस में भिन्न्न हो सकता है लेकिन PP स्लिप प्रिंट करने की प्रोसेस यही रहेगी My Modules>>Reports>>Fund Disbursement>>Print Payment Advice Details

STEP 3: अब आप यहाँ पर फाइनेंशल ईयर का चयन करें जिसकी आप PP स्लिप डाउनलोड करना चाहते हैं पेमेंट टाइप में वेंदेर पेमेंट का चयन करें फाइल स्टेटस में फाइल एप्रूवड पेमेंट स्टेटस में पेमेंट सक्सेस का चयन करते हुए जनरेट रिपोर्ट बटन पर क्लिक करें।

STEP 4: जनरेट लिंक में जितनी फाइल को आपने OTP के मध्यान से अप्रूव किया होगा यहाँ पर दर्शायी जाएँगी। जैस एदो बार OTP लेकर 2 फाइल अप्रूव किया होगा तो 2 फाइल स्क्रीन में होंगी

STEP 5: अब जस्ट ऊपर के स्टेप में उपरोक्त फाइल में क्लिक करने पर आपने जितने वेंडर का पेमेंट किया होगा सभी स्क्रीन में प्रदर्शित होंगी। यहाँ से आप पीडीऍफ़ डाउनलोड कर सकते हैं। पीडीऍफ़ में डाउनलोड करने के लिए नीचे पीडीऍफ़ की लिंक दी गयी है। इस को PP स्लिप कहा जाता है। जहाँ पर आपके द्वारा वेंडर को की गयी पेमेंट की जानकारी होती है |

तो ये रही PP स्लिप डाउनलोड करने की पूरी प्रक्रिया किसी भी प्रकार की असुविधा होने पर हमें कमेंट के माध्यम से जरूर सूचित करे। हमरी टीम आपकी सहायत जरूर करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here