Atal Pension Scheme: अटल पेंशन योजना 2022

0
1186
Atal Pension Scheme
Atal Pension Scheme

अटल पेंशन योजना : आपने बहुत सारी पेंशन योजनाओं के बारे में सुना होगा। मगर क्या आप अटल पेंशन के बारे में जानते हैं? अगर नहीं तो यह खबर आपके बहुत काम आएगी। दरअसल अटल पेंशन योजना एक ऐसी योजना है, जो पति पत्नी दोनों को मासिक पेंशन दिला सकती है।

पति पत्नी मिल कर हर महीने इस योजना के तहत 10000 रु प्राप्त कर सकते हैं। बहुत से लोग इस बात को भी नहीं जानते कि मोदी सरकार की अटल पेंशन योजना (एपीवाई) न केवल 5000 रुपये प्रति माह तक की गारंटीड पेंशन दिलाती है, बल्कि आपके परिवार के लोगों को भी इस योजना के लिए आवेदन करने की सुविधा देती है। इसका मतलब है कि एक ही परिवार के एक से अधिक सदस्य एपीवाई के लिए आवेदन कर सकते हैं।

अटल पेंशन योजना की शुरुआत हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 1 जून 2015 को की गयी थी | इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों की 60 वर्ष की आयु होने के बाद 1000 रु से लेकर 5000 रु तक की धनराशि पेंशन के रूप में प्रतिमाह दी जाएगी | 

Atal Pension Yojana के तहत पेंशन की धनराशि लाभार्थियों के द्वारा किये गए निवेश तथा उम्र के हिसाब से निश्चित की जाएगी | 

अटल पेंशन योजना 2021 में ना केवल आप कम राशि जमा करवाकर हर माह ज्यादा पेंशन के हकदार हो सकते हैं, बल्कि असामयिक मृत्यु की दशा में अपने परिवार को भी इसका फायदा दिलवा सकते हैं | enterhindi.com में आप सभी लोगो का स्वागत है| अटल पेंशन योजना की विस्तृत जानकारी के लिए हमारे आर्टिकल को पूरा पढ़े|

किसके लिए शुरू की गयी थी ये अटल पेंशन स्कीम:

अटल पेंशन योजना (एपीवाई) असंगठित क्षेत्र में काम करने वालों के लिए शुरू की गयी एक रिटायरमेंट योजना है। एपीवाई एक न्यूनतम रिटायरमेंट बेनेफिट स्कीम है जिसमें आपको हर महीने 1,000 रुपये से लेकर 5,000 रुपये तक की पेंशन मिलेगी।

बता दें कि इस योजना को केंद्रीय बजट 2015-16 में पेश किया गया था। अच्छी बात ये है कि आप जितना पैसा इस स्कीम में हर महीने निवेश करते हैं वो राशि अपने आप हर महीने ही आपके बैंक खाते से कट जाती है।

महंगाई के इस जमाने में रिटायरमेंट की तैयारी समय रहते करना बहुत जरूरी है। समय इतना बदल गया है कि आप किसी पर निर्भर भी नहीं रह सकते। पैसों के मामले में फ्यूचर को सेफ बनाने के लिए आपको खुद ही तैयारी करनी होगी।

अब सिर्फ बचत करना काफी नहीं है, बल्कि उस बचत को सही जगह निवेश करना भी जरूरी है। कई ऐसे ऑप्शन और योजनाएं हैं, जहां पैसा लगा कर आप फ्यूचर की तैयारी कर सकते हैं। इन्हीं में एक सरकारी योजना है, जहां रोज केवल 7 रु बचा कर हजारों रु की पेंशन पा सकते हैं। ये है अटल पेंशन योजना।

अटल पेंशन स्कीम के लिए जरुरी डॉक्यूमेंटंस :

इस पेंशन योजना के लिए अगर आप रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं तो आपके पास बचत बैंक खाता, आधार नंबर और एक मोबाइल नंबर होना चाहिए। दूसरी अहम बात ये है कि आपको कितना मासिक योगदान करना है वो इस बात पर निर्भर करता है कि आप कितनी पेंशन चाहते हैं और आपकी आयु कितनी है। स्कीम में निवेश करने के लिए न्यूनतम आयु सीमा 18 वर्ष और अधिकतम आयु 40 वर्ष है।

अटल पेंशन योजना में मासिक निवेश और पेंशन का गुणा-गणित:

यदि आप 18 साल की उम्र में एपीवाई खाता खोलें और हर महीने 1000 रु की मासिक पेंशन चाहें तो आपको हर महीने केवल 42 रु जमा करने होंगे। वहीं 2000 रु की मासिक पेंशन के लिए आपको 84 रु, 3000 रु मासिक पेंशन के लिए 126 रु, 4000 रु की मासिक पेंशन के लिए 168 रु और 5000 रु की मासिक पेंशन के लिए हर महीने 210 रु का निवेश करना होगा। महीने में 210 रु यानी रोज के 7 रु। देना होगा। मगर ये भी ध्यान रखें कि यदि आप 18 साल की आयु के कुछ साल बाद निवेश शुरू करें तो आपकी मौजूदा आयु और आप कितनी पेंशन चाहते हैं इस आधार प्रीमियम तय किया जाएगा।

हर बैंक में मिलती है अटल पेंशन योजना की सुविधा:

एपीवाई खाता खुलवाने की सुविधा आपको सभी नेशनल बैंकों में मिलेगी। आपका खाता जिस बैंक में है उसकी ब्रांच में जाएं और एपीवाई के लिए अपना रजिस्ट्रेशन कराएं। पंजीकरण फॉर्म ऑनलाइन और साथ ही बैंक शाखाओं में उपलब्ध होते हैं। आप फॉर्म डाउनलोड कर इसे बैंक में जमा कर सकते हैं। या आप इसे बैंक में ही लेकर वहीं भर कर जमा कर सकते हैं।

योगदान में चूकने पर लगता है जुर्माना :

  • प्रति माह 100 रुपये तक के योगदान पर 1 रु
  • 101 से 500 रु प्रति माह तक योगदान पर प्रति माह 2 रु
  • 501 से 1000 रु प्रति माह तक योगदान पर प्रति माह 5 रु
  • 1001 रु से अधिक योगदान पर प्रति माह 10 रु

अटल पेंशन योजना के अंतर्गत कर लाभ:

अटल पेंशन योजना को असंगठित क्षेत्र के कर्मचारियों को पेंशन प्रदान करने के लिए आरंभ किया गया था। इस योजना के माध्यम से ₹1000 से लेकर ₹5000 की पेंशन प्रतिमाह 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर आवेदक के निवेश के अनुसार प्रदान की जाती है। इस योजना के अंतर्गत अब ग्राहकों को कर लाभ भी प्रदान किए जाएंगे। इसकी जानकारी पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी द्वारा ट्वीट के माध्यम से प्रदान की गई है। इस ट्वीट में यह बताया गया है कि वह सभी आयकर दाता जो 18 से 40 वर्ष की आयु के भीतर आते हैं वह इस योजना का लाभ उठा सकते हैं और इसी के साथ आयकर अधिनियम के सेक्शन 80CCD (1b) के अंतर्गत इस योजना में किए गए योगदान पर भी लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए ग्राहक का सेविंग बैंक अकाउंट या पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट होना अनिवार्य है। अटल पेंशन योजना को आधार एक्ट के सेक्शन 7 में भी शामिल कर लिया गया है। वह सभी नागरिक जो इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं उनको अपनी आधार संख्या का प्रमाण प्रस्तुत करना होगा या फिर आधार प्रमाणीकरण के अंतर्गत नामांकन से गुजरना होगा।

अटल पेंशन योजना में 60 वर्ष से पहले एग्जिट होने पर :

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं अटल पेंशन योजना एक प्रकार की पेंशन है जो रिटायरमेंट के बाद प्रदान की जाती है। इस योजना का लाभ खाता धारक 60 वर्ष की आयु के बाद उठा सकता है। इसके लिए खाताधारक को 60 वर्ष की आयु तक कंट्रीब्यूशन की राशि प्रदान करनी होगी। अटल पेंशन योजना के अंतर्गत 60 वर्ष से पहले खाताधारक योजना से एग्जिट नहीं कर सकता। लेकिन कुछ खास परिस्थितियों में जैसे कि कोई बीमारी या फिर मृत्यु की स्थिति में अटल पेंशन योजना से एग्जिट किया जा सकता है।

अटल पेंशन योजना निकासी:

  • 60 वर्ष की आयु पूरी होने पर: 60 वर्ष पूरे होने के बाद अटल पेंशन योजना से ग्राहक निकासी कर सकता है। इस स्थिति में ग्राहक को पेंशन निकासी के बाद पेंशन प्रदान की जाएगी।
  • सब्सक्राइबर की मृत्यु की स्थिति में: यदि सब्सक्राइबर की मृत्यु हो जाती है तो पेंशन की राशि सब्सक्राइब के पति या पत्नी को प्रदान की जाएगी। और यदि दोनों की मृत्यु हो जाती है तो पेंशन कॉरपस उनके नॉमिनी को लौटा दिया जाएगा।
  • 60 वर्ष की आयु से पहले निकासी: अटल पेंशन योजना से 60 वर्ष से पहले निकासी की अनुमति नहीं है। लेकिन कुछ असाधारण परिस्थितियों में विभाग द्वारा इसकी अनुमति दी गई है। जैसे कि यदि लाभार्थी की मृत्यु हो जाती है या फिर किसी टर्मिनल रोक की स्थिति में।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here