National Portal for Transgender Persons : नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, लॉगिन 2022

0
668
National transgender Portal

National transgender Portal

डिजिटल इंडिया के समय में सरकार द्वारा सभी प्रकार के सरकारी दस्तावेजों के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया ऑनलाइन कर दी गई है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने ट्रांसजेंडर समुदाय को भी यह ऑनलाइन सुविधाएं प्रदान करने का निर्णय किया है जिसके लिए केंद्र सरकार द्वारा नेशनल ट्रांजेंडर पोर्टल का आरंभ किया है।

आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से इस पोर्टल से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। जैसे कि नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल क्या है?, इसका उद्देश्य, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि। तो दोस्तों यदि आप National transgender Portal से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आपसे निवेदन है कि आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ें।

नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल: National transgender Portal

नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल को केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिकता मंत्री श्री थावरचंद गहलोत ने लॉन्च किया है। इस पोर्टल के माध्यम से देश के सभी ट्रांसजेंडर समुदाय के नागरिक अपना आईडी कार्ड तथा प्रमाण पत्र बनवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। 

National transgender Portal के माध्यम से अब ट्रांसजेंडर समुदाय के नागरिक भी ऑनलाइन सुविधाओं का लाभ उठा पाएंगे और आसानी से अपना आईडी कार्ड या प्रमाण पत्र बनवा पाएंगे। नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल के माध्यम से लाभार्थी खुद अपना आईडी कार्ड डाउनलोड कर सकता है।

नेशनल ट्रांसजेंडर संगठन की स्थापना:

सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय को समाज के वंचित और हाशिए के वर्ग के कल्याण, सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण का काम सौंपा गया है। अनुसूचित जाति, पिछड़ा वर्ग, विकलांग व्यक्ति, वरिष्ठ नागरिक और नशीली दवाओं के शिकार आदि। भारतीय कल्याण प्रणाली की नीतियों, कार्यक्रमों, कानून और संस्था का मूल उद्देश्य लक्षित समूहों को विकास की मुख्यधारा में लाना है। 
आत्मनिर्भर सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग ट्रांसजेंडर व्यक्तियों के कल्याण के लिए नोडल मंत्रालय है। मंत्रालय ने ट्रांसजेंडर व्यक्ति (अधिकारों का संरक्षण) अधिनियम, 2019 को अधिनियमित किया और उसी के प्रावधान 10.01.2020 को लागू हुए। 
मंत्रालय ने अधिनियम के प्रावधानों के प्रभावी कार्यान्वयन के लिए "ट्रांसजेंडर व्यक्ति (अधिकारों का संरक्षण) नियम, 2020" भी तैयार किया है और इसे 29.09.2020 को भारत के राजपत्र में अधिसूचित किया गया है। इसके अलावा, उक्त अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार, मंत्रालय ने दिनांक 21.08.2020 की अधिसूचना के माध्यम से ट्रांसजेंडर व्यक्तियों के लिए राष्ट्रीय परिषद का गठन किया है।

नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल 2022 में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन :

नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल को केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिकता मंत्री श्री थावरचंद गहलोत ने लॉन्च किया है। इस पोर्टल के माध्यम से देश के सभी ट्रांसजेंडर समुदाय के नागरिक अपना आईडी कार्ड तथा प्रमाण पत्र बनवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। 

नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल के माध्यम से अब ट्रांसजेंडर समुदाय के नागरिक भी ऑनलाइन सुविधाओं का लाभ उठा पाएंगे और आसानी से अपना आईडी कार्ड या प्रमाण पत्र बनवा पाएंगे। नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल के माध्यम से लाभार्थी खुद अपना आईडी कार्ड डाउनलोड कर सकता है।

यदि आवेदन करने के बाद भी प्रमाण पत्र या फिर आईडी कार्ड अधिकारियों द्वारा जारी नहीं किया जा रहा है तो इस पोर्टल के माध्यम से लाभार्थी अपनी शिकायत भी दर्ज करवा सकता है। लाभार्थी की शिकायत का जल्द से जल्द हल निकाला जाएगा।

अब ट्रांसजेंडर समुदाय के नागरिकों को अपना आईडी कार्ड या पर प्रमाण पत्र बनवाने के लिए किसी भी सरकारी कार्यालय के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। वह घर बैठे इस पोर्टल के माध्यम से अपना आईडी कार्ड तथा प्रमाण पत्र बनवा पाएंगे। इस सुविधा की वजह से समय और पैसे दोनों की बचत होगी तथा प्रणाली में पारदर्शिता आएगी।

नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल 2022 अवलोकन :

पोर्टल का नामनेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल
मंत्रालयकेंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग
लाभार्थीट्रांसजेंडर समुदाय
उद्देश्यआईडी कार्ड तथा प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन की सुविधा प्रदान करना।
आधिकारिक वेबसाइटयहां क्लिक करें
साल2020

नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल का उद्देश्य :

नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल का मुख्य उद्देश्य सभी ट्रांसजेंडर समुदाय के नागरिकों को घर बैठे आईडी कार्ड तथा प्रमाण पत्र बनवाने की ऑनलाइन आवेदन करने की सुविधा प्रदान करना है। इस पोर्टल के माध्यम से अब लाभार्थियों को किसी भी सरकारी कार्यालय के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

वह घर बैठे अपना आईडी कार्ड या फिर प्रमाण पत्र बनवाने के लिए आवेदन कर सकते हैं। इस पोर्टल के माध्यम से समय की बचत होगी। पहले लाभार्थियों को आईडी कार्ड और प्रमाण पत्र बनवाने के लिए कई सारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था और कई बार अधिकारियों को रिश्वत भी देनी पड़ती थी। अब इस पोर्टल के माध्यम से प्रणाली में पारदर्शिता आएगी और पैसों की भी बचत होगी।

नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल के लाभ और विशेषताएं :

  • नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल का आरंभ देश के ट्रांसजेंडर समुदाय को ऑनलाइन आवेदन की सुविधा प्रदान करने के लिए किया गया है।
  • नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल का उपयोग ट्रांसजेंडर समुदाय के लोग अपना आईडी कार्ड तथा प्रमाण पत्र बनवाने के लिए कर सकते है।
  • इस पोर्टल को केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिकता मंत्री श्री थावरचंद गहलोत ने लॉन्च किया है।
  • इस पोर्टल के माध्यम से लाभार्थी अपना आईडी कार्ड तथा प्रमाण पत्र खुद भी डाउनलोड कर सकते हैं।
  • नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल  पर ग्रीवेंस सुविधा भी उपलब्ध है
  • अब देश के ट्रांसजेंडर समुदाय के नागरिकों को आवेदन करने के लिए किसी सरकारी कार्यालय के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।
  • इस पोर्टल के माध्यम से समय और पैसे दोनों की बचत होगी।
  • इस पोर्टल के माध्यम से प्रणाली में पारदर्शिता आएगी।
  • यह प्रमाण पत्र जिलाधिकारी द्वारा जारी किया जाएगा।
  • अपनी आवेदन संख्या दर्ज करके लाभार्थी अपना आईडी कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।
  • इस पोर्टल के माध्यम से प्राप्त हुआ आईडी कार्ड को विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल का लाभ देश का प्रत्येक ट्रांसजेंडर समुदाय का नागरिक उठा सकता है।

नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल पर आवेदन करने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज :

  • आवेदक भारत का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण :

स्टेप1. सर्वप्रथम आपको नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

National transgender Portal

स्टेप2 . अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा। जिस पर आप को अप्लाई ऑनलाइन पर क्लिक करना है |

National transgender Portal

स्टेप3: अप्लाई ऑनलाइन पर क्लिक करते ही आप के सामने एक नया पेज ओपन हो जायेगा | जहा पर आप को Register here पर क्लिक करना है |

National transgender Portal

स्टेप4: अब आपके सामने एप्लीकेंट् रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल कर आएगा।

स्टेप5: आपको इस फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे कि आपका नाम, ईमेल एड्रेस, मोबाइल नंबर, राज्य आदि दर्ज करना होगा।

स्टेप6:इसके बाद आपको रजिस्टर के बटन पर क्लिक करना होगा।

स्टेप7: इस प्रकार आप नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल पर पंजीकरण कर पाएंगे।

नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल पर लॉगिन :

स्टेप1: सबसे पहले आपको नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

स्टेप2: अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।

स्टेप3: इस पेज पर आपको यूजर नेम, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।

स्टेप4 : इसके बाद आपको लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा।

स्टेप5: इस प्रकार आप पोर्टल पर लॉगिन कर पाएंगे।

नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल से आईडी कार्ड डाउनलोड :

स्टेप1: सर्वप्रथम आपको नेशनल ट्रांसजेंडर पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

स्टेप2: अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।

स्टेप3: होम पेज पर आपको यूजर नेम, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।

स्टेप4: इसके बाद आपको लॉगिन के बटन पर क्लिक करना होगा।

स्टेप5: अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको अपना एप्लीकेशन नंबर दर्ज करना होगा।

स्टेप6: इसके बाद आपका आईडी कार्ड आपकी स्क्रीन पर होगा।

स्टेप7: आप इसे डाउनलोड करके प्रिंट कर सकते हैं

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न :

1. ट्रांसजेंडर व्यक्ति अधिनियम का क्या नाम है?

ट्रांसजेंडर व्यक्ति (अधिकारों का संरक्षण) अधिनियम, 2019।

2. ट्रांसजेंडर व्यक्ति (अधिकारों का संरक्षण) अधिनियम कब लागू हुआ?

दिनांक 10.01.2020

3. ट्रांसजेंडर व्यक्ति (अधिकारों का संरक्षण) अधिनियम कहाँ उपलब्ध है?

अधिनियम को भारत के राजपत्र में अधिसूचित किया गया है। अधिनियम मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट (socialjustice.nic.in), ट्रांसजेंडर व्यक्तियों के राष्ट्रीय पोर्टल (transgender.dosje.gov.in) पर भी उपलब्ध है।

4. अधिनियम के तहत बनाए गए नियमों का नाम क्या है?

ट्रांसजेंडर व्यक्ति (अधिकारों का संरक्षण) नियम, 2020

5. ट्रांसजेंडर व्यक्ति (अधिकारों का संरक्षण) नियम, 2020 कब लागू हुआ?

दिनांक 29.09.2020

6. ट्रांसजेंडर व्यक्ति के लिए राष्ट्रीय पोर्टल का विवरण क्या है?

ट्रांसजेंडर व्यक्ति के लिए राष्ट्रीय पोर्टल देश में कहीं से भी डिजिटल रूप से प्रमाण पत्र और पहचान पत्र के लिए आवेदन करने में सहायता करता है। सबसे महत्वपूर्ण लाभ यह है कि यह ट्रांसजेंडर व्यक्ति को किसी भी भौतिक इंटरफ़ेस के बिना और किसी भी कार्यालय का दौरा किए बिना पहचान का प्रमाण पत्र प्राप्त करने में मदद करता है। पोर्टल के माध्यम से, वे अपने आवेदन की स्थिति की निगरानी कर सकते हैं जो प्रक्रिया में पारदर्शिता सुनिश्चित करता है।

7. पहचान प्रमाण पत्र और पहचान पत्र के लिए कौन आवेदन कर सकता है?

ट्रांसजेंडर व्यक्ति1 ट्रांसजेंडर व्यक्ति के लिए राष्ट्रीय पोर्टल पर प्रमाणन के लिए आवेदन करने के पात्र हैं।

8. प्रमाण पत्र के लिए पोर्टल पर आवेदन करते समय, क्या आवेदक को अपने लिंग को ट्रांस-मेन या ट्रांस-वुमेन के संदर्भ में निर्दिष्ट करना चाहिए?

नहीं, आवेदक को ट्रांस-मेन या ट्रांस-वुमेन के संदर्भ में अपनी प्राथमिकताओं का उल्लेख करने की आवश्यकता नहीं है, इसे ट्रांसजेंडर व्यक्ति के रूप में प्रदर्शित किया जाएगा।

9. आवेदक प्रमाण पत्र के लिए पंजीकरण/आवेदन कहां कर सकता है?

इस हाइपरलिंक पर क्लिक करें: आवेदक पंजीकरण। यह नए पंजीकरणकर्ताओं के लिए आवेदक को यहां साइन इन/रजिस्टर विकल्प के साथ होम पेज पर ले जाएगा। पंजीकरण के बाद आवेदक आगे की प्रक्रिया के लिए उसी पेज के माध्यम से लॉगिन कर सकता है।

10. क्या आवेदन प्रक्रिया के लिए कोई हेल्पडेस्क है?

सहायता के लिए दो हेल्प डेस्क उपलब्ध हैं।
Administrative query : 011-20893988 :sunitamaheshgandhi@gmail.com
Technical query: 91-7923268299: tgcertification2020@gmail.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here