प्रधानमंत्री मोदी ने Main Nahi Hum Portal और Mobile App की शुरुआत की

2
1068

Main Nahi Hum Portal & Mobile App:-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 अक्टूबर 2018 को IT Professionals और संगठनों के लिए Main Nahi Hum Portal और Mobile App की शुरुआत की है | यह पोर्टल “Self4Society” के विषय पर आधारित है जो सामाजिक परिवर्तन में तालमेल बढ़ाएगा | “I to We” अभियान के उद्घाटन समारोह में IT और electronic manufacturing  professionals के साथ बातचीत करते समय, प्रधान मंत्री मोदी ने लोगों को एहसास दिलाया कि किसी भी सरकार की सफलता सरकार द्वारा चीजों के कार्यान्वयन के बजाय सार्वजनिक भागीदारी में निहित है |

Main Nahi Hum Portal आम जनता के प्रयासों को सहयोग प्रदान करेगा और उद्यमियों को एक मंच पर सामाजिक समस्याओं पर अपने विचार रखने और उनके निदान में भाग लेने और योगदान करने में सक्षम बनाएगा |

भारत के प्रधान मंत्री ने भी जोर देकर कहा कि “हर प्रयास, चाहे बड़ा हो या छोटा, मूल्यवान होता हैं” | सरकार योजनाएं बना सकती हैं, बजट आवंटित कर सकती हैं लेकिन किसी भी पहल को सफलता सार्वजनिक भागीदारी से ही मिलती है |

Main Nahi Hum Portal & Mobile App की महत्वपूर्ण बिंदु:-

प्रधान मंत्री ने प्रमुख उद्योगों के अग्रणी लोगों से मुलाकात की और एक townhall style format में लगभग 100 स्थानों से electronic manufacturing organization के कर्मचारियों और IT professionals की एक सभा को संबोधित किया साथ ही निम्नलिखित महत्वपूर्ण बिंदुओं पर जोर दिया:-

  • मोदी ने कहा कि जो सरकार नहीं कर सकती है, वह संस्कार कर सकते हैं, इसलिए हर किसी को स्वच्छता को अपने मूल्य प्रणालियों का हिस्सा बनाना चाहिए |
  • सरकार ग्रामीण डिजिटल उद्यमियों की संख्या में बृद्धि करने के लिए निरंतर प्रयासरत हैं और साथ ही डिजिटल साक्षरता में सुधार के लिए लगातार प्रयास कर रही है |
  • एक ऐसा भारत बनाना जरुरी है जहां हर किसी के पास एक सामान अवसर हों और समावेशी विकास ही आगे बढ़ने का तरीका है |
  • जब पानी की खपत की बात आती है तो लोग बहुत लापरवाह हो जाते हैं | इसलिए जल संरक्षण के बारे में जानने के लिए, प्रधान मंत्री ने लोगों को गुजरात के पोरबंदर में स्थित महात्मा गांधी के घर को देखने का आग्रह किया | लोगों को पानी का संरक्षण करने और पानी को recycle करने की आवश्यकता है |
  • लोग कृषि क्षेत्र में बहुत से काम करने के लिए स्वयंसेवक प्रयास कर सकते हैं और युवाओं को किसानों के कल्याण के लिए काम करना चाहिए |
  • हाल के वर्षों में, कर चुकाने वाले लोगों की संख्या में बहुत बृद्धि हुई हैं क्योंकि उनका भरोसा और विश्वास हैं कि उनके पैसे का उपयोग सही तरीके से लोगों के कल्याण के लिए किया जा रहा हैं |
  • स्वच्छ भारत मिशन (Swachh Bharat Mission) का प्रतीक बापू का चश्मा है, स्वच्छ भारत मिशन की प्रेरणा बापू है और हम बापू की दृष्टि को पूरा कर रहे हैं |
  • वे सामाजिक क्षेत्र में कई start-up हैं और युवाओं के पास बहुत सी अद्भुत चीजें करने की बहुत अधिक क्षमता है |
  • दूसरों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाने के लिए हमारी ताकत का उपयोग कैसे कर सकते हैं इस विषय में लोग अपने विचार रख सकते हैं |
  • हर प्रयास भले ही वह छोटा हो या बड़ा, मूल्यवान होना चाहिए |सरकार योजनाएं बना सकती हैं, बजट आवंटित कर सकती हैं लेकिन किसी भी पहल को सफलता सार्वजनिक भागीदारी से ही मिलती है |

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here