मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री कृषक फसल उपार्जन सहायता योजना के बारे में जानें

0
1204
मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री कृषक फसल उपार्जन सहायता योजना
मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री कृषक फसल उपार्जन सहायता योजना

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री कृषक फसल उपार्जन सहायता योजना:-

मध्य प्रदेश सरकार ने किसानों के लिए एक नई मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री कृषक फसल उपार्जन सहायता योजना (MP Mukhyamantri Krishak Fasal Uparjan Sahayata Yojana 2021) शुरू की है | मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि किसानों को उचित मूल्य दिलाने के लिए सरकार ने मुख्यमंत्री कृषक फसल उपार्जन सहायता योजना शुरू की है |

मुख्यमंत्री कृषक फसल उत्थान सहायता योजना के लिए, सरकार ने एमपी राज्य के बजट 2021-22 में 2,000 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं | इस योजना में, राज्य सरकार नागरिक आपूर्ति निगम और मार्कफेड जैसी राज्य खरीद एजेंसियों को वित्तीय सहायता प्रदान करेगी | मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री किसान फसल अधिग्रहण सहायता योजना यह सुनिश्चित करेगी कि किसानों को उनकी फसलों के लिए उचित मूल्य मिले |

मध्य प्रदेश राज्य बजट 2021-22 में मुख्यमंत्री कृषक फसल उत्थान सहायता योजना:-

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा मध्य प्रदेश राज्य बजट 2021-22 में मुख्यमंत्री कृषक फसल उत्थान सहायता योजना के साथ किसानों के कल्याण के लिए निम्नलिखित पहल प्रस्तावित की गई हैं: –

  • किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग के अंतर्गत अटल कृषि ज्योति योजना हेतु 4592 करोड़ रुपये का प्रावधान |
  • मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना (मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना) के लिए 3200 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं |
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएम फसल बीमा योजना) के तहत 2220 करोड़ रुपये का प्रावधान |
  • मुख्यमंत्री किसान फसल अधिग्रहण सहायता योजना (मुख्यमंत्री कृषक फसल उत्थान सहायता योजना) के तहत 2000 करोड़ रुपये का प्रावधान |
  • कृषि पंपों / थ्रेशर 5 एचपी और एक लाइट कनेक्शन को मुफ्त बिजली आपूर्ति के लिए एमपीईबी को प्रतिपूर्ति के लिए 1096 करोड़ रुपये |
  • राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के लिए 370 करोड़ रुपये |
  • राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के लिए 221 करोड़ रुपये का प्रावधान |
  • सहकारी विभाग के अंतर्गत सहकारी बैंकों के माध्यम से किसानों को अल्पकालीन ऋण पर ब्याज अनुदान हेतु 1000 करोड़ रुपये का प्रावधान |
  • राष्ट्रीय कृषि विस्तार परियोजना के लिए 119 करोड़ रुपये का प्रावधान |

कृषि मंत्री ने क्या कहा:-

MP के कृषि मंत्री कमल पटेल का बड़ा बयान सामने आया है | मंत्री का कहना है कि प्रदेश में वर्ष 2021-22 के कृषि बजट 2021-22 में पहली बार किसानों की फसल का उचित दाम दिलाने के लिये मुख्यमंत्री कृषक फसल उपार्जन सहायता योजना प्रारंभ की गई | इस योजना के लिये 2 हजार करोड़ का प्रावधान किया गया है | इस योजना में राज्य की उपार्जन संस्थाओं जैसे नागरिक आपूर्ति निगम तथा मार्कफेड को आवश्यकता अनुसार वित्तीय सहायता दी जायेगी |

म.प्र विधानसभा में किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल ने कहा है कि सरकार ने कृषकों को शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर सहकारी बैंकों के माध्यम से फसल ऋण प्रदान करने की योजना को पुनः प्रारंभ किया है | वर्ष 2021-22 में कृषकों को शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण देने के लिये एक हजार करोड़ रुपये का बजट प्रावधानित किया है |

कमल पटेल ने कहा कि किसानों की आय को दोगुना करने के लिये सरकार दृढ़ संकल्पित है | किसानों को लाभान्वित करने में किसी भी प्रकार का कोई भेदभाव या पक्षपात नहीं किया जायेगा | सरकार ने किसानों को लाभान्वित करने के लिये मुख्यमंत्री फसल उपार्जन योजना को शुरू किया है | साथ ही शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण प्रदान करने के लिये बजट में एक हजार करोड़ का प्रावधान किया है |

कमल पटेल ने बताया कि सरकार ने वर्ष 2021-22 के लिये किये गये बजट प्रावधान में पिछले वर्ष से 4561.39 करोड़ रुपये की वृद्धि की है | सरकार ने कृषि बजट में किसान कल्याण तथा कृषि विकास के लिये कुल 15,191,05,00,000 का बजट पारित किया गया है, जिसके अंतर्गत किसान कल्याण तथा कृषि विकास के लिये राशि 14,940,78,64,000 रुपये और कृषि अनुसंधान एवं शिक्षा के लिये राशि 164,42,21,000 रुपये प्रावधानित है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here