12वीं पास छात्रों के लिए मध्यप्रदेश सरकार की “हम छू लेंगे आसमान योजना”

0
2480

हम छू लेंगे आसमान योजना (Hum Choo Lenge Aasman Scheme):-

मध्य प्रदेश सरकार राज्य के 12वीं पास छात्रों को छात्रों को career guidance प्रदान करने के लिए “हम छू लेंगे आसमान (Hum Choo Lenge Aasman)” नामक एक नई योजना शुरू करने जा रही है | मध्यप्रदेश सरकार इस योजना की शुरुआत 21 मई 2018 को राज्य की राजधानी भोपाल के मॉडल स्कूल में करेगी | मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सुबह 10 से 11 बजे तक फोन पर छात्रों से बात करेंगे | सभी छात्र टेलीफोन नंबर 0755-2770020 पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से संपर्क कर सकते हैं |

इस योजना के तहत सरकार हाल ही में 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने वाले सभी छात्रों का आधुनिक तकनीकों, प्रौद्योगिकियों के साथ मार्गदर्शन प्रदान करेगी | इसके अलावा, विशेषज्ञ परामर्शदाता उन्हें उनके भविष्य के लिए सर्वश्रेष्ठ उपयुक्त career और अकादमिक विकल्पों पर भी मार्गदर्शन प्रदान करेंगे |

इसके अतिरिक्त, कक्षा 11वीं और 12वीं की परीक्षा में उत्तीर्ण न होने वाले (असफल) सभी छात्रों को उनके अभी भी पास होने के संभावित विकल्पों के सम्बन्ध में मार्गदर्शन मिलेगा | ऐसे सभी उम्मीदवारों को कौशल विकास, स्व-रोजगार और कई अन्य रोजगार विकल्पों के बारे में मार्गदर्शित किया जाएगा |

हम छू लेंगे आसमान योजना का घटनाक्रम:-

छात्र वर्ग घटनाक्रम
70% से अधिक अंकों से बारहवीं (12 वीं) कक्षा पास करने वाले छात्र 21 मई 2018 से 31 मई 2018
70% से कम अंकों से बारहवीं (12 वीं) कक्षा पास करने वाले छात्र 4 जून 2018 से 14 जून 2018
कक्षा 10 वीं में उत्तीर्ण लेकिन कक्षा 11 वीं और कक्षा 12 वीं में असफल छात्र 18 जून 2018 से 28 जून 2018

सभी 12 वीं पास छात्रों को विभिन्न उपलब्ध कैरियर विकल्पों के बारे में मार्गदर्शन मिलेगा जबकि अन्य छात्रों को एक उज्जवल भविष्य के लिए स्व रोजगार, कौशल विकास और कौशल के कुशल उपयोग पर मार्गदर्शन मिलेगा |

हम छू लेंगे आसमान योजना का कार्यान्वयन:-

“हम छू लेंगे आसमान (Hum Choo Lenge Aasman)” योजना के सफल कार्यान्वयन के लिए उच्च शिक्षा विभाग, स्कूल शिक्षा और तकनीकी शिक्षा प्रत्येक जिले में एक परामर्शदाता नियुक्त करेंगे | ये परामर्शदाता अपने कार्यक्षेत्रों में विशेषज्ञ होंगे और छात्रों को सफलतापूर्वक प्रेरित करने और छात्रों को उनकी सफलता के लिए मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए एक सक्षम व्यक्ति होंगे |

आवश्यकता महसूस होने पर कलेक्टरों को भी अतिरिक्त सलाहकार नियुक्त करने के लिए अधिकृत किया गया है | इसके अलावा, सभी जिला स्तरीय समितियों को हर जिले में 2 या 2 से अधिक परामर्श केंद्र (counselling centres) स्थापित करने होंगे |

मध्य प्रदेश सरकार विशेष रूप से इन परामर्श केंद्रों (counselling centres) में theoretical class और सूचना प्रौद्योगिकी (IT) labs की गुणवत्ता पर ध्यान केंद्रित करेगी | मध्य प्रदेश सरकार online और offline दोनों माध्यमों से परामर्श पर विशेष जोर देगी | सभी जिला स्तरीय उत्कृष्ट विद्यालय और उच्च शिक्षा के जिला स्तरीय कॉलेज परामर्श केंद्रों (counselling centres) के रूप में कार्य करेंगे | अधिक जानकारी के लिए, छात्र सीधे उत्कृष्ट विद्यालयों से संपर्क कर सकते हैं |

मध्य प्रदेश सरकार जिला स्तर पर “हम छू लेंगे आसमान (Hum Choo Lenge Aasman)” योजना के सफल कार्यान्वयन के लिए कलेक्टर द्वारा समिति का गठन किया जाता है | जिसकी अध्यक्षता स्वयं कलेक्टर द्वारा की जाती है | जिला पंचायत के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO), उच्च शिक्षा विभाग के कॉलेज के प्रिंसिपल, जिला स्तरीय ITI/ इंजीनियरिंग / पॉलिटेक्निक कॉलेज के प्रिंसिपल जिला रोजगार अधिकारी /District Employment Officer (DEO) इस समिति के सदस्य होंगे | सरकार द्वारा “हम छू लेंगे आसमान (Hum Choo Lenge Aasman)” योजना के लिए जिला शिक्षा अधिकारी /District Education Officer (DEO) का चयन नोडल अधिकारी के रूप में किया जाएगा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here