बिहार सरकार ने जल जीवन हरियाली अभियान की शुरुआत की

0
3185

जल जीवन हरियाली अभियान:-

बिहार सरकार ने लोगों के (Jal Jivan Hariyali Campaign) की घोषणा की है | नितीश कुमार ने 17 अगस्त 2019 को राज्य सरकार के ‘Jal Jivan Hariyali Campaign के बारे में लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए आठ प्रचार रथों को हरी झंडी दिखाई |

राज्य के विभिन्न हिस्सों में घूमने वाले यह प्रचार रथ, लोगों को हैंड-पंप, कुओं और नलकूपों के आसपास सोख-गड्ढों के निर्माण और रखरखाव के तरीकों, तालाबों में वर्षा जल के संरक्षण और शुद्धिकरण के तरीकों के बारे में भी जानकारी देंगे साथ ही जैविक खेती के लाभों के साथ-साथ जल निकायों के बारे में भी लोगो को जागरूक किया जाएगा

जल जीवन हरियाली अभियान को 2 अक्टूबर 2019 को महात्मा गांधी की 150वीं वर्षगांठ के अवसर पर शुरू किया जाएगा | मुख्यमंत्री नीतीश कुमार गांधी जयंती पर राज्यव्यापी जल जीवन हरियाली अभियान की शुरुआत करेंगे और इस जल जीवन हरियाली अभियान के सफल कार्यान्वयन के लिए कार्य योजना जारी करेंगे |

इस अभियान में, सरकार जल की पर्याप्त उपलब्धता और वृक्षारोपण जो जीवनयापन के लिए आवश्यक हैं को सुनिश्चित करने पर ध्यान केंद्रित करेगी | यह अभियान राज्य में पर्यावरण प्रदूषण के साथ-साथ सूखे की समस्या से निपटने के लिए राज्य सरकार को सक्षम करेगा |

Jal Jivan Hariyali Campaign से जुडी मुख्य बातें:-

इस Jal Jivan Hariyali Campaign के तहत राज्य सरकार वर्षा जल संचयन, जल निकायों के कायाकल्प, भूजल पुनर्भरण और बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण पर ध्यान देगी | बदलती परिस्थितियों के कारण सूखे सभी छोटे तालाबों को पुनर्जीवित किया जाएगा | जल जीवन हरियाली अभियान यह सुनिश्चित करेगा कि प्रकृति के साथ उचित संतुलन बना रहे ताकि बाढ़ और सूखे की घटनाएं कम हों|

जल जीवन हरियाली अभियान

पहले चरण में, सरकार तालाबों, बाढ़ जल संचयन क्षेत्रों और कुओं की पहचान करेगी और उनका कायाकल्प करेगी | तालाबों के लिए आरक्षित सभी क्षेत्र जो लोगों द्वारा अवैध रूप से कब्जा कर लिए गए हैं उन्हें दिसंबर 2019 तक अतिक्रमण मुक्त बनाया जाएगा | सरकारी और निजी स्थलों पर पेड़ लगाने के साथ-2 सड़कों के किनारे भी वृक्षारोपण किया जाएगा |

सौर ऊर्जा का उपयोग करने के लिए, राज्य सरकार सभी सरकारी भवनों के शीर्ष पर सौर पैनल स्थापित करेगा | Jal Jivan Hariyali Campaign मिशन के उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए, सरकार इस अभि jयानjके बारे में व्यापक जागरूकता फैलाएंगे | जल जीवन हरियाली अभियान की प्रगति को बढ़ावा देने के लिए Satellite mapping technique का उपयोग किया जाएगा |

आज के समय में कई लोग जलवायु परिस्थितियों में परिवर्तन के कारण बाढ़ और सूखे से पीड़ित हैं | यह अभियान उन सुनहरे पुराने दिनों को वापस लाने के लिए आवश्यक है जहाँ सूखे और बाढ़ की घटनाएं कम थीं |

जल जीवन हरियाली अभियान का कार्यान्वयन:-

जल-जीवन-हरियाली मिशन के तहत राज्य व्यापक स्तर पर पर्यावरण संरक्षण के लिए कार्य कराए जाएंगे | राज्य में सार्वजनिक क्षेत्रों में तालाबों की संख्या 60 से 65 हजार है | नये जल निकायों या स्रोतों का सृजन सरकारी और निजी जमीन पर कराया जाएगा | बाढ़ के समय नदियों के अतिरिक्त पानी को सूखाग्रस्त इलाकों नवादा, गया, राजगीर में पहुंचाया जायेगा | सभी भूगर्भ जल स्रोत चापाकल, कुओं के किनारे सोख्ता बनाया जाएगा |

हर सरकारी और निजी भवन पर Rain Water Harvesting System लगाया जाएगा | सोलर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए निजी और सरकारी भवन पर सोलर पैनल स्थापित किए जाएंगे | हरियाली लाने के लिए बड़े स्तर पर पौधारोपण किया जाएगा | इसमें सभी सरकारी अधिकारी और कर्मी के अलावा जनप्रतिनिधि भी सहभागी होंगे | कुआं, तालाब, का जीर्णोद्धार होगा |

अगर आपको ये Article अच्छा लगा हो तो आप इसे अपने friends और family के साथ भी जरूर Share करे | अगर आपको  कोई Problem आ रही हो तो आप हमसे निचे दिए गए comment box में पूछ सकते है | EnterHindi Team आपकी जरूर Help करेगी |

इसी तरह से जानकारी रोज पाने के लिए EnterHindi को follow करे FacebookTwitter पर और Subscribe करे YouTube Channel को |

EnterHindi की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here