जेवर एयरपोर्ट: देश के सबसे बड़े एयरपोर्ट का शिलान्यास आज | जानें एयरपोर्ट में क्या होंगी सुविधाएं

0
1224
जेवर एयरपोर्ट मास्टर प्लान
Jewar airport location

जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport):- जेवर एयरपोर्ट मास्टर प्लान

जेवर एयरपोर्ट मास्टर प्लान- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, 25 नवंबर दोपहर 1 बजे उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर (Gautam Buddha Nagar) के जेवर में नोएडा अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट (Noida International Airport) की आधारशिल | इसी के साथ उत्तर प्रदेश 5 अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट (Airport) वाला पहला राज्य होगा | जेवर (Jewar) में बन रहा यह एयरपोर्ट दिल्ली-एनसीआर में दूसरा इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा | इतना ही नहीं इसके बनने के बाद इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर दबाव भी कम हो जाएगा |

एयरपोर्ट के पहले चरण को पूरा करने के लिए 2024 का लक्ष्य रखा गया है |  पहले चरण का विकास 10,050 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से हो रहा है | योगी सरकार ने एयरपोर्ट के लिए 5,845 हेक्टेयर की जमीन दे रखी है | पहले चरण का काम पूरा हो जाने के बाद एयरपोर्ट की सालाना क्षमता 1.2 करोड़ यात्रियों की होगी |

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने जेवर अंतराष्ट्रीय एयरपोर्ट के निर्माण के कारण विस्थापित हुए लोगों के पुनर्वास के लिए 3,301 करोड़ रुपए आंवटित किए है | लगभग 7,224 प्रभावित परिवारों को विस्थापन के कारण उनके पुनर्वास के लिए 403 करोड़ रुपये दिए गए हैं | लाभार्थियों में रोही के 2,368, दयानतपुर के 2,659, किशोरपुर के 936, रणहेड़ा के 613, परोही के 573 और बनवारीवास के 75 लोग शामिल हैं | जेवर बांगर क्षेत्र में 3,003 विस्थापित परिवारों को 25,000 रुपये प्रति वर्ग मीटर की दर से भूमि आवंटित की गई है |

एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट:- जेवर एयरपोर्ट मास्टर प्लान

योगी सरकार का दावा है कि यह एशिया का सबसे बड़ा और दुनिया का चौथा सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा | एयरपोर्ट पूरी तरह से प्रदूषण मुक्त होगा | इतना ही नहीं यह भारत का ऐसा पहला एयरपोर्ट होगा, जहां एकीकृत मल्टी मॉडल कार्गो केंद्र हो और जहां से सारा ध्यान लॉजिस्टिक सम्बंधी खर्चों और समय में कमी लाने पर हो | इस एयरपोर्ट पर बनने वाले कार्गो टर्मिनल की क्षमता 20 लाख मीट्रिक टन होगी | इसे बढ़ाकर 80 लाख मीट्रिक टन तक किया जाएगा |

जेवर एयरपोर्ट मास्टर प्लान

एयरपोर्ट में होंगी ये सुविधाएं:- जेवर एयरपोर्ट मास्टर प्लान

एयरपोर्ट पर ग्राउंड ट्रांस्पोर्टेशन सेंटर विकसित किया जायेगा, जिसमें मल्टी मॉडल ट्रांजिट केंद्र होगा | मेट्रो और हाई स्पीड रेलवे के स्टेशन होंगे, टैक्सी, बस सेवा और निजी वाहन पार्किंग सुविधा मौजूद होगी | इस तरह हवाई अड्डा सड़क, रेल और मेट्रो से सीधे जुड़ने में सक्षम हो जाएगा | इतना ही नहीं आसपास के सभी प्रमुख मार्ग और राजमार्ग, जैसे यमुना एक्सप्रेस-वे, वेस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे, ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे, दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस-वे तथा अन्य भी हवाई अड्डे से जोड़े जाएंगे | एयरपोर्ट को प्रस्तावित दिल्ली-वाराणसी हाई स्पीड रेल से भी जोड़ने की योजना है, जिससे दिल्ली और हवाई अड्डे के बीच का सफर मात्र 21 मिनट का हो जाएगा |

जेवर एयरपोर्ट मास्टर प्लान

लाखों लोगों को मिलेगा रोजगार:-

केंद्रीय उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, यह एयरपोर्ट ड्रीम प्रोजेक्ट है | इस प्रोजेक्ट में 2 बिलियन डॉलर का निवेश आ चुका है. हम जेवर और आसपास के क्षेत्रों में 60,000 करोड़ रु के निवेश का अनुमान लगा रहा हैं | जेवर एयरपोर्ट से विभिन्न माध्यमों से 1 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा |

उप्र में अभी लखनऊ, आगरा, कानपुर, गोरखपुर, प्रयागराज,हिंडन, बरेली, कुशीनगर और वाराणसी में एयरपोर्ट हैं | 2022 में अलीगढ़, चित्रकूट, आजमगढ़, मुरादाबाद, श्रवस्ती तथा 2023 में मुरपुर (सोनभद्र) और अयोध्या में एयरपोर्ट तैयार हो जाएंगे | अभी देश के हवाई अड्डों पर कुल 90,000 करोड़ रुपये का निवेश हो रहा है | यह निवेश पांच वर्षो में होगा और इससे देश में मौजूदा एयरपोर्ट की संख्या 136 से बढ़ कर 220 हो जाएगी |

Frequently Asked Questions (FAQ):-

कौन बनाएगा जेवर एयरपोर्ट?

Noida International Airport के निर्माण के लिए यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (YEIDA) को वर्किंग एजेंसी के रूपए नियुक्‍त किया गया है और विकसित करने की जिम्‍मेदारी ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी को सौंपी गई है |

जेवर एयरपोर्ट बनाने में कितने रुपए होंगे खर्च?

अब जब इतना भव्‍य एयरपोर्ट बन रहा है तो जाहिर सी बात है कि इस पर पैसे भी खूब खर्च होंगे | इसके निर्माण के लिए उत्‍तर प्रदेश सरकार ने फरवरी 2021 में 2,000 करोड़ रुपए के बजट का ऐलान किया था | इसे पूरा होने में लगभग 29 हजार 650 करोड़ रुपये की लागत आ सकती है |

कितनी जमीन पर बन रहा जेवर एयरपोर्ट?

जेवर एयरपोर्ट का निर्माण 5,845 हेक्टेयर जमीन पर हो रहा है | यहां से एक साथ कम से कम 178 विमान उड़ान भर सकेंगे | हालांकि पहले चरण में इसका निर्माण 1334 हेक्टेयर जमीन पर होगा। निर्माण कार्य चार चरणों में पूरा होगा |

जेवर एयरपोर्ट पर कितने रनवे होंगे?

अभी तक जो रिपोर्ट आई है उसके अनुसार जेवर एयरपोर्ट पर कुल 5 रनवे होंगे और शुरुआत में यहां से हर साल लगभग 1 करोड़ 20 लाख यात्री हवाई उड़ान भरेंगे | पहले साल 40 लाख यात्रियों की आवाजाही का अनुमान है |

कब शुरू होगा जेवर एयरपोर्ट?

जेवर एयरपोर्ट सितंबर 2024 में शुरू होने की उम्‍मीद है | इसके बनने से दिल्‍ली एयरपोर्ट का एयर ट्रैफिक लोड कम होगा | उड्डयन मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार लगभग 35 हजार यात्री दिल्‍ली से नोएडा एयरपोर्ट की तरफ जाएंगे |

दिल्‍ली एयरपोर्ट से कितनी दूरी पर है जेवर एयरपोर्ट?

दिल्‍ली के इंदिरा गांधी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा से जेवर एयरपोर्ट की दूरी लगभग 70 किलोमीटर है | सरकार पहले ही कह चुकी है कि दिल्‍ली एयरपोर्ट के एयर ट्रैफिक को कम करने के लिए आसपास कम से कम तीन एयरपोर्ट चाहिए | ऐसे में जेवर का नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (NIA) काफी मददगार साबित हो सकता है |

जेवर एयरपोर्ट के लिए कैसी होगी कनेक्टिविटी?

अभी जेवर एयरपोर्ट की कनेक्टिविटी यमुना एक्सप्रेस-वे, बुलंदशहर-जेवर हाईवे और पेरिफेरल एक्सप्रेसवे से है, लेकिन आगे कनेक्टिविटी बढ़ाने पर भी काम हो रहा है | आने वाले समय में यहां पहुंचने के लिए जेवर एयरपोर्ट से दिल्ली एयरपोर्ट तक मेट्रो कॉरिडोर बनाने की तैयारी है | इसके बाद ग्रेटर नोएडा नॉलेज पार्क टू से जेवर एयरपोर्ट तक मेट्रो चलेगी | दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे से जोड़ने के लिए हरियाणा के बल्लभगढ़ से जेवर एयरपोर्ट तक 6 लेन की 31 किलोमीटर लंबी सड़क बनाने की भी योजना है | नोएडा फिल्म सिटी से जेवर एयरपोर्ट तक पॉड टैक्सी चलेगी |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here