बाल दिवस 2021 – क्यों मनाया जाता है 14 नवंबर को ही बाल दिवस?

2
1292
बाल दिवस क्यों मनाया जाता है
बाल दिवस क्यों मनाया जाता है

Happy Children’s Day (बाल दिवस) :- बाल दिवस क्यों मनाया जाता है?

देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को देशवासियों द्वारा श्रद्धांजलि अर्पित करने के रूप में भारत में हर साल 14 नवंबर को बाल दिवस (Happy Children’s Day) मनाया जाता है | जवाहरलाल नेहरू, जिन्हें ‘चाचा नेहरू‘ भी कहा जाता है, उनका जन्म 14 नवंबर को 1889 में हुआ था | ‘चाचाजी’ या जवाहरलाल नेहरू को बच्चों के प्रति उनके प्रेम के लिए जाना जाता था, यही वजह है कि 14 नवंबर को उनका जन्मदिन प्रत्येक वर्ष बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है |

पंडित जवाहरलाल नेहरू के बारे में:-

पंडित जवाहरलाल नेहरू भारत के एक महान नेता थे और उन्होंने भारत के पहले प्रधानमंत्री के रूप में भारत की अगुवाई की थी, जो स्वतंत्रता प्राप्त करने के बाद भारत को 1947 में मिला था | उनका जन्म वर्ष 1889 में 14 नवंबर को इलाहाबाद में प्रसिद्ध वकील, श्री मोतीलाल नेहरू और स्वरूप रानी के यहाँ हुआ था | उन्होंने अपनी बाद की शिक्षा इंग्लैंड से प्राप्त की और भारत लौटने के बाद उन्होंने भारतीयों की मदद करना शुरू किया और भारत की स्वतंत्रता के लिए संघर्ष किया |

Also Read:- बाल दिवस – पंडित जवाहरलाल नेहरू के प्रेरक Quotes

भारत की स्वतंत्रता के बाद वह भारत के पहले प्रधानमंत्री बने | वे एक महान कवि भी थे; उनके कुछ प्रसिद्ध लेखन ‘विश्व इतिहास की झलक‘, ‘भारत की खोज‘ और आदि हैं | वह वास्तव में बच्चों के साथ-साथ गुलाब के शौकीन थे और उन्होंने कहा कि बच्चे बगीचे की कलियों की तरह हैं | उन्होंने कहा कि बच्चे देश की वास्तविक ताकत हैं क्योंकि वे भविष्य में विकसित समाज बनाएंगे |

बाल दिवस पहली बार कब मनाया गया:-

बाल दिवस क्यों मनाया जाता है

बाल दिवस साल 1925 से मनाया जाने लगा था, लेकिन यूएन ने 20 नवंबर 1954 को बाल दिवस मनाने की घोषणा की थी | विभिन्न देशों में अलग-अलग तारीखों पर बाल दिवस मनाया जाता है | भारत में बाल दिवस 1964 में प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के निधन के बाद से मनाया जाने लगा | सर्वसहमति से ये फैसला लिया गया कि नेहरू के जन्मदिन पर बाल दिवस मनाया जाएगा | उस दिन के बाद से हर साल 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है |

बाल दिवस कैसे मनाते हैं:-

  • बाल दिवस के दिन बच्चों को गिफ्ट्स दिए जाते हैं |
  • इस दिन स्कूलों में रंगारंग कार्यक्रमों का आयोजित किया जाता है, साथ ही बच्चे विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लेते हैं |
  • बाल दिवस के दिन कई स्कूलों में पढ़ाई नहीं होती है और बच्चों के लिए खेल कूद का आयोजन होता है |
  • कई स्कूलों में बाल दिवस के दिन बच्चों को पिकनिक पर ले जाया जाता है |
  • विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन फैंसी ड्रेस, वाद-विवाद, स्वतंत्रता सेनानियों से संबंधित भाषण, देश, कहानी और quizz से होता है |
  • अन्य संगीत वाद्ययंत्रों के साथ गायन, नृत्य और मनोरंजन जैसे सांस्कृतिक और सामाजिक कार्यक्रम |
  • अनाथ बच्चों को कपड़े, खिलौने, संगीत वाद्ययंत्र, स्टेशनरी, किताबें, आदि वितरित करके मनोरंजन किया जा सकता है |

Also Read:- भारत के महत्वपूर्ण राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय दिनों की सूची

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here