प्रवासी मजदूरों के लिए “Affordable Rental Housing Scheme”

0
1057
प्रवासी मजदूर किफायती किराया आवास योजना

प्रवासी मजदूर किफायती किराया आवास योजना:-

प्रवासी मजदूर किफायती किराया आवास योजना– प्रधानमंत्री मोदी जी ने हालही में देश के नाम संबोधन में देशवासियों के लिए 20 लाख करोड़ रूपये के Covid – 19 के चलते आर्थिक पैकेज की बात कही थी | इस आर्थिक पैकेज को ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ के तहत शुरू किया गया है | जिसे पिछले दो दिनों से वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी पेश कर रही हैं | इस पैकेज के पहले दिन MSME उद्योगों के लिए बजट पेश किया गया और दूसरे दिन किसानों, प्रवासियों एवं गरीबों के हित के लिए कई सारे फैसले लिए गये, जिन्हें इस Covid – 19 के चलते सबसे ज्यादा परेशानी झेलनी पड़ रही है | प्रवासी मजदूरों एवं शहर में रहने वाले गरीबों के लिए वित्त मंत्री द्वारा ‘Affordable Rental Housing Scheme’ को लाने की घोषणा की गई हैं | यह योजना प्रधानमंत्री जी की प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत संचालित होगी | प्रवासी मजदूर किफायती किराया आवास योजना:-

Affordable Rental Housing scheme
प्रवासी मजदूर किफायती किराया आवास योजना:-

किफायती किराया आवास योजना की विशेषताएं एवं लाभ:-

  • योजना का उद्देश्य :- इस योजना को शुरू करने का केंद्र सरकार का मुख्य उद्देश्य हैं बाहर से आने वाले प्रवासी मजदूरों को रहने के लिए घर प्रदान करना |
  • योजना में सहायता :- इस हाउसिंग स्कीम के तहत लाभार्थियों को सस्ते दामों में घर प्रदान किये जायेंगे, साथ ही इनसे इसके लिए बहुत ही कम किराया वसूला जायेगा |
  • घरों का निर्माण :- इस योजना के तहत बनाये जाने वाले घरों का निर्माण पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (PPP) मॉडल के तहत किया जायेगा |
  • दी जाने वाली सुविधा :- इस योजना के तहत लाभार्थियों को जो घर प्रदान किए जायेंगे, उसमें उन्हें सस्ते किराया के साथ ही बिजली, पानी एवं अन्य तमाम सुविधाएँ भी प्रदान की जाएगी | ये घर वे अपनी निजी जमीनों पर भी बना सकते हैं |
  • उद्योगपतियों को प्रोत्साहन :- इस योजना के तहत सरकार ने एक बड़ा ऐलान यह भी किया हैं कि यदि उद्योगपति चाहें तो अपने उद्योग के पास में अपने मजदूरों के लिए घर बना कर उन्हें प्रदान कर सकते हैं | इसके लिए मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स, इंडस्ट्रीज और साथ ही इंस्टिट्यूशन्स को सरकार की ओर से प्रोत्साहन भी प्रदान किया जायेगा |
  • आवास योजना की अवधि में बढ़ोत्तरी :- इसके साथ ही आपको बता दें कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मध्यम आय समूह यानि जिनकी आय 6 लाख रूपये से 18 लाख रूपये सालाना हैं | उन लोगों के लिए चलाई जा रही क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम की अवधि को भी अब बढ़ा दिया गया हैं, यह अब मार्च 2021 कर दी गई हैं | इससे कम से कम 2.5 लाभ लोगों को फायदा मिलेगा |
  • रोजगार के अवसर में वृद्धि :- इस योजना की घोषणा के साथ ही वित्त मंत्री जी द्वारा यह भी कहा गया हैं कि हाउसिंग सेक्टर में कुल 70 हजार करोड़ रूपये का निवेश आने से स्टील, लोहा एवं निर्माण कार्य में लगने वाले अन्य सामानों की मांग में वृद्धि होगी, जिससे रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे |

किफायती किराया आवास योजना के लिए पात्रता मापदंड:-

  • देश का नागरिक :- इस योजना का लाभ देश में रहने वाले सभी नागरिक उठाने के लिए पात्र हैं, विदेश से आने वाले लोगों के लिए यह योजना नहीं है |
  • प्रवासी मजदूर :- इस योजना में ऐसे प्रवासी मजदूरों को सस्ते दामों में घर प्रदान किये जायेंगे, जिनके पास रहने के लिए घर एवं रोजगार उपलब्ध नहीं है |
  • शहरी क्षेत्र के गरीब लोग :- ऐसे गरीब व्यक्ति जोकि शहरी क्षेत्र में रहते हैं लेकिन उनके पास रहने के लिए घर नहीं हैं, उन्हें ही इस योजना के तहत शहर में रहने के लिए सस्ते दामों एवं कम किराये वाले घर प्रदान किये जायेंगे |
  • MIG :- ऐसे लोग जोकि शहरी क्षेत्र में रहते हैं और मध्यम आय समूह के अंतर्गत आते हैं, उन्हें भी इस योजना के तहत लाभ प्रदान किया जायेगा |

किफायती किराया आवास योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज:-

  • आधार कार्ड :- इस योजना का लाभ लेने वाले सभी प्रवासी मजदूरों एवं शहरी गरीब लोगों को आवेदन के समय अपनी पहचान के रूप में आधार कार्ड की आवश्यकता हो सकती है |
  • आय प्रमाण पत्र :- इस योजना में चुकी मध्यम आय समूह के लोगों को शामिल किया गया हैं, इसलिए उन्हें अपना आय प्रमाण पत्र आवेदन फॉर्म के साथ attach करना पड़ सकता है |
  • बीपीएल कार्ड :- इस योजना में आवेदन फॉर्म भरते समय लाभार्थियों से उनका गरीबी रेखा से नीचे आने का बीपीएल कार्ड भी फॉर्म के साथ attach करने के लिए कहा जा सकता है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here