दिल्ली मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत 7 नए देवस्थान जोड़े गए

0
1275

Mukhyamantri Teerth Yatra Yojana मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना:-

दिल्ली कैबिनेट कमेटी ने 30 जुलाई 2019 को मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत 7 नए स्थलों को मंजूरी दी है | कैबिनेट कमेटी की अध्यक्षता खुद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने की थी | अब लोगों को मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत यात्रा करने के लिए 12 स्थान होंगे | इस योजना के तहत, हर साल देश भर में सैकड़ों बड़े नागरिक धार्मिक स्थानों पर जाते हैं |

Mukhyamantri Teerth Yatra Yojana के तहत जोड़े गए 7 नए स्थानों में रामेश्वरम, शिरडी, तिरुपति और पुरी शामिल हैं क्योंकि इन स्थानों को शामिल करने की एक लोकप्रिय मांग थी | दिल्ली सरकार यात्रा, भोजन और आवास शुल्क सहित तीर्थ यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्रियों के सभी खर्चों को वहन करता है |

Mukhyamantri Teerth Yatra Yojana

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना (Mukhyamantri Teerth Yatra Yojana)”, के तहत दिल्ली सरकार प्रति वर्ष लगभग 77,000 तीर्थयात्रियों की तीर्थयात्रा की के पूरे खर्चे का वहन करेगी | 60 वर्ष या उससे अधिक आयु वर्ग के सभी वरिष्ठ नागरिक मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना (Mukhyamantri Teerth Yatra Yojana) के लिए पात्र होंगे | इस योजना में वरिष्ठ नागरिकों के साथ 18 वर्ष या उससे अधिक आयु के एक attendant को भी अनुमति दी गई है |

इस योजना के तहत, ऐसे वरिष्ठ नागरिक जो केंद्र, राज्य या किसी अन्य स्थानीय सरकारी या स्वायत्त निकाय में कार्यरत हैं या सेवानिवृत्त कर्मचारी हैं, इस मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना (Mukhyamantri Teerth Yatra Yojana) के लाभों का लाभ नहीं उठा सकते हैं | केवल ऐसे वरिष्ठ नागरिक जिनकी वार्षिक आय 3 लाख से कम है वही इस योजना के लाभ उठा सकते हैं | यह योजना मूल रूप से गरीब लोगों की मदद करेगी जो उच्च लागत के कारण तीर्थयात्रा का दौरा करने में असमर्थ हैं |

दिल्ली में 70 विधानसभा क्षेत्र है और इस मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत हर विधायी विधानसभा क्षेत्र से 1,100वरिष्ठ नागरिक लाभान्वित होंगे | यह तीर्थ यात्रा 8 दिन और 7 रातों की होगी साथ ही सभी चयनित नागरिकों को 1 लाख का बीमा कवरेज भी मिलेगा |

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना में शामिल 7 नए तीर्थ स्थानों की सूची:-

दिल्ली सरकार की कैबिनेट समिति की बैठक में विभाग के प्रस्तावों के अनुसार 7 नए मार्गों को जोड़ने के अलावा अतिरिक्त राजस्व को भी मंजूरी दी गई है | इन स्वीकृत 7 मार्गों को पहले से मौजूद और कार्यात्मक 5 मार्गों में जोड़ा जाएगा | नागरिकों को अपनी जेब से कोई पैसा खर्च नहीं करना पड़ेगा | इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन किए जा सकते हैं | इस योजना के तहत कवर किए जाने वाले स्थानों की सूची इस प्रकार हैं:-

दिल्ली-रामेश्वरम-मदुरै-दिल्ली8 दिन
दिल्ली-तिरुपति -दिल्ली7 दिन
दिल्ली-द्वारकाधीश-नागेश्वर-दिल्ली6 दिन
दिल्ली-जगन्नाथ पुरी-कोणार्क-भुबनेश्वर-दिल्ली7 दिन
दिल्ली-शिरडी-शनि शिंग्लापुर-दिल्ली5 दिन
दिल्ली-उज्जैन-ओंकारेश्वर-दिल्ली6 दिन
दिल्ली-बोधगया-सारनाथ-दिल्लीNot Decided

राज्य सरकार ने यह भी तय किया है कि मौजूदा अजमेर पुष्कर दौरे में, हल्दीघाटी स्थान को भी जोड़ा जा सकता है | अन्य कार्यात्मक मार्ग दिल्ली-मथुरा-वृंदावन-आगरा-फतेहपुर सीकरी, दिल्ली-हरिद्वार-ऋषिकेश-नीलकंठ, दिल्ली-अमृतसर-वाघा बॉर्डर-आनंदपुर साहिब और दिल्ली-वैश्य देवी-जम्मू हैं |

सभी चयनित उम्मीदवारों को 1 लाख का बीमा कवरेज भी मिलेगा | आवेदकों को यह स्वयं घोषित करना होगा कि उनके द्वारा प्रदान की गई सभी जानकारी सही हैं और उन्होंने पहले इस योजना का लाभ नहीं लिया है | इस योजना के लिए राज्य सरकार प्रति तीर्थयात्री लगभग 7000 रुपये खर्च करेगी |

मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के लिए पात्रता मापदंड:-

  • आवेदक को दिल्ली का स्थायी निवासी (permanent resident) होना चाहिए |
  • आवेदक की आयु 60 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए |
  • सभी चयनित वरिष्ठ नागरिक अपने साथ 18 वर्ष या उससे अधिक आयु के एक सहायक को ले जा सकते हैं | दिल्ली सरकार वरिष्ठ नागरिकों सहित उनके साथ सहायकों की पूरी लागत का वहन करेगी |
  • सरकारी अधिकारी, कर्मचारी और कामगार इस योजना के लाभ नहीं ले सकेंगे |
  • सभी चयनित उम्मीदवारों को स्वयं प्रमाणित करना होगा कि उनके द्वारा दर्ज की गई सभी जानकारी सही हैं |
  • केवल उन्हीं नागरिकों को लाभ मिलेगा जिन्होंने पहले इस योजना का लाभ नहीं लिया हैं |
  • सभी चयनित तीर्थयात्रियों को 1 लाख का बीमा कवर भी मिलेगा |
  • यात्रा के लिए राज्य सरकार वातानुकूलित (AC) बसों का उपयोग करेगी | यहां तक ​​कि भोजन और नाश्ते की व्यवस्था भी राज्य सरकार द्वारा ही की जाएगी |
  • आवेदन पत्र ऑनलाइन जमा किए जाएंगे | आवेदन पत्र विभागीय आयुक्त कार्यालय, संबंधित विधायक कार्यालय या तीर्थयात्रा समिति कार्यालय के द्वारा भी भरे जाएंगे |
  • उम्मीदवारों के चयन के लिए Lottery Draw एकमात्र तकनीक है | संबंधित अधिकारी यह सत्यापित करेंगे कि चयनित लाभार्थी दिल्ली का मूल निवासी हैं या नहीं और उसके द्वारा प्रस्तुत अन्य जानकारी सही है या नहीं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here