महाराष्ट्र सरकार की “Mukhyamantri Agricultural Solar Feeder Scheme”

0
2263

Mukhyamantri Agricultural Solar Feeder Scheme :-

महाराष्ट्र सरकार राज्य में “मुख्यमंत्री कृषि सौर फीडर योजना” (“Mukhyamantri Agricultural Solar Feeder Scheme“) शुरू करने जा रही है | इस योजना के तहत, सरकार पूरे राज्य में कृषि पंपों के लिए 12-घंटे की बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए solar feeder प्रदान करेगी | इस योजना का उद्देश्य किसानों को प्रति दिन कम से कम 12 घंटे सस्ती दरों पर बिजली प्रदान करना है |

Mukhyamantri Agricultural Solar Feeder Scheme

अधिसूचना के अनुसार, सरकार ने सूचित किया है कि राज्य के किसानों से पर्याप्त प्रतिक्रिया प्राप्त न होने के कारण पहले वितरित किए गए portable solar pumps का वितरण ठीक नहीं हुआ है | इसलिए, सरकार अब छोटे-2 कारखानों के माध्यम से सौर ऊर्जा उत्पादन की योजना बना रही है |

शुरूआती दौर में, सौर ऊर्जा केवल dedicated feeder को ही वितरित किए जाएंगे | वर्तमान में, सरकार सार्वजनिक निजी भागीदारी (Public Private Partnership) आधार पर सोलापुर और लातूर में सौर ऊर्जा उत्पादन परियोजनाओं को लागू कर रही है |

Mukhyamantri Agricultural Solar Feeder Scheme का मुख्य उद्देश्य :-

इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को प्रति दिन कम से कम 12 घंटे की बिजली सस्ती दरों पर प्रदान करना है | Solar Feeder योजना के माध्यम से महाराष्ट्र सरकार राज्य के किसानों को अगले तीन सालों के लिए सस्ती बिजली सुनिश्चित करेगा | हाल ही में, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फणडवीस ने रालेगण सिद्धी में “मुख्यमंत्री कृषि सौर फीडर योजना” (“Mukhyamantri Agricultural Solar Feeder Scheme“)  योजना के तहत पहली सौर परियोजना का भूमि पूजन किया |

Mukhyamantri Agricultural Solar Feeder Scheme1

इसके अलावा, सरकार किसानों के लिए सभी मौसमों में बिजली की निरंतर आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए solar power plants स्थापित करने जा रहा है | किसानों को 1.20 रुपये प्रति यूनिट बिजली मिलेगी | इस योजना के लिए tender process पूरी हो चुकी है और 500 मेगावाट की सौर पैनलों को स्थापित करने की प्रक्रिया मार्च 2018 तक पूरी हो जाएगी |सरकार अप्रैल 2018 में आधिकारिक तौर पर “मुख्यमंत्री सौर कृषि वाहिनी योजना” का शुभारंभ करेगी |

सौर ऊर्जा पैनलों की स्थापना के लिए राज्य सरकार 15 वर्षों की अवधि के लिए किसानों से उनकी कृषि भूमि किराए पर ले रही है |सौर ऊर्जा ऊर्जा का एक renewable source है और सस्ती दरों पर उपलब्ध है | इसलिए, सरकार पूरे राज्य भर में सौर पैनलों की स्थापना के लिए अधिक ध्यान दे रही है |”मुख्यमंत्री सौर कृषि वाहिनी योजना” कृषि उत्पाद के लिए लगने वाली लागत को कम करने और उत्पादन में वृद्धि करने में मदद करेगी |

Mukhyamantri Agricultural Solar Feeder Scheme की मुख्य बातें :-

  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को सस्ती दरों पर प्रतिदिन 12 घंटे की बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए किसानों को Solar Feeder प्रदान करना है जिसका इस्तेमाल खेती के लिए किया जाता है |
  • इस योजना के तहत सरकार पूरे राज्य में किसानों को सस्ती दरों पर बिजली प्रदान करेगी |
  • इस योजना के तहत किसानों को 1.20 रुपये प्रति यूनिट बिजली प्रदान की जाएगी |
  • महाराष्ट्र सरकार राज्य में Solar Power Plant स्थापित करेगी जिससे किसानों को सभी मौसमों में बिजली की निरंतर आपूर्ति सुनिश्चित हो सके |
  • बिजली के उत्पादन से बचत होने वाले पैसों को किसानों के विकास के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है |
  • नीति आयोग द्वारा इस योजना की सराहना की है साथ ही उसने अन्य राज्यों को भी इस मॉडल को दोहराने का आग्रह किया है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here